ताज़ा खबर
 

दाना-पानी: सर्दी में मीठे पकवान

रविवारी दाना-पानी स्पेशल

Author November 11, 2018 4:03 AM
प्रतीकात्मक फोटो

मानस मनोहर

दिवाली के पकवान आपने बनाए और खाए। अब छठ का पर्व आने वाला है। छठ पर ठेकुआ खासतौर से बनता है। यही मुख्य प्रसाद के तौर पर बांटा जाता है। इसके अलावा घर में नाश्ते आदि के तौर पर भी ठेकुआ खाया जाता है। इसी तरह जाड़े में गुड़ के व्यंजन न सिर्फ स्वाद, बल्कि सेहत की दृष्टि से भी उपयुक्त होते हैं। इस बार यही दोनों व्यंजन।

ठेकुआ
छठ पर्व पर प्रसाद के रूप में प्रयोग किया जाने वाला ठेकुआ बिहार, पूर्वांचल और नेपाल का लोकप्रिय व्यंजन है। छठ का त्योहार आने से पहले आस-पड़ोस में हलचल शुरू हो जाती है। ठेकुआ स्वाद में मीठा होता है, इसलिए बच्चे इसे अधिक पसंद करते हैं। दरअसल ठेकुआ बनाने में अधिक मेहनत और समय लगता है। इसलिए घरों में यह मिष्ठान हर रोज नहीं बनाया जा सकता। यही कारण है कि ठेकुआ का इंतजार बच्चों और बड़ों सभी को रहता है। ठेकुआ को लंबे सफर में भी आराम से ले जाया जा सकता है। यह बिस्कुट की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं, ठेकुआ बनाने का तरीका।

विधि
ठेकुआ बनाने के लिए सबसे पहले एक बर्तन में पानी उबाल लें। फिर उसमें गुड़ तोड़ कर डालें और जब तक गुड़ पूरी तरह पिघले नहीं, तब तक उसे हिलाते रहिए, उसके बाद छलनी से छान लें। अब यह गुड़ का पानी ठेकुआ का आटा तैयार करने के लिए तैयार है।

ठेकुआ का आटा तैयार करने के लिए उसमें नारियल का बूरा, पिसी इलायची और जो भी मेवा आप खाना पसंद करते हैं उसे बारीक काट कर आटे में मिला लें। आटे में घी मिला कर उसे मुलायम कर लें। इसके बाद अब आपने जो गुड़ का पानी तैयार किया है उसके ठंडा हो जाने पर उससे आटे को गूथें। ध्यान रखें कि आटा कड़ा गूथा जाए। अब आपका आटा तैयार है। इस आटे की छोटी-छोटी लोई बना कर हथेली से बिस्किट की तरह आकार दें। अगर आपको किसी विशेष प्रकार का आकार चाहिए तो उस तरह के सांचे का प्रयोग करें और उसमें आटे की लोई को डाल कर आकार दें। आप चाहें तो ठेकुआ को अपने मनचाहे आकार में बेल सकती हैं। अब आपके ठेकुआ तलने के लिए तैयार हैं।
इन्हें तलने के लिए कढ़ाई में शुद्ध घी या रिफाइंड तेल गरम कर लें। हल्की आंच पर इन्हें तलें। तले हुए ठेकुए को प्लेट में निकाल कर ठंडा कर लें। अब आपका स्वादिष्ट ठेकुआ तैयार है।

गुड़ के चावल
र्दी के मौसम में गुड़ सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। चूंकि गुड़ की तासीर गरम होती है, इसलिए यह आपके शरीर को इस मौसम में गर्म रखता है। आप चाहें तो गुड़ को यों ही रोटी, परांठे वगैरह के साथ खा सकते हैं और चाहें तो इससे कोई अन्य पकवान बना सकते हैं। इस त्योहारी मौसम में हम आज बना रहें हैं गुड़ के चावल। गुड़ के चावल खाने में बड़े लजीज होते हैं। अगर आपने अभी तक इस पकवान का स्वाद नहीं चखा है, तो देर मत कीजिए और आज ही बनाइए इस आसान रेसिपी को। गुड़ के चावल पौष्टिक होते हैं और बनाने में आसान। इन्हें बनाने के लिए आपके घर में जितने सदस्य हों उनके अनुसार चावल को पानी में एक से दो घंटे के लिए भिगो कर रख दीजिए। जब तक चावल पानी में भीगेगा, तब तक आप गुड़ को दूसरे बर्तन में भिगो कर रख दीजिए। इससे गुड़ का कड़ापन खत्म होता और वह पानी में घुलने लगेगा।

गुड़ और चावल के भीगने तक आप काजू, बादाम, पिस्ता, किशमिश आदि जैसे मेवे काट लें। इसके बाद प्रेशर कुकर में थोड़ा देसी घी डाल कर इन मेवों को हल्का भून लें। फिर जो चावल आपने भिगोया है, उसे निकाल कर मेवों के साथ मिला दें। अब इन चावलों के साथ ही जो गुड़ आपने भिगोया था उसे छान कर उसका पानी मिला दीजिए। प्रेशर कुकर को बंद करके एक सीटी आने पर गैस बंद कर दीजिए। आप चाहें तो चावल बनने के बाद उनमें इलायची पाउडर मिलाएं या जब आप मेवे भून रहे हैं तब भी उसमें इलायची मिला सकते हैं। लीजिए आपके गुड़ के चावल तैयार हैं। इन्हें गरमागरम परोसिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App