ताज़ा खबर
 

स्किन इन्फेक्शन से लेकर दर्द का रामबाण इलाज है कपूर, जानिए फायदे और कैसे करें इस्तेमाल

कपूर के तेल को त्वचा पर लगाने से फोड़े-फुंसी और मुंहासे ठीक होने लगते हैं। इससे न केवल मुंहासों में कमी आती है, बल्कि यह त्वचा पर मुंहासों के पुराने दाग-धब्बों को भी जड़ से समाप्त कर देता है।

Author May 26, 2019 6:42 AM
अवसाद या तनाव होने पर सिर पर कपूर के तेल की मालिश करना लाभदायक होता है।

गरमी का मौसम अनेक तरह की परेशानियां साथ लेकर आता है। इस मौसम में बारिश होती है, तो तरह-तरह के कीट-पतंगे, खासकर मच्छर पैदा हो जाते हैं। गरमी और पसीने की नमी की वजह से त्वचा संबंधी कई परेशानियां हो जाती हैं। ऐसी समस्याओं से पार पाने के लिए आमतौर पर लोग दवाओं का उपयोग करते हैं। पर अगर परंपरा से चली आ रही कुछ चीजों और नुस्खों का उपयोग करें, तो इन परेशानियों से न सिर्फ बचा जा सकता है, बल्कि अंग्रेजी दवाओं से होने वाले दुष्प्रभावों से भी दूर रहा जा सकता है। त्वचा संबंधी समस्याओं और कीट-पतंगों की बढ़वार से पार पाने में सहायक है ऐसा ही एक प्राकृतिक उत्पाद, जिसका नाम है कपूर। कपूर का उपयोग रोजमर्रा की अनेक जरूरतों में किया जाता है। इसे नियमित घर में जलाएं, तो मच्छर-मक्खी, कीट-पतंगों को भगाया जा सकता है। सांस संबंधी परेशानियों से दूर रहा जा सकता है।

कपूर का इस्तेमाल पूजा और सौंदर्य प्रसाधन में खुशबू के लिए किया जाता है। कपूर को संस्कृत में कर्पूर, फारसी में काफूर और अंग्रेजी में कैंफर कहते हैं। यह सिनामोमम कैंफर पेड़ की छाल से प्राप्त किया जाता है। कपूर एक दहनशील, पारभासी सफेद ठोस है जिसमें एक तीखी गंध और खट्टा स्वाद होता है, जो पूरे वातावरण को ताजा कर देता है। कूपर में एंटीबैक्टिरीयल, एंटीफंगल और एंटी-इन्फलैमटरी जैसे अनेक औषधीय गुण मौजूद होते है। इसी कारण इसका इस्तेमाल विभिन्न घरेलू उपचारों जैसे कि चोट लग जाने पर, खाज और खुजली में किया जाता है। यह हमारी त्वचा, बाल और स्वास्थ्य के लिए गुणकारी होता है। इसका उपयोग श्वसन क्रिया में सुधार और दर्द से राहत के लिए किया जाता है। यही नहीं यह हमारी अलमारी से तिलचट्टे, पतंगे और अन्य कीड़े को दूर रखने का भी काम करता है।

दर्द का रामबाण इलाज

चोट से लेकर दर्द में राहत
अक्सर हम सभी छोटी-मोटी चोट, कमर, गर्दन एवं पीठ दर्द और सूजन हो जाने पर बाम या फिर पेन स्प्रे का इस्तेमाल करते हैं, जिससे कुछ समय बाद ही दर्द और सूजन से राहत मिल जाती है। दरअसल कपूर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण मांसपेशीय के तनाव को दूर करने में मदद करता है। वहीं कई अध्ययन से यह स्पष्ट हो चुका है कि स्प्रे में कपूर होता है, जो हल्के से मध्यम दर्द से तुरंत राहत दिलाने में प्रभावी होता हैं। चोट या सूजन वाली जगह पर कपूर उत्पादों का उपयोग करने पर झुनझुनी, गर्मी व ठंडक महसूस होती है।

ऐंठन में आए काम
कपूर में एंटीस्पास्मोडिक और रिलैक्सेंट गुण होते हैं, जो मांसपेशी की ऐंठन को कम करता है। ऐंठन वाली जगह पर हल्के हाथ से मालिश करने से मांसपेशियों की ऐंठन और कठोरता में कमी आती है जिससे आराम मिलता है। यह वास्तव में एक कुशल दर्द रोधक होता।

गठिया का दर्द हो कम
गठिया के कारण दर्द, सूजन और सूजन से राहत देने के लिए कपूर से बने उत्पादों का इस्तेमाल करने से गठिया में राहत मिलती है।

दिमाग को रखे शांत
नींद न आना आजकल की आम समस्याओं में से एक है। कपूर के तेल की खूशबू दिमाग को शांत रखने और बेहतर नींद लाने में असरदार है। इसके लिए कपूर के तेल की कुछ बूंदों को अपने तकिए पर लगाएं और आराम की नींद सोएं।

खाज-खुजली से दिलाए छुटकारा
खाज की वजह से त्वचा लाल पड़ जाती है। इससे निपटने के लिए कपूर के तेल को पानी में मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाएं।

घरेलू उपचार

’ कपूर के तेल को त्वचा पर लगाने से फोड़े-फुंसी और मुंहासे ठीक होने लगते हैं। इससे न केवल मुंहासों में कमी आती है, बल्कि यह त्वचा पर मुंहासों के पुराने दाग-धब्बों को भी जड़ से समाप्त कर देता है।
’ कपूर का तेल बालों में लगाने से बाल जल्दी-जल्दी बढ़ने लगते हैं, मजबूत होते हैं और उनका झड़ना भी रुक जाता है। इसके लिए कपूर का तेल दही में मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं और आधे से एक घंटे बाद बाल धो लें।
’ त्वचा में यदि कोई जले या कटे का निशान हो तब भी कपूर का तेल उस हिस्से पर लगाने से निशान हल्के होते चले जाते हैं।
’ अवसाद या तनाव होने पर सिर पर कपूर के तेल की मालिश करना लाभदायक होता है।
’ बालों का झड़ना हो या फिर डैंड्रफ की समस्या, कपूर का तेल इन सबमें असरदार है। इसके लिए कपूर को पीस कर नारियल के तेल के साथ मिलाकर मालिश करने से बाल स्वस्थ रहते हैं।
’ सर्दी जुकाम और फेफड़े संबंधी रोगों में कपूर सूंघने से फायदा होता है। विक्स, बाम जैसे कई उत्पादों को बनाने में कपूर का प्रयोग किया जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X