ताज़ा खबर
 

दाना-पानीः बेसन हरियाली

भोजन पकाने के साथ हम कई तरह के प्रयोग भी कर सकते हैं। इस बार बेसन के साथ कुछ ऐसे ही व्यंजन बनाते हैं, जो बाजार में खाने को नहीं मिलेंगे।

Author October 14, 2018 7:01 AM
बेसन की मिठाइयां, कढ़ी, यहां तक कि गट्टे तो आपने बना कर बहुत खाए होंगे, पर इसके साथ हरी सब्जियां मिला कर कम ही खाई होंगी। कुछ हरी सब्जियों का बेसन के साथ बहुत अच्छा मेल बैठता है।

मानस मनोहर

घर में भोजन पकाने और खाने के दो लाभ हैं, एक तो यह कि साफ-सुथरे ढंग से, अपनी पसंद का भोजन पका कर गरमागरम खाने का आनंद आता है, और दूसरा कि बहुत सारी ऐसी चीजें हम घर में बना लेते हैं, जो प्राय: होटल या रेस्तरां में नहीं मिलतीं। भोजन पकाने के साथ हम कई तरह के प्रयोग भी कर सकते हैं। इस बार बेसन के साथ कुछ ऐसे ही व्यंजन बनाते हैं, जो बाजार में खाने को नहीं मिलेंगे।

बेसनी शिमला मिर्च

बेसन की मिठाइयां, कढ़ी, यहां तक कि गट्टे तो आपने बना कर बहुत खाए होंगे, पर इसके साथ हरी सब्जियां मिला कर कम ही खाई होंगी। कुछ हरी सब्जियों का बेसन के साथ बहुत अच्छा मेल बैठता है। शिमला मिर्च भी आप आलू, गोभी, पनीर, मटर आदि के साथ मिला कर अक्सर बनाते और खाते होंगे, पर बेसन के साथ इसे बना कर खाएं, स्वाद लाजवाब होता है।

विधि – बेसनी शिमला मिर्च बनाने के लिए सबसे पहले एक नॉन स्टिक पैन में बेसन को हल्की आंच पर चलाते हुए भून लें। बेसन की मात्रा शिमला मिर्च के मुताबिक रखें। अंदाजा लगा लें कि कितना बेसन रखने पर शिमला मिर्च ठीक से उसमें लिपट जाएगी। जैसे दो बड़े आकार की शिमला मिर्च के लिए औसत आकार की एक कटोरी भर बेसन ठीक रहेगा। बेसन को भूनते हुए ध्यान रखें कि आंच धीमी हो और वह पैन के तले पर चिपकने न पाए, नहीं तो जल जाएगा। जब बेसन का रंग हल्का सुनहरा होने लगे और उसमें से खुशबू आने लगे, तो आंच बंद कर दें। बेसन को रगड़ कर एक सार कर लें, ताकि उसमें गांठें न रहने पाएं।

अब शिमला मिर्च का डंठल निकालें और उसके भीतर का बीज साफ कर लें। इन्हें थोड़े बड़े टुकड़ों में काट लें। इस सब्जी में डालने के लिए कुछ खड़े मसालों की जरूरत पड़ती है, जैसे साबुत धनिया, जीरा, सौंफ, अजवाइन और सरसों दाना। इसके अलावा अगर पसंद हो तो कुछ खड़ी मिर्चें ले सकते हैं। इसमें डालने के लिए हींग, हल्दी पाउडर, कुटी लाल मिर्च और थोड़ा-सा गरम मसाला भी ले लें। कड़ाही में तीन-चार चम्मच सरसों का तेल गरम करें। जब भी बेसन की सब्जी बनानी हो, सरसों तेल का ही इस्तेमाल करें, इससे खुशबू और स्वाद अच्छा आता है। जब तेल गरम हो जाए तो उसमें सरसों दाना, धनिया, जीरा, सौंफ और अजवाइन का तड़का लगाएं। इसी में खड़ी लाल मिर्चें भी डाल दें। तड़का तैयार हो जाए तो दो चुटकी हींग पाउडर डालें और कटी हुए शिमला मिर्च को छौंक दें। मध्यम आंच पर पांच मिनट तक चलाते हुए पकाएं, फिर नमक, एक चुटकी हल्दी पाउडर, एक चम्मच कुटी लाल मिर्च और गरम मसाला डाल कर चला लें। अब ऊपर से भुना हुआ बेसन डाल कर चलाते हुए मिला लें।

शिमला मिर्च पानी कम छोड़ती है, इसलिए हो सकता है कि बेसन ठीक से उस पर न चिपके। इसलिए ऊपर से पानी का छिड़काव करें और चलाते हुए पकाएं। कभी पानी सीधा और अधिक मात्रा में न डालें, नहीं तो बेसन गीला होकर अलग हो जाएगा। पानी जब भी डालें, छिड़काव करते हुए ही डालें। जब बेसन ठीक से सब्जी के साथ मिल जाए, तो आंच बंद कर दें। सब्जी को कड़ाही से निकालें और उसे हरा धनिया और अदरक के लच्छे से सजा कर गरमा-गरम परोसें। इसे सूखी सब्जी के तौर पर रोटी, परांठे, पूड़ी या फिर चावल-दाल के साथ खा सकते हैं।

हरा प्याज-बेसन

सन के साथ हरे प्याज का मेल भी बहुत अच्छा बनता है। इसके लिए भी उन्हीं चीजों की जरूरत पड़ती है, जो बेसनी शिमला मिर्च बनाने के लिए हमने उपयोग कीं। आप बेसन के साथ कई हरी सब्जियां बना सकते हैं। इसलिए चाहें तो बेसन को अधिक मात्रा में भून कर अलग जार में भर कर रख लें और जब भी सब्जी बनानी हो, उसमें से जरूरत भर का बेसन निकाल कर उपयोग करें। हरे प्याज के साथ बेसन की सब्जी बनाने के लिए प्याज को ठीक से धोकर उसका पानी सुखा लें। फिर उसके सफेद हिस्से को बारीक काट लें और अलग कटोरे में रखें। हरे वाले पत्तों को बड़े आकार में काट लें।

कड़ाही में तड़का दें, जैसे बेसनी शिमला मिर्च बनाने के लिए दिया था। जब तड़का तैयार हो जाए तो पहले प्याज के सफेद वाले बारीक कटे हिस्से को छौंकें और हल्की आंच पर तीन से चार मिनट के लिए पकाएं। फिर हरे कटे पच्चों को छौंकें और चलाते रहें। दो मिनट बाद उसमें हल्दी पाउडर, नमक, लाल मिर्च पाउडर और गरम मसाला मिला दें। ऊपर से भुना हुआ बेसन डाल कर चलाते हुए ठीक से मिला लें। हरा प्याज चूंकि पानी छोड़ता है, इसलिए इसमें अलग से पानी डालने की जरूरत नहीं पड़ती। सब्जी को लगातार चलाते हुए पकाएं। जब बेसन प्याज के साथ ठीक से मिल जाए और उसमें हल्की नमी रह जाए तो आंच बंद कर दें। इसे अलग कटोरे में निकालें और गरमा-गरम खाने को परोसें। बेसन के साथ बनी हरी सब्जियां ठंडा हो जाने के बाद भी खाने में स्वादिष्ट लगती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App