ताज़ा खबर
 

रविवारी

नन्ही दुनिया: कविता और शब्द-भेद

कुछ शब्द एक जैसे लगते हैं। इस तरह उन्हें लिखने में अक्सर गड़बड़ी हो जाती है। इससे बचने के लिए आइए उनके अर्थ जानते...

कहानी: भाग्य भरोसे

गोलू सुबह उठ कर स्वयं तैयार हो गया। और विद्यालय जाकर कक्षा में सबसे आगे की सीट पर अकड़ कर बैठ गया। बच्चों ने...

फैशन पर फिल्मों का असर

फैशन में हर समय नए प्रयोग होते रहते हैं, पर इसका कारोबार काफी कुछ फिल्मों और धारावाहिकों के पहनावों पर भी निर्भर करता है।...

सेहत: बच्चों का टिफिन, कटलेट से लेकर रवा इडली तक

अगर आपके बच्चे भी खाना खाने में आनाकानी करते हैं तो आप कुछ ऐसे तरीके अपना सकती हैं, जिनसे वे खाने को बड़े चाव...

दाना-पानी: रशियन सलाद और वेजिटेबल सूप

कई लोग फलों का रस, दूध वगैरह का अधिक सेवन करना शुरू कर देते हैं। अच्छी सेहत के लिए खानपान में सावधानी जरूरी है।...

समाज काले हैं तो क्या हुआ…

सौंदर्य का रंग से कोई संबंध नहीं होता है। यह तो हर देश की जलवायु और वहां के खानपान पर निर्भर करता है। पर...

विमर्श: हिंदी आलोचना और गांधी

हिंदी आलोचना में गांधी प्रभाव से किनाराकशी की शुरुआत आचार्य रामचंद्र शुक्ल से ही हो गई थी, जिन्हें हिंदी आलोचना का सुदृढ़ स्थापत्य खड़ा...

कहानी: ललक

रजनी के रहने-सहने के ढंग देख कर, कास्मैटिक देख कर मेरा मन भी हुआ क्रीम-लिपस्टिक खरीदने का! अच्छा ही हुआ खरीद लिया। अपनी मनपसंद...

कविताएं: नींद का हासिल, पानी की बात और धोखा

जब मन टूटा तो बसा हुआ पहाड़ टूट गया, सबसे पहले खोया जमा किया अंतिम तक का सिक्का, जिसे रोज रोज बचाता था।

परिसर मुक्त पढ़ाई

आज सभी बच्चों तक पढ़ाई-लिखाई की सुविधाएं उपलब्ध कराना दुनिया भर में बड़ी चुनौती है। खासकर भारत जैसे विशाल जनसंख्या और बीच में पढ़ाई...

चल खुसरो घर आपने…

कहते हैं, प्रतिभा कुछ तो अर्जित की जाती है और कुछ कुदरती होती है। तेरहवीं सदी के मशहूर शायर, दार्शनिक, सूफी संत, संगीतज्ञ अमीर...

नन्ही दुनिया- कविता और शब्द भेद

कुछ शब्द एक जैसे लगते हैं। इस तरह उन्हें लिखने में अक्सर गड़बड़ी हो जाती है। इससे बचने के लिए आइए उनके अर्थ जानते...

कहानी – दावत

धूप सबकी थी, उस पार्क में कोई कहीं भी बैठ सकता था। फिर भी वे दूर खड़े थे, पता नहीं क्यों। वे तीन थे-...

रसोई का रखरखाव

घरों में आमतौर पर सफाई और साज-सज्जा का ध्यान बैठक तक केंद्रित रहता है, जबकि रसोई घर सबसे अहम हिस्सा होता है। पुराने समय...

सेहत – भूलने की समस्या

सोई का काम खत्म करने के बाद बार-बार जाकर देखना कि गैस बंद है या नहीं, बातचीत करने के दौरान भूल जाना कि किस...

दाना-पानी : हरा-भरा चावल, रोटी नूडल्स

घर में अक्सर भोजन कुछ अधिक बनने की वजह से बच जाता है, तो कई लोगों को चिंता होती है कि उसका करें क्या।...

समाज – संवेदनहीन होते किशोर

आज बच्चों की मनोवृत्ति बदल रही है। उनकी हिंसक प्रवृत्ति में इजाफा हो रहा है। वे छोटी-छोटी बात पर उत्तेजित होकर उद्दंड, मारपीट करने...

भाषा – काल और भाषा

मस्तिष्क में ‘काल’ की यह चार अवस्थाएं, एक-दूसरे से असंपृक्त होते हुए भी, कई ‘क्रिया-प्रणालियों’ में सहभागिता निभाती हैं। मस्तिष्क की चौथी घड़ी का...