ताज़ा खबर
 

दाना-पानी: गरमा गरम तरल

सर्दी का मौसम खाने-पीने के लिहाज से बहुत अच्छा होता है। इसमें मसालेदार और गरम चीजें खाना सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। इसलिए इस मौसम में गरमा-गरम सूप, रसम वगैरह जैसी चीजें न सिर्फ खाने में स्वादिष्ट और सुपाच्य होती हैं, बल्कि सेहत की दृष्टि से भी फायदेमंद होती हैं। ये शरीर को गरम रखती हैं। तो, इस बार कुछ ऐसे ही व्यंजन।

Author November 25, 2018 3:51 AM
प्रतीकात्मक फोटो

मानस मनोहर

रसम
रसम एक प्रकार का दक्षिण भारतीय सूप है। यह थोड़ा तीखा होता है, पर इस मौसम में यह सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। अगर आपको सर्दी-जुकाम ने जकड़ रखा है, तो रात को गरमागरम रसम पीएं, काफी आराम मिलेगा। गले और छाती की जकड़न दूर होगी।

रसम बनाना बहुत आसान है। इसमें पड़ने वाला मसाला खास होता है, जो बाजार में सहज उपलब्ध होता है। पर इसे चाहें तो घर में भी आसानी से बना सकते हैं। इसका मसाला बनाने के लिए तवा गरम करें, उस पर करीब सौ ग्राम अरहर की दाल, इतनी ही मात्रा में चने और मूंग की दाल डाल कर भूनें। जब दालें आधी भुन जाएं तो उसमें करीब दस से पंद्रह ग्राम यानी दस-पंद्रह साबुत लाल मिर्चें, दस ग्राम साबुत काली मिर्चें, इतनी ही मात्रा में साबुत धनिया और जीरा डालें। दालों को सुनहरा होने तक मसालों समेत भूनें। फिर इन्हें ठंडा होने के लिए रख दें। ठंडा होने पर इन्हें ग्राइंडर में पीस लें। इस मसाले को डिब्बे में बंद करके रख दें। जब भी रसम बनाना हो, इस मसाले का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर कभी इडली या डोसा खाना हो, तो इस मसाले में थोड़ा-सा खाने का तेल डाल कर चटनी के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

विधि
अब रसम बनाने के लिए प्रति व्यक्ति के हिसाब से डेढ़ चम्मच अरहर की दाल भिगो दें। एक कुकर में पानी डालें और उसमें दाल और प्रति व्यक्ति के हिसाब से एक मध्यम आकार का टमाटर काट कर डालें और ढक्कन बंद करके तीन-चार सीटी आने तक उबाल लें। जब यह ठंडा हो जाए तो मिक्सर में पानी समेत पीस कर मोटी छन्नी से छान लें। इस तरह टमाटर का छिलका और बीज निकल जाएंगे।
अब अपने स्वाद के अनुसार इमली लें, उसे गरम पानी में भिगो कर थोड़ी देर के लिए रख दें। फिर उसे मल कर उसका गूदा निकाल लें। इसे छान कर अलग कटोरी में रख लें।
एक कड़ाही में थोड़ा-सा खाने का तेल गरम करें। उसमें, तीन-चार साबुत लाल मिर्चें, जीरा, राई, हींग पाउडर और कढ़ी पत्ते का तड़का लगाएं। तड़का तैयार होते ही उसमें लहसुन और अदरक कूट कर डालें। दो मिनट बाद इमली का गूदा डाल कर पकाएं और साथ ही प्रति व्यक्ति डेढ़ चम्मच पिसा हुआ रसम पाउडर डाल कर दो मिनट के लिए पकने दें। फिर पिसा हुआ दाल और टमाटर का घोल डाल दें। इसमें नमक डालें, चाहें तो मामूली-सा गुड़ भी डाल सकते हैं। इसमें भरपूर पानी डालें और अच्छी तरह उबलने दें।
गरमा-गरम पीने के लिए परोसें। अगर रात को आप भोजन नहीं करना चाहते, तो पापड़ के साथ दो गिलास रसम पी लें, इसमें भरपूर प्रोटीन है। यह सर्दी के मौसम में शरीर को उचित गरमी और पोषण देता है।

हराभरा शोरबा
र्दी के मौसम में सूप पीने का मजा ही अलग होता है। पर आजकल जब भी सूप पीना होता है, लोग बाजार से पैकेट वाला सूप खरीद लाते हैं। इसका स्वाद सदा एक जैसा होता है, इसलिए बार-बार पीने का मन नहीं होता। ऐसे में अगर घर में सब्जियों का शोरबा बनाएं और पूरी सर्दी पीएं, तो अलग-अलग प्रयोग कर सकते हैं। हर बार एक अलग स्वाद मिलेगा।
सब्जियों का शोरबा यानी सूप बनाना बहुत ही आसान है। इस मौसम में सब्जियां खूब मिलती हैं। इस समय जो भी हरी सब्जियां उपलब्ध हों, उनसे शोरबा तैयार कर सकते हैं।
इसके लिए मटर के दाने, गाजर, बीन्स, पत्ता गोभी, फूल गोभी, चुकंदर आदि को साफ कर के छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें। एक कुकर में थोड़ा-सा पानी डालें और सारी सब्जियां उसमें डाल कर आधा चम्मच नमक डाल कर दो सीटी आने तक उबाल लें। ठंडा होने पर इन्हें मिक्सर में पीस कर मोटी छन्नी से छान लें।

एक कटोरी में एक से डेढ़ चम्मच मक्के का आटा यानी कार्न-फ्लोर पानी के साथ अच्छी तरह घोल लें। एक कड़ाही में एक चम्मच तेल गरम करें। उसमें जीरा, राई और कढ़ी पत्ते का तड़का लगाएं। अगर चाहें तो लहसुन और अदरक भी कूट कर डाल सकते हैं। फिर पिसी हुई सब्जियां डालें। इसमें नमक, लाल मिर्च और काली मिर्च का पाउडर डालें और साथ ही कार्नफ्लोर का घोल डाल कर उबलने तक पकाएं। सब्जियों का शोरबा बहुत पतला न करें। इसे चाहें तो गरमा-गरम सूप की तरह पी सकते हैं। वैसे इसमें ब्रेड डुबो कर खाएं, तो स्वाद बहुत अच्छा आता है। इस तरह रात के भोजन की जरूरत भी पूरी हो जाती है। यह बहुत ही स्वादिष्ट और सुपाच्य भोजन है। चाहें तो पूरी सर्दी रात के भोजन के तौर पर सब्जियों का शोरबा खाएं, पेट दुरुस्त रहेगा। ल्ल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X