ताज़ा खबर
 

दाना-पानी: कच्चे नारियल का जायका

खाने में कच्चे नारियल का उपयोग मुख्य रूप से दक्षिण भारत के व्यंजनों में किया जाता है। मगर अपने भोजन में बदलाव लाने के लिए इसे आप भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Author July 29, 2018 7:03 AM
नारियल से बनने वाले कुछ व्यंजन।

खाने में कच्चे नारियल का उपयोग मुख्य रूप से दक्षिण भारत के व्यंजनों में किया जाता है। मगर अपने भोजन में बदलाव लाने के लिए इसे आप भी इस्तेमाल कर सकते हैं। कच्चा नारियल एक ऐसा फल है, जिसका उपयोग सब्जी, चावल और मीठा बनाने में भी कर सकते हैं। इस तरह इससे कई व्यंजन बनाए जा सकते हैं। इसके उपयोग से आप अपने जायके में बदलाव कर सकते हैं, रोजमर्रा के भोजन में विविधता ला सकते हैं। इस बार कच्चे नारियल से बनने वाले कुछ व्यंजन।

सब्जी वाला नारियल-चावल

आप पुलाव, तहरी, खिचड़ी, फ्राइड राइस तो अक्सर खाते हैं, कभी कच्चे नारियल और हरी सब्जियों के साथ चावल पका कर खाएं और देखें कि क्या आनंद आता है। छुट्टी वाले दिन या कभी मेहमान आएं तो इसे बनाएं, यह कुछ अलग व्यंजन होगा। सब्जी वाला नारियल-चावल बनाने के लिए कच्चे नारियल और थोड़ी बीन्स, गाजर, मटर जैसी हरी सब्जियों की जरूरत पड़ती है।

विधि

चावल को अच्छी तरह धोकर करीब आधे घंटे के लिए भिगो कर रखें।

अब मिक्सर में कच्चे नारियल को पानी के साथ बारीक पीस लें। ध्यान रखें कि वह ज्यादा दरदरा न हो।

एक कड़ाही में एक चम्मच देसी घी गरम करें। उसमें पहले राई और जीरे का तड़का दें। तड़का बादामी होने लगे, तो उसमें दालचीनी के एक-दो टुकड़े, एक-दो सूखी लाल मिर्च तोड़ कर और कुछ कढ़ी के पत्ते डाल कर तड़का लें। तड़का तैयार हो जाए तो उसमें नारियल का दूध यानी पिसा हुआ पानी समेत कच्चा नारियल डाल दें। उसी में चावल भी डालें। चावल को पकने के लिए जितने पानी की जरूरत हो, उतना ही पानी रखें। ऊपर से नमक, लाल मिर्च पाउडर और थोड़ा-सा धनिया पाउडर डाल कर सबको ठीक से मिला लें। कड़ाही को ढक दें। आंच धीमी रखें।

अब बीन्स और गाजर को छोटे टुकड़ों में काट लें। जब चावल में उबाल आने लगे, तो इन हरी सब्जियों को उसमें डाल दें और एक बार कलछी से चला कर फिर से ढक दें।

चावल पक जाएं, तो आंच बंद कर दें। ऊपर से कटा हुआ हरा धनिया पत्ता डाल कर खाने के लिए परोसें। इस नारियल-चावल को रायते और हरी चटनी के साथ खाने पर आनंद आएगा।

नारियल फ्राइड राइस

पके पास पहले से पके हुए चावल हैं, तो उन्हें कच्चे नारियल के साथ फ्राई करके खा सकते हैं। इसका स्वाद सब्जी वाले नारियल-चावल से बिल्कुल अलग होगा।

विधि

नारियल फ्राइड राइस बनाने के लिए कच्चे नारियल को कद्दूकस कर लें। इसके अलावा थोड़ी कच्ची मूंगफली, एक चम्मच बिना छिलके वाली मूंग की दाल और भुने हुए चने की दाल भी ले लें।

अगर आप फ्राइड राइस को खट्टा बनाना चाहते हैं, तो इमली के गूदे को भिगो कर उसका रस निकाल लें या नीबू का रस निकाल कर रख लें।

चावल में डालने के लिए कटी हुई बीन्स, गाजर और हरी मटर भी ले लें। चाहें तो इसके साथ प्याज भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए पतले और लंबे आकार में प्याज को काटें।

अब एक कड़ाही में दो चम्मच देसी घी गरम करें। उसमें राई, जीरा, दालचीनी और सूखी लाल मिर्च का तड़का लगाएं। जब तड़का बादामी रंग का हो जाए तो उसमें मूंगफली, मूंग की दाल और सबसे आखिर में भुने चने की दाल डालें। इसी के साथ आठ-दस कढ़ी पत्ते भी डाल दें। जब तड़का तैयार हो जाए, तो उसमें सब्जियां डाल कर चलाएं और ऊपर से घिसा हुआ नारियल डाल दें। जब सब्जियों में से भाप उठने लगे, तो पके हुए चावल डालें और ऊपर से जरूरत भर का नमक, धनिया पाउडर और लाल मिर्च पाउडर डाल कर चलाते हुए पकाएं। चावलों को सावधानी से चलाएं, ताकि वे टूटे नहीं। जब भाप उठने लगे और लगे कि सब्जियां आधी से अधिक पक गई हैं, तो आंच बंद कर दें और ऊपर से इमली का पानी या नीबू का रस डाल कर सावधानी से मिला लें। कुछ देर ढक कर रखें।

फ्राइड नारियल चावल तैयार हैं। इन्हें कटे हुए धनिया पत्ते से सजाएं और रायता तथा हरी चटनी के साथ खाने के लिए परोसें।

कच्चे नारियल की खीर

च्चे नारियल की खीर दक्षिण भारत में काफी मशहूर है। यह दो तरीके से पकाई जाती है। एक तो चावल को कच्चे नारियल के दूध और गुड़ के रस में पका कर तैयार की जाती है, जिसे पायसम कहते हैं। पर हम बिना चावल की, सिर्फ नारियल की खीर बनाएंगे।

विधि

एक लीटर दूध गरम करें। इतने दूध के लिए नारियल का आधा गोला काफी होगा। नारियल को घिस लें।

दूध में उबाल आने लगे तो उसमें घिसा हुआ नारियल डालें और चलाते हुए पकाएं। जब दूध आधा रह जाए, तो उसमें जरूरत भर की चीनी डालें और ऊपर से आधा चम्मच इलाइची पाउडर भी मिला दें। एक उबाल आने के बाद आंच बंद कर दें।

अब इसमें काजू, बादाम और किशमिश डाल कर रख दें।

इस खीर को गरमागरम या ठंडा, जैसा पसंद हो, खाएं। यह खीर लाजवाब होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App