ताज़ा खबर
 

बाखबर- श्रेय मोदी

शिमला शपथ समारोह! यह भी मोदी का शो है। शिमला के पुराने कॉफी हाउस में मोदी कॉफी पीते दिखते हैं। यह मोदी का कॉफी शो है!

Author December 31, 2017 5:40 AM
गुजरात चुनाव: लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी (फोटो सोर्स- PTI)

सामारोह से समारोह तक, रोड शो से रोड शो तक, गांधी नगर से शिमला तक, गुजरात से हिमाचल तक, सर्वत्र शो ही शो।
सबसे बड़ा शो गुजरात का। विराट मंच। मंच पर विराजे भाजपा के सारे वीवीआइपी। आधा दर्जन केंद्रीय मंत्री। अठारह मुख्यमंत्री। नीतीश पर फोकस!
एनडीटीवी, इंडिया टुडे, सीएनएन आइबीएन अठारह, टाइम्स नाउ, रिपब्लिक, न्यूज एक्स और हिंदी के कई चैनल लाइन लगा के लाइव कवर करते दिखते रहे।
सभी यह बताने की होड़ में लगे थे कि आज अठारह राज्यों में भाजपा का राज कायम है। सत्तर फीसद जनता पर भाजपा का शासन है। एक चैनल नक्शा बना कर दिखाता रहा कि अब कितना भारत बचा है मोदी के चक्रवर्तित्व के लिए।
एक अंग्रेजी चैनल की रिपोर्टर अपनी रपट का समाहार करती कहती दिखी कि यह था ‘सुपर शो’। ‘सुपर स्पेक्टेकिल’ यानी तमाशा। दो हजार उन्नीस का रास्ता यहां से निकलता है।
इसे कहते हैं मामूली जीत को भी भव्य बना कर दिखाना, गुजरात को अखिल भारतीय समारोह में बदलना, ताकि सब जान जाएं कि उन्नीस का रास्ता गुजरात से होकर जाता है। नीतीश की मार्फत एक लाइन सुनाई देती है: उन्नीस में भी भाजपा जीतेगी।
यह था डबल शो। शपथ समारोह भी और उन्नीस का शंखनाद भी!
शोे नंबर दो: नोएडा कालकाजी के बीच चलने वाली मजेंटा मेट्रो का मोदी द्वारा उद्घाटन। मेट्रो में मोदी, योगी और यूपी के कई मंत्री अगल-बगल, लेकिन सब एकदम सजग सावधन! कोई बातचीत नहीं। कोई बेतकल्लुफी नहीं!
फिर एमिटी के मैदान की एक सभा। सभा में मोदी का संबोधन। एक-एक वाक्य पर श्रोता मुग्ध। नीचे से उठती आवाजें ‘मोदी मोदी’ और मोदी बताते हुए कