ताज़ा खबर
 

बाखबर- कैसा भावनात्मक दोहन

नोटबंदी और जीएसटी पर मुहर लगी है। मोदी का जादू बरकरार है। गुजरात के गर्व से उनका स्वयं को जोड़ना काम कर गया लगता है।
Author December 17, 2017 04:32 am
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

घृणा बरस रही है: कोई किसी को ‘नीच, पागल, दिमाग खराब, गंदी नाली का कीड़ा’ कहे जा रहा है तो कोई किसी को ‘औरंगजेब, पाकिस्तानी, गद्दार, मीरजाफर, जयचंद, पाकिस्तान को सुपारी देने वाला कहे जा रहा है!
वोट पड़ रहा है। वोट पड़ चुका है। एक्जिट पोल आ रहे हैं।
सात सात एक्जिट पोल। कांग्रेस डाउन और भाजपा अप!
राहुल के पास जनेऊ। मोदी के पास सी प्लेन! राहुल शिवभक्त, तो लोग मोदी भक्त!
इधर हाय हाय उधर वाह वाह।
एक्जिट पोल से पहले जो चैनल गुजरात में नाराजी ही नाराजी दिखाते थे, एक्जिट के बाद नाराजी को भूल मोेदी पर कुरबान दिखते हैं। दो एंकर एक्जिट पोलों को ‘एक्चुअल पोल’ मान कर राहुल के नरम हिंदुत्व पर तरस खाते रहते हैं।
हर विशेषज्ञ के पास अपनी उतावली ‘एक्जिट थियरी’ है: वास्तविक परिणामों के आने से पहले ही सब मान चुके हैं कि गुजरात और हिमाचल भाजपा जीत रही है। कांग्रेस हार रही है।
अपन एक्चुअल की जगह वर्चुअल पर जान छिड़कते हैं। एक्चुअल की जगह एक्जिट पोल ही हिट होते हैं। दर्शक लटके रहते हैं। चैनलों की दुकान जमी रहती है।
हर चैनल अपने एक्जिट पोल को स्पेशल कह कर बेच रहा है। एक कहता है कि वही सबसे तेज नतीजे देने वाला है, दूसरा कहता है कि सबसे ऊंचे दर्जे के विश्लेषकों की टीम उसी के पास है।  हिमायत करने में कुछ एंकर भाजपा के प्रवक्ताओं से भी आगे नजर आते हैं। उन्हें कांग्रेस के नए बने अध्यक्ष राहुल पर मोदी के प्रवक्ताओं से भी ज्यादा तरस आता है।
भाजपा प्रवक्ताओं की बांछें खिली हैं। वे इसे मोदी और अमित शाह की जीत बताते हैं। नोटबंदी और जीएसटी पर मुहर लगी है। मोदी का जादू बरकरार है। गुजरात के गर्व से उनका स्वयं को जोड़ना काम कर गया लगता है। कुछ काम तो अय्यर भइया के ‘नीच बोलों’ ने किया और कुछ कपिल सिब्बल के ‘मोदी हिंदू ही नहीं हैं’ जैसे अनमोल वचनों ने कर दिया। शेष काम ‘विभाजनकारी इमोनशनल अत्याचार’ ने कर दिया!

एक चैनल सातों पोलों का औसत निकाल कर बताए जा रहा है कि भाजपा को गुजरात में एक सौ पंद्रह सीटें मिल रही हैं और कांग्रेस को छियासठ, यानी इतने घमासान के बाद नतीजे दो हजार बारह वाले ही रहने हैं। एक चैनल देश का नक्शा बना कर बड़े हिस्से में भगवा रंग भर कर दिखा रहा है कि आने वाले दिनों में भारत के तीन चौथाई भाग में भगवा रंग चढ़ा होगा। हर तरफ भगवा की बहार!  हाय कैसा इमोनशनल अत्याचार!!
चुनाव के दौरान ही राहुल ने एबीपी को एक इंटरव्यू दिया है। एंकर जिज्ञासु की तरह पूछे जा रहा है और वे बताए जा रहे हैं कि इस बार के परिणाम चांैकाने वाले होंगे। इसे देख अंग्रेजी का एक एंकर चिढ़ गया है। वह चीखता है कि यह भी क्या साक्षात्कार है? एकदम दोस्ताना सवाल किए जा रहे हैं। एंकरों की ईर्ष्या भी इस हाय-हाय के लिए कम जिम्मेदार नहीं!
इतने में खबर बे्रक होती है कि इंटरव्यू दिखाने वाले दो चैनलों पर चुनाव आयोग ने एफआईआर कर दी है, क्योंकि यह चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है।
भाजपा ने शिकायत की है कि राहुल ने आदर्श आचार संहिता को तोड़ा है। उधर कांग्रेस भी आरोप लगाती है कि मोदी ने रोड शो कर के संहिता का हनन किया है।
कांग्रेस हमलावर है। कहती है कि चुनाव आयोग मोदी के पीए की तरह काम कर रहा है। कोई कहता है कि खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे!
चैनलों की सेनाएं दिल्ली लौट आई हैं। एक चैनल खबर देता है कि कांग्रेस अदालत से अपील कर रही है कि चुनाव आयोग गिनती से पहले ईवीएम की पेपर ट्रेल की पुष्टि करे! अदालत अपील को खारिज कर देती है।

इंटरव्यू में राहुल खुद कह चुके हैं कि इस बार ईवीएम रिजल्ट सबको चैंकाने वाले होंगे। चांैकने के लिए कांग्रेस को भी तैयार रहना चाहिए।
सोमवार को परिणाम आने तक ऐसे ही चलेगा। परिणाम के बाद सभी अपनी हार-जीत का ‘उत्तर सत्य’ रचेंगे और घाव सहलाते रहेंगे।
संप्रति शीतकालीन संसद सत्र। ‘तुरंता तीन तलाक’ बिल पर कैबिनट की हरी झंडी। सत्र में पास हो सकता है ‘तीन तलाक को तलाक’ कहने वाला कानून!
इंडिया टुडे आंकड़े देता है: एक्जिट पोल के अनुसार अगर भाजपा को बारह फीसद मुसलमान मर्दों ने वोट दिया है, तो चौदह फीसद वोट मुसलिम महिलाओं ने दिया है!मोदी मुसलिम महिलाओं के हीरो हैं!
अब फिर मचेगी हाय हाय! फिर होगा पर्सनल लॉ बरक्स मुसलिम समाज में सुधार! मौलाना करेंगे हाय हाय! तलाक की मारी मुसलिम औरतें करेंगी वाह वाह!! इधर मार!उधर पुचकार! यह है दुधारा सुधार!
केरल में मुसलमान लड़कियां हिजाब पहन कर फ्लेश डांस करें, तो इस्लामी संस्कृति को खतरा और बंगलुरू में सनी लियोनी कार्यक्रम पेश करने की बात करें तो भारतीय संस्कृति को खतरा! फिर दो दिन की ‘बचा बचा’, दो दिन की ‘मार मार’!
कैसा इमोशनल अत्याचार!!

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.