ताज़ा खबर
 

नन्ही दुनिया – गीत : गरमी रानी

धूप हो गई तेज-गरम, मौसम में फिर नई कहानी, आई-आई हंसती आई, प्यारी-प्यारी गरमी रानी।

Author Updated: April 17, 2016 4:25 PM
गीत : गरमी रानी

धूप हो गई तेज-गरम

मौसम में फिर नई कहानी,
आई-आई हंसती आई
प्यारी-प्यारी गरमी रानी।
आम और लीची की थैली
गरमी रानी ले आई,
और एक बोरी में भरकर
तरबूजें-ककड़ी लाई।
नई किताबें, नई पढ़ाई
साथ में लाई गरमी रानी,
और हमें पीने को देती
ठंढा-ठंढा मीठा पानी।
तुम जो आई गरमी रानी
छुट्टी भी फिर मिलनेवाली,
झूम-झूमकर हम सब बच्चे
खूब बजाएंगे ताली।

आई गरमी आई

गरमी रानी आई चढ़ कर
सबके माथे-बदन पसीना,
हांफ रहे सब गरम हवा में
धू-धू लू में मुश्किल जीना।
गरमी से लड़ने को घर में
ऑन हो गया पंखा-कूलर,
ठंढी-ठंढी हवा को पाने
भाग रहे सब इधर-उधर।
सजी किनारें सड़कों पर फिर
शरबत-लस्सी की दूकानें,
गन्ना रस है सबको भाता
नींबू-पानी को भी मानें।
कुल्फी-बरफ ही लगते अच्छे
ये सब गरमी की सौगातें,
खा कर हम सब गरमी भूलें
मिलकर हैं फिर हंसते-गाते।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories