ताज़ा खबर
 

दाना-पानी: बच्चों के मन का खाना

खाने-पीने के मामले में बच्चे काफीे नखरीले होते हैं। खासकर उन्हें हरी सब्जियां खिलाना बहुत कठिन होता है। उन्हें कुछ चटपटा और हर वक्त नया चाहिए होता है। उन्हें बाजार के भोजन का कुछ ऐसा स्वाद लग गया है कि घर का भोजन देखते ही अरुचि पैदा होने लगती है। इस तरह उन्हें उचित पोषण उपलब्ध कराने की स्वाभाविक चिंता पैदा होती है। तो, क्यों न घर में ही पोषण से भरपूर कुछ ऐसा बनाएं, जो बाजार जैसा भी हो और वे बिना नाक-भौं सिकोड़े खा लें।

बच्चों के मन का खाना रोटी रोल और चावल की टिक्की।

मानस मनोहर

रोटी रोल
बाजार में तरह-तरह के रोल बिकते हैं, जो रोटी या परांठे में सब्जियां, अंडा, चिकन-मटन वगैरह लपेट कर बनते हैं। बच्चों को ये बहुत पसंद आते हैं। इन्हें घर में बनाना बहुत आसान है। बस सब्जियों को रोटी में लपेटें और सॉस, चीज वगैरह के साथ उन्हें गरमागरम परोस दें। देखें, वे कैसे चाव से खाते हैं।

कई बार भोजन को बनाने से अधिक उसे परोसने का तरीका आकर्षक बना देता है। अगर भोजन को कलात्मक ढंग से परोसा जाए, तो खाने वाले की देख कर ही भूख कुछ बढ़ जाती है। रोटी रोल भी कोई अलग, विशेष व्यंजन नहीं, बस परोसने का अलग तरीका है।

वहीं सब्जियां और रोटी अगर बच्चों को पारंपरिक ढंग से अलग-अलग परोसें, तो उसे देख कर नाक-भौं सिकोड़ते हैं। देखते ही उनकी भूख मर जाती है। पर उन्हें रोल बना कर आकर्षक ढंग से परोस दें, तो वे भूख कम भी हो तो खाने को टूट पड़ते हैं।

रोटी रोल बनाने के लिए एक कटोरी हरी सब्जियां लें। आसानी के लिए इसमें मिक्स फ्रोजन सब्जियों का उपयोग कर सकते हैं। ताजा सब्जियां लें तो और अच्छा। छोटा-छोटा काट कर गाजर, शिमला मिर्च, गोभी, बीन्स, हरी मटर लें। इनके अलावा भी अपनी पसंद की कुछ हरी सब्जियां ले सकते हैं।

लंबा-लंबा कटा आधा कटोरी प्याज और आधा कटोरी पनीर के छोटे कटे टुकड़े और इतनी ही मोजरेला चीज घिस कर अलग रख लें। पनीर और चीज बच्चों को पसंद आता है, इसलिए इन्हें डालें, तो वे और मन से खाएंगे। इसमें डालने के लिए डेढ़ से दो चम्मच अदरक-लहसुन का पेस्ट या इन्हें कूट कर रख लें। फिर रोटी के लिए आटा गूंथ कर तैयार रखें।

कड़ाही में दो चम्मच तेल गरम करें। उसमें राई और जीरे का तड़का दें। आंच तेज रखें। पहले प्याज को डालें और चलाते हुए एक मिनट के लिए पकाएं। फिर अदरक-लहसुन का पेस्ट और सब्जियों को डालें। जरूरत भर का नमक डालें और चलाते हुए दो मिनट के लिए पकाएं।

अब पनीर के टुकड़े डालें और ऊपर से लाल मिर्च पाउडर, सब्जी मसाला डालें। अच्छी तरह मिलाएं। सब्जियां आधा पक जाएं तो उसमें चार-पांच चम्मच टोमैटो सॉस डालें और चलाते हुए एक मिनट के लिए पकाएं। आंच बंद कर दें। कड़ाही पर ढक्कन लगा दें और उसे अलग रख दें।

