ताज़ा खबर
 

दाना पानी: परंपरा भी प्रयोग भी

भोजन पकाने में हमेशा कुछ न कुछ प्रयोग करते रहना चाहिए। भरतीय व्यंजनों में प्रयोग करने की गुंजाइश खूब है। हर स्तर पर। छौंक से लेकर मसालों तक में। ऐसा करने से परंपरागत तरीके से बनने वाले व्यंजनों के स्वाद में भी बदलाव आ जाता है। फिर भोजन हम सिर्फ पेट भरने के लिए नहीं करते, स्वाद के लिए भी तो करते हैं। सो, प्रयोग से परहेज क्यों।

सावन में लें लच्छा आलू टिक्की और ब्रेड उपमा का आनंद।

मानस मनोहर
लच्छा आलू टिक्की

आलू की टिक्की हर जगह बनाई और खाई जाती है। चटपटे स्वाद की वजह से बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक इसे पसंद करते हैं। इसलिए लगभग हर बाजार में चाटवालों के खोमचों या दुकानों पर भीड़ नजर आती है। टिक्की को पोषण की दृष्टि से देखें तो इसमें इस्तेमाल होने वाली चीजें स्वाद के साथ भरपूर पोषण भी देती हैं। आमतौर पर आलू की टिक्की उबले आलू को मसल कर उसमें मैदा या फिर अरारोट मिला कर बनाई जाती है। इसी तरीके से लगभग हर जगह टिक्की बनती है। पर घर में इसे थोड़ा अलग तरीके से बनाएं, तो खाने में बदलाव भी आएगा, मैदा और अरारोट खाने से भी बचेंगे और बाजार की टिक्की से अलग स्वाद भी होगा।

लच्छा टिक्की बनाना बहुत आसान है। यों इसमें इस्तेमाल होने वाली सामग्री वही होती है, जो परंपरागत टिक्की में उपयोग की जाती है। पर इसके लिए आलू उबालने की जरूरत नहीं होती। कच्चे आलू का छिलका उतारें और उन्हें मोटे कद्दूकस पर कस लें। कितनी टिक्कियां बनानी हैं, उसी के अनुसार आलू कद्दूकस करें। यों एक टिक्की के लिए एक मध्यम आकार का आलू पर्याप्त है।

कद्दूकस किए हुए आलू में एक चम्मच नमक और एक चम्मच लाल मिर्च पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिलाएं और थोड़ी देर के लिए छोड़ दें। तब तक टिक्की में डालने के लिए सामग्री तैयार कर लें। हरी मिर्च, अदरक और हरा धनिया अलग-अलग बारीक काट कर रख लें। दही को फेंट कर रख लें। इसके अलावा इसमें डालने के लिए अनार के कुछ दाने, बीकानेरी भुजिया, इमली की चटनी और चाट मसाले की जरूरत पड़ेगी।

दही के साथ कच्चे प्याज का इस्तेमाल न करें, तो अच्छा है। बहुत सारे लोग इसका उपयोग करते हैं, जो कि सेहत की दृष्टि से ठीक नहीं। अगर टिक्की के साथ कुछ कचकचा खाना है, तो मुलायम खीरे का लच्छा या पत्ता गोभी काट कर रख सकते हैं।
अब एक पैन में दो चम्मच तेल डालें और पूरे पैन में फैलाते हुए गरम करें। कद्दूकस किए आलू ने पानी छोड़ दिया होगा। उसे निचोड़ कर टिक्की का आकार दें और पैन में डालते जाएं। ध्यान रखें कि टिक्की बहुत मोटी न हो। आंच को मध्यम रखें, नहीं तो टिक्की नीचे से जल जाएगी और कुरकुरी नहीं बनेगी। दोनों तरफ से पलट-पलट कर टिक्कियों को कुरकुरा होने तक सेंक लें। बीच-बीच में तेल की जरूरत पड़े तो डाल सकते हैं।

टिक्कियां तैयार हो जाएं, तो प्लेट में निकालें और उन पर पहले दही और इमली की चटनी डालें। फिर अपने स्वाद के अनुसार लाल मिर्च पाउडर, काला नमक, भुना जीरा पाउडर, चाट मसाला, थोड़ा धनिया पाउडर छह-आठ अनार दाने और खीरा लच्छा डालें। इसके साथ ही अदरक, धनिया पत्ता और कटी हरी मिर्च डालें। इनमें से जो चीज आपको न पसंद हो, उसे छोड़ भी सकते हैं। फिर बीकानेरी भुजिया डाल कर परोसें। बीकानेरी भुजिया का स्वाद चटपटा होता है, उससे आलू टिक्की का स्वाद बढ़ जाता है, इसलिए वही उपयोग करें। जब भी झटपट कुछ चटपटा और हल्का नाश्ता करना हो, तो यह टिक्की बहुत अच्छी रहती है।

