ताज़ा खबर
 

रविवारी

कहानी: नींद का झोंका

वैभव रोज सुबह देर से उठता। हालांकि अब वह पांचवी कक्षा में आ गया था, पर देर से जागने की उसकी आदत सुधरी नहीं...

नन्ही दुनिया: कविता और शब्द-भेद

कुछ शब्द एक जैसे लगते हैं। इस तरह उन्हें लिखने में अक्सर गड़बड़ी हो जाती है। इससे बचने के लिए आइए उनके अर्थ जानते...

देसी फैशन के दीवाने युवा, हैरम पैंट से लेकर धोती सलवार तक

पहनावे को लेकर निरंतर प्रयोग हो रहे हैं। कभी प्राचीन से लेकर मध्य कालीन परिधानों को नए अंदाज में पेश कर फैशन की दुनिया...

सेहत: पाएं थायराइड से मुक्ति, जानिए कारण और उपचार

जल्दी थक जाना, सुस्ती रहना, याद्दाश्त कमजोर होना, अवसाद में आना, बालों का झड़ना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना आदि परेशानियां अगर आपको...

दाना पानी: सौंफ का शर्बत, बेल का शर्बत और फालसे का शर्बत

गरमी के मौसम में धूप और लू की वजह से शरीर का पानी तेजी से कम होता है, जिसके चलते बार-बार प्यास लगती है।...

आधी दुनिया: होड़ क्यों, बराबरी कैसी

आजकल अक्सर महिला सशक्तीकरण को लेकर कई तरह के सवाल और कयास लगाए जा रहे हैं। महिलाएं निरंतर अपने अधिकारों के लिए लड़ रही...

शख्सियत: पंडिता रमाबाई, पितृसत्ता से थी लड़ाई

रमाबाई का बचपन का नाम रमा डोंगरे था। उनके संस्कृत ज्ञान की वजह से उनके नाम के आगे पंडिता लगा। उन्हें संस्कृत और वेदों...

कविताएं: संदूक, आपाधापी और उद्घाटन

सुबह-शाम मिलते हैं लोकल ट्रेनों, बसों में। बरसों से अगल-बगल, आमने-सामने उठते-बैठते। एक-दूसरे को चीन्ह गए हैं-

प्रसंगवश: सांस्कृतिक उदारवाद, राष्ट्रीयता और दिनकर

दिनकर के वैचारिक-सांस्कृतिक लेखन की सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण कृति ‘संस्कृति के चार अध्याय’ (1956 ई.) है। इसमें उन्होंने भारतीय संस्कृति के मूल उपादानों का ऐतिहासिक...

कहानी: अमलतास के फूल

मैं कमरे से निकल बाहर बालकनी में खड़ी हो गई। स्मृतियां घुमड़ती रहीं, जैसे यह अभी कल की बात हो। वसंत ऋतु विदा ले...

समाज में अपराध-अपराधी का मानस, विरोध का बदला स्वरूप

समाज में अपराध बढ़ रहे हैं। इसे लेकर हर कोई चिंता जताता है। पर जब बात अपराध को रोकने की आती है, तो अजीब...

नन्ही दुनियाः शरारती मेमना

भोली बकरी का एक छोटा मेमना था। उसका नाम था मोनू। भोली और मोनू राजगढ़ जंगल में नदी किनारे रहते थे।

कम तेल-घी के व्यंजन- दाल- ढोकली, दाना-पानी

आजकल सेहत को लेकर सतर्क रहने वाले लोग ऐसे व्यंजनों की तलाश में रहते हैं, जिन्हें खाने से ऊर्जा तो भरपूर मिले, पर उनमें...

शख्सियतः शमशाद बेगम

अपनी आवाज का दीवाना बनाने वाली शमशाद बेगम उन लोगों में से थीं, जो जीते-जी गुमनाम हो गए, मगर उनके कारनामे सिर चढ़ कर...

सिनेमाः कौन सुने मेरे मन की पीर

बहुत कम लोगों को पता होगा कि स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर, उनकी बहन आशा भोसले और बाद की पीढ़ी में अनुराधा पौडवाल को पहला...

प्रसंगवशः हिंदी और उर्दू गजल का आपसी रिश्ता

हिंदी और उर्दू गजल की उम्र में काफी अंतर है। वली दकनी से आरंभ उर्दू गजल की समृद्ध परंपरा लगभग ढाई सौ सालों में...

कहानीः घोष बाबू का स्कूल

सुबह उठ कर घंटा-दो घंटा पढ़ने के बाद थोड़ी देर बाहर लॉन में टहलना घोष बाबू का रोज का नियम है। अकसर वे बाहर...