ताज़ा खबर
 

कोरोना संकट के बीच सेहत की देखभाल, सताए खांसी न डराए जुकाम

गर्मी और तेज धूप से सीधा कूलर या एसी में जाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) कम हो जाती है और लोग अक्सर सर्दी-जुकाम, खांसी जैसी बीमारियों का शिकार हो जाते हैं।

jansatta health storyकोरोना महामारी के दौरान खुद की सुरक्षा के लिए जरूरी है कि हिदायतों का हम पूरा पालन करें।

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण जिस तरह हर तरफ मातमी सन्नाटा पसरा है, उसमें सबके लिए अपनी सेहत की अतिरिक्त देखभाल जरूरी हो गई है। ऐसे में थोड़ी भी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है। गर्मी में अक्सर फ्रिज का पानी पीने और एसी, कूलर में रहने से लोगों को राहत तो मिलती है, लेकिन इससे काफी नुकसान भी होता है। गर्मी और तेज धूप से सीधा कूलर या एसी में जाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) कम हो जाती है और लोग अक्सर सर्दी-जुकाम, खांसी जैसी बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। इस मौमस में खुद की हिफाजत के लिए आप चाहें तो कुछ परंपरागत घरेलू नुस्खे आजमा कर सर्दी-जुकाम जैसी समस्या से काफी हद तक निजात पा सकते हैं। यह बचाव इसलिए भी जरूरी है क्योंकि कोरोना का संक्रमण नाक, गले और फेफड़े को ही सर्वाधिक प्रभावित करता है।

गरमागरम नुस्खा
गर्म पानी या फिर गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से सर्दी-जुकाम में तेजी से फायदा होता है। यह नुस्खा न सिर्फ बच्चों बल्कि बड़ों के लिए भी कारगर साबित होता है। हल्दी एंटी वायरल और एंटी बैक्टेरियल होता है, जो सर्दी-जुकाम से लड़ने में काफी मददगार होता है। अदरख के यूं तो कई फायदे हैं लेकिन अदरख की चाय सर्दी-जुकाम में भारी राहत प्रदान करती है। सर्दी-जुकाम या फिर फ्लू के लक्षण में ताजा अदरख को बिल्कुल बारीक काट लें और उसमें एक कप गरम पानी या दूध मिलाएं। उसे कुछ देर तक उबलने के बाद पिएं। यह नुस्खा आपको सर्दी-जुकाम से राहत पाने में तेजी से मदद करता है।

नींबू, शहद और लहसुन
नींबू और शहद के इस्तेमाल से भी सर्दी और जुकाम में काफी फायदा होता है। एक गिलास पानी में दो चम्मच शहद और एक चम्मच नींबू का रस, एक गिलास गुनगुने पानी या गर्म दूध में शहद मिलाकर पीने से इसमें काफी लाभ होता है। इस मौसम में लहसुन का सेवन भी फायदेमंद रहता है। लहसुन में एलिसिन नामक एक रसायन होता है, जो एंटी बैक्टेरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल होता है। लहसुन की पांच कलियों को घी में भुनकर खाएं। ऐसा एक-दो बार करने से जुकाम में काफी आराम मिलेगा।

जुकाम में रामबाण
तुलसी और अदरख को सर्दी-जुकाम के लिए रामबाण माना जाता है। इसके सेवन से इसमें तत्काल राहत मिलती है। एक कप गर्म पानी में तुलसी की पांच-सात पत्तियां लें। उसमें अदरख के एक टुकड़े को भी डाल दें। उसे कुछ देर तक उबलने दें और उसका काढ़ा बना लें। जब पानी बिल्कुल आधा रह जाए तो इसे आप धीरे-धीरे पिएं। यह काफी फायदेमंद साबित होगा।

जरूरी हिदायत
– गर्मी के मौसम में हमें लगता है कि अधिक ठंडी चीज खाने से शरीर को ठंडक पहुंचेगी लेकिन ठंडक कुछ समय की होती है। बाद में इससे कई तरह की सेहत की परेशानियां शुरू होती हैं। इसलिए इस मौसम में बाजार के शीतल पेय, फ्रिज का पानी और आइसक्रीम आदि का सेवन न ही करें तो अच्छा रहेगा।
– सर्दी-जुकाम होने की सबसे बड़ी वजह है असमय नहाना। दरअसल, इस मौसम में वातावरण हर समय बदलता रहता है और असमय नहाने से आपको सर्दी-जुकाम हो सकता है।
– जब आप गर्मी के मौसम में बाहर से आते है तो आपको काफी प्यास लगती है। आप घर आते ही फ्रिज में रखी एक बोतलभर का पानी पी जाते हैं। यह अच्छी आदत नहीं है। इस मौसम में कहीं बाहर से आएं तो थोडा रुकें और फिर पानी पिएं। ऐसा न करने पर आप गंभीर रूप से बीमार पड़ सकते हैं।
– गर्मी बढ़ते ही एसी का इस्तेमाल शुरू हो जाता है। एसी को कभी भी बहुत कम तापमान पर नहीं चलाना चाहिए। ऐसा न करने पर एसी के कमरे के बाहर के तापमान से हमारा शरीर तालमेल नहीं बैठा पाता है और जैसे ही हम करे से बाहर निकलते हैं सर्दी-जुकाम की चपेट में आ जाते हैं। इसीलिए हमेशा एसी या कूलर को सामान्य रखें। आप इससे स्वस्थ रहेंगे।

(यह लेख सिर्फ सामान्य जानकारी और जागरूकता के लिए है। उपचार या स्वास्थ्य संबंधी सलाह के लिए विशेषज्ञ की मदद लें। )

Next Stories
1 तर्क, मत और सत्य
2 एक प्रतिबद्ध फिल्मकार सत्यजित राय
3 रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी आदत अच्छी तो सेहत अच्छी
यह पढ़ा क्या?
X