अब तवा गरम करें। आटे में से छोटे-छोटे पेड़े लेकर पतली रोटियां बेलें। तवे पर थोड़ा घी लगा कर चिकना करें। आंच मध्यम कर दें। रोटी डालें और एक तरफ से हल्का सिंकने के बाद उसे पलट दें। उसके बीच में पकी हुई सब्जियां रखें, ऊपर से घिसा हुआ मोजरेला चीज और थोड़ा चाट मसाला या मैगी मसाला बुरकें। अगर आरेगेनो या कोई और सूखा औषधीय मसाला है, तो वह भी डाल सकते हैं।

जब रोटी का नीचे का हिस्सा सिंक जाए तो उसे एक तरफ से लपेटते हुए रोल बनाएं। गरमागरम परोसें। यह रोल बच्चों को टिफिन में भी दे सकते हैं। शाम को बच्चे खेल कर लौटते हैं, तो उन्हें तेज भूख लगी होती है, उस समय भी नाश्ते के तौर पर दे सकते हैं।

चावल की टिक्की
टिक्की बच्चों को बहुत पसंद आती है। इस तरह टिक्की में हरी सब्जियां डालने का अच्छा बहाना भी होता है। चावल की टिक्की बनाना बहुत आसान है। घर में पके हुए चावल बच जाएं तो इस तरह उनका बहुत अच्छा उपयोग भी हो जाता है।

यह टिक्की बनाने के लिए एक कटोरी उबला हुआ चावल, आधा कटोरी बेसन, एक कटोरी मिक्स सब्जी यानी बारीक कटा बीन्स, गाजर, गोभी और मटर के दाने लें। चौथाई कटोरी बारीक कटा प्याज और आधा कटोरी हरा धनिया भी ले लें। सारी चीजों को एक साथ मिलाएं। इसमें जरूरत भर का नमक, थोड़ा लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर और बारीक कटा अदरक और हरी मिर्च डालें।

चौथाई कटोरी घिसा हुआ पनीर डाल दें, तो और अच्छा। चाहें तो कुछ दाने रोस्टेड मूंगफली यानी भुनी हुई, बिना छिलके की मूंगफली के भी डाल सकते हैं। इससे टिक्की खाने में अच्छी लगती है। थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए कड़े हाथों से सारी चीजों को मसल कर अच्छी तरह गूंथ लें। इस मिश्रण को थोड़ी देर आराम करने के लिए रख दें।

फिर छोटे-छोटे टुकड़े लेकर हथेली पर मसलते हुए चपटी टिक्की का आकार दें। चाहें तो इसे ब्रेड क्रम में लपेट सकते हैं। न भी लपेटें, तो इसका कुरकुरापन बना रहेगा। अब एक कड़ाही में भरपूर तेल गरम करें। तेल अच्छी तरह गरम हो जाए तो आंच मध्यम कर दें। उसमें एक-एक कर टिक्कियों को डालें और जब उनकी ऊपर की परत कड़ी होने लगे तो बाहर निकाल दें। इन्हें एक बार फिर तलना होगा।

इस तरह सारी टिक्किया तल जाएं, तो पहले तली हुई टिक्कियों को हल्के हाथों से दबा कर एक बार फिर तलने के लिए डाल दें। सुनहरा होने तक तलें।

अगर टिक्कियों को तेल में नहीं तलना चाहते, तो इन्हें पैन में भी हल्का तेल डाल कर पलटते हुए सेंक सकते हैं। ऊपर से चाट मसाला छिड़क कर इन्हें हरी या लाल चटनी के साथ गरमागरम परोसें।

Next Stories
1 सेहत: आधुनिक जीवनशैली की देन है गठिया, जोड़ का दर्द परेशानी का मर्ज
2 शख्सियत: भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का विलक्षण योद्धा शरत चंद्र बोस
3 प्रसंगवश: बचपन का स्वामी
ये पढ़ा क्या?
X