ताज़ा खबर
 

बच्चा लोग बजाओ ताली

इसी बीच पंजाब के स्थानीय निकायों के चुनावों में कांग्रेस की झाडूमार जीत और भाजपा की करारी हार की खबर ने कल तक आक्रामक दिखते भाजपा प्रवक्ताओं के चेहरे उतार दिए! एक कांग्रेसी चर्चक ने स्थापना तक कर दी कि भाजपा की विदाई की इबारत नाराज किसानों ने लिख दी है।

Toolkit case, farm lawsनई दिल्ली में पुलिस मुख्यालय में जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन करते AISA कार्यकर्ता। (फोटो- पीटीआई)

एक दिन महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता जी ने अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार को धमकी देकर बड़ी खबर बनाई कि वे सरकार की आलोचना करें, नहीं तो उनकी न पिक्चर बनने देंगे न रिलीज होने देंगे… इसे कहते हैं ‘गधे पर न चली तो गधी के कान उमेठे!’
अफसोस कि इस बार किसानों का ‘रेल रोको’ बड़ी खबर नहीं बना पाया। चैनलों का ज्यादातर समय गृहमंत्री का बंगाल का रोड शो ले गया। चैनलों की बहसों में बंगालियों की ‘बंगिंदी’ (बांग्ला-हिंदी) सुनना अच्छा लगता है। एक नारा लगाता है : ‘जै श्रीराम’ तो दूसरा लगाता है : ‘जै मां काली, जै मां दुर्गा’! एक कहता है कि ‘रामजी सबके’ तो दूसरा कहता है कि ‘जै काली कलकत्तेवाली, तेरा वचन न जाए खाली, बच्चा लोग बजाओ ताली!’

टीएमसी इंच-इंच पर फाइट दे रही है। एक राष्ट्रवादी एंकर खुद कहता है कि बंगाल में बराबर की टक्कर है! राहुल जी हर बार नए रूप में अवतरित होते हैं। एक दिन वे नीली टीशर्ट वाले कैजुअल्स में थे, तो एक दिन कुर्ते-पाजामे में थे। फिर एक दिन बढ़ी दाढ़ी में थे, तो एक दिन क्लीन शेव्ड थे।

लगता है कि राहुल जी अपनी ‘कैजुअल ड्रेस’ से ‘डिजाइनर’ कुर्ता-पाजामा-जाकेट-केसरिया अंगवस्त्र वाली भाजपा की ‘फार्मल ड्रेस’ के खिलाफ ‘वर्ग संघर्ष’ चला रहे हैं! उधर, ‘टूलकिट’ की कहानी अब तक ‘किट किट’ कर रही है : दिशा रवि की ग्रेटा से की गई ‘वाट्सऐप चैट’ चैनलों में अगले दिन से ही चर्चा में रही। कई एंकर दर्शकों को देर तक समझाते रहे कि दिशा ने खुद कहा है कि उस पर ‘यूएपीए एक्ट’ लागू हो सकता है… कि, वह ग्रेटा को इस लफड़े से दूर रखेगी यानी उसने जो कुछ किया, जानबूझ कर किया।
लेकिन दिशा भी ऐसी हेकड़ निकली कि उसने इसी ‘लीक’ को लेकर पुलिस पर केस कर दिया कि उसकी निजी ‘चैट’ लीक कैसे की?

इस बीच दिशा के ‘सहआरोपित’ निकिता और शांतनु को एक अदालत ने ‘अंतरिम जमानत’ दे दी। इससे दिशा की हिम्मत बढ़ गई! इससे एक एंकर इतना विचलित हुआ कि एक बड़े वकील को अपने चैनल से जोड़ कर पूछने लगा कि सर जी, इनके खिलाफ देशद्रोह का मामला बनता भी है कि नहीं? बड़े वकील साहब ने भी ‘बड़ी बात’ कही कि जब तक किसी का उकसाना देश की संप्रभुता पर चोट नहीं पहुंचाता तब तक देशद्रोह का केस नहीं बनता।

आज के युवा तो ऐसे औल-फौल बकते ही रहते हैं… देशद्रोह के आरोप को सप्रमाण सिद्ध करना होता है… फिर, उसी सांस में फरमाते गए कि उनकी मुख्य चिंता यह है कि यह देश अस्सी के दशक की ओर तो नहीं लुढ़क रहा? अगर इससे बचना है तो सत्ता को अपनी पूरी ताकत से काम लेना चाहिए…

लेकिन सत्ता प्रार्थना की मुद्रा में शांतिपाठ करती दिखती है! इसी बीच पंजाब के स्थानीय निकायों के चुनावों में कांग्रेस की झाडूमार जीत और भाजपा की करारी हार की खबर ने कल तक आक्रामक दिखते भाजपा प्रवक्ताओं के चेहरे उतार दिए! एक कांग्रेसी चर्चक ने स्थापना तक कर दी कि भाजपा की विदाई की इबारत नाराज किसानों ने लिख दी है।

एक दिन राज्यसभा सांसद दिनेश त्रिवेदी ने टीएमसी से इस्तीफा दे दिया तो भक्त चैनल में जान पड़ गई। सब त्रिवेदी से पूछते रहे और वे बताते रहे कि आज सुबह उनकी अंतरात्मा जाग उठी, इसलिए टीएमसी छोड़ दी!

फिर एक दिन खबर चैनलों के विजुअल्स बताने लगे कि संघ प्रमुुख मोहन भागवत मिठुन चक्रवर्ती से घर जाकर मिले हैं। हाय! कैसी कामिक-त्रासदी कि सत्तर के दशक का नक्सल कहलाने वाला हीरो भी अंत में ‘संघम् शरणम् गच्छामि’ करने लगा! बोलो : जै काली कलकत्ते वाली, तेरा वचन न जाए खाली, बच्चा लोग बजाओ ताली…

फिर एक दिन ‘मी टू’ के केस मेंं अदालत ने एक बड़े ‘इज्जतदार’ से कह दिया कि अपने ‘हेरासमेंट’ की शिकायत करने वाली महिला को आप दंडित नहीं कर सकते… आरोपकर्त्री महिला के खिलाफ मानहानि का केस खारिज… फिर एक दिन कर्नाटक के पूर्व सीएम ने शिकायत की कि राम मंदिर के लिए चंदा मांगने तीन लोग आए। जब पूछा कि क्या आप चंदा एकत्र करने के लिए अधिकृत हैं? तो एक महिला ने पूर्व सीएम पर ‘अटैक’ कर दिया कि आप यह पूछने वाले कौन होते हैं? यह उनकी हेकड़ी थी…

जब कोई बड़ा नेता रोता दिखाई देता है तो तरस आने की जगह उस पर हंसी क्यों आती है सरजी? एक शाम जब एक चैनल के रिपोर्टर ने ‘पहले एकत्र किए चंदे’ को लेकर सवाल किया तो ट्रस्ट के एक बड़े अधिकारी ने रिपोर्टर को ही हड़का लिया और बिफर कर बोले कि यह सवाल तुझे जिसने दिया है वह दुर्बुद्धि है…!

Next Stories
1 ज्ञानार्जन में गतिशीलता
2 सरकार और कारोबार
3 आंकड़े झूठ नहीं बोलते
आज का राशिफल
X