रविवारी

बच्चों की कविता: मेरे प्यारे दादाजी

पढ़ने की तुम आदत डालो, रोज पढ़ो इक नई किताब।

बच्चों की कहानी: मिन्नू की विजय

कोच, नीलू गैंडे की देखरेख में भारी दंगल का आयोजन किया जा रहा था। लूमू भैंसा, लंबू जिराफ, गोलू हाथी और गप्पू दरियाई घोड़ा...

परीक्षा में सफलता के लिए नींद जरूरी

आपको शिकायत रहती होगी कि बच्चा पढ़ते समय सोता है। उस समय बच्चे को डांटने के बजाय स्वयं को टटोलिए, हो सकता है इसका...

हेल्थ: बदलते मौसम में रहें स्वस्थ

थोड़ी सी गर्मी महसूस होने पर हॉफ स्लीव्स कपडे पहनने की गलती न करें। फुल स्लीव कपड़ें पहनें, इससे आप बीमार होने से...

दाना-पानी: राजस्थान के रंग – मेथी के गट्टे और दाल वाफले

राजस्थानी व्यंजन के दीवाने देश भर में मिल जाएंगे। राजस्थान के भोजन में तीखापन है, तो मिठास भी खूब है। वहां जितनी तीखी सब्जियां...

कला और संस्कृति: नृत्यांगना, दर्शनशास्त्री और भरतनाट्यम की कोरियोग्राफ रुक्मिणी देवी अरुंडेल

मदुरई के ब्राह्मण परिवार में जन्मीं रुक्मिणी, नीलकंठ शास्त्री और सीशामल्ल की आठ संतानों में से एक थीं। उनके पिता, इंजीनियर और मद्रास स्थित...

यज्ञ से मिलेगी वायरस से मुक्ति

किसी भी प्रकार के वायरस को मिटाने, दूर भगाने तथा वायरस का प्रभाव कम करने में यज्ञ बहुत ही लाभकारी होता है। जो भी...

दक्षेस में हिंदी की बुनियाद

एशिया महाद्वीप में भारत के अलावा पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, भूटान, म्यांमा, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, मंगोलिया, उज्बेकिस्तान, तुर्की और थाईलैंड देशों में हिंदी...

कहानी: प्लाट नंबर दो सौ तीन

‘मेरे पिताजी बताते थे कि इस प्लॉट वाली जगह में पहले चलता-फिरता श्मशान होता था। इस शहर में सभी समुदायों के अपने-अपने श्मशान गृह...

रविवारीय: कोख, किराया और कानून

किराए की कोख (सरोगेसी) को लेकर संसद में समय-समय पर बहस और चर्चाएं होती रही हैं। इसके लिए बने कानूनों में संशोधन भी हुए,...

कविता: पिचक पिचक जाता फुकना

कहती है जब आई हूं, कुछ दिन तो होगा रुकना!

कहानी: नया संकल्प

‘मोटू चाचा जिंदाबाद।’ खुश होकर सारे जानवरों ने मोटू की जय जयकार से पूरा जंगल गुंजा दिया।

सावधानी से पहनें कांटेक्ट लेंस

अस्पताल में मरीज को कॉन्टैक्ट लेंस से जुड़ी सावधानियों और सफाई के साथ उसके प्रयोग को भी सिखाया जाता है।

शख्सियत: नाना फडणवीस

नाना फडणवीस का वास्तविक नाम बालाजी जनार्दन भानु था।

दाना-पानी: देसी पकवान

शहरी खानपान में कभी-कभी देसी पकवान का भी स्वाद लेते रहना चाहिए। इससे शरीर में पाचन वाले एन्जाइम की विविधता बढ़ती है। इस तरह...

समाज: प्यार से कैसा इनकार

टटोलना यह भी है कि आयातित त्योहारों में हमने ‘मदर्स डे’, ‘फादर्स डे’ आदि तो हमने स्वीकार कर ही लिए हैं।

कविता: लौटना

धरती का अर्थ होता है अन्न, पानी का अर्थ होता है जीवन और आसमान का अर्थ होता है इस दुनिया में थोड़ी सी जगह

ललित प्रसंग: सींकिया बदन को सबल बनाने की कवायद

आज देश के नेता ऐसी विकट स्थिति का मुकाबला करने के लिए दंड पेल रहे हैं।

ये पढ़ा क्या?
X