ब्रेड उपमा

यों उपमा दक्षिण भारतीय व्यंजन है और इसे पारंपरिक तौर पर सूजी यानी रवा से बनाया जाता है। पर अब कोई भी व्यंजन अपनी परंपरागत सीमा तक सीमित नहीं रहा। उनमें प्रयोग होने लगे हैं और उन्हें पकाने में परंपरा से अलग भी कुछ चीजों का इस्तेमाल होने लगा है। सो, ब्रेड उपमा भी उन्हीं प्रयोगों का नतीजा है।

तकरीबन हर घर में ब्रेड यानी डबल रोटी का उपयोग होता है। शहरों में अक्सर ब्रेड कई दिन तक फ्रिज में रखी होने के कारण सख्त और भुसभुसी हो जाती है। इसके अलावा सैंडविच वगैरह बनाने के लिए अक्सर उसके किनारे काट कर अलग कर दिए जाते हैं और वे बचे रहते हैं। उन सबका उपयोग करने के लिए सही तरीका है कि उनसे उपमा बना लिया जाए। ब्रेड का उपमा बनाना बहुत आसान है। इसे बच्चे भी बड़े मन से खाते हैं।

ब्रेड उपमा बनाने के लिए प्रति व्यक्ति दो ब्रेड या फिर उसी के हिसाब से ब्रेड के कटे किनारे ले लें। इन्हें छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ लें। अब इसमें डालने के लिए सामग्री तैयार करें। एक या दो मध्यम आकार के टमाटर, एक प्याज, थोड़ी-सी अदरक, कुछ हरी मिर्च बारीक-बारीक काट लें। अगर हरी मटर उपलब्ध है तो मुट्ठी भर वह भी ले लें। दो-चार बीन्स और एक गाजर को भी बारीक-बारीक काट लें। इसके अलावा जो भी सब्जियां आपको पसंद हों, जैसे पीली शिमला मिर्च आदि, उन्हें अपने स्वाद के मुताबिक ले सकते हैं। अगर चाहें तो हरी मटर की जगह मूंगफली का उपयोग भी कर सकते हैं।

अब एक कड़ाही में तीन-चार चम्मच तेल गरम करें। उसमें राई और कढ़ी पत्ते का तड़का लगाएं। फिर कटी हुई हरी मिर्च और अदरक डालें। इन्हें थोड़ी देर भूनने के बाद प्याज डाल कर मध्यम आंच पर मुलायम होने तक भूनें। फिर टमाटर डालें और उसके साथ ही जरूरत भर का नमक, लाल मिर्च पाउडर और थोड़ा-सा सब्जी मसाला डाल कर टमाटर के नरम होकर पानी छोड़ने तक भूनें। उसके बाद सारी सब्जियां डालें और उन्हें पकने तक चलाएं।

फिर ब्रेड के टुकड़े डालें और चलाते हुए सारी सामग्री को मिला लें। अगर ब्रेड कड़ी लग रही हो, तो उसमें पानी के छींटे डालें। वैसे सब्जियों के भाप से ही ब्रेड मुलायम हो जाएगी। इसे तब तक चलाते रहें, जब तक कि ब्रेड के टुकड़े और सारी सब्जियां आपस में मिल न जाएं। अगर आपको ब्रेड के टुकड़े सख्त पसंद हों तो उपमा बनाने से पहले उन्हें गरम कड़ाही में, बिना तेल डाले, सुनहरा होने तक चलाते हुए सेंक लें और जब सब्जियां तैयार हो जाएं, तो उसमें डाल कर अच्छी तरह मिलाएं। उपमा तैयार है। ऊपर से कटा धनिया डालें और गरमा गरम ब्रेड उपमा का आनंद लें। चाहें तो इसके साथ चटनी या टोमैटो सॉस भी ले सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पानी को लेकर दावे और शोध: जल के साथ सेहत की बात
2 शख्सियत: मलयालम साहित्य की अम्मा बालमणि अम्मा
3 योग दर्शन: त्रिगुण योगकर्म
IPL 2020 LIVE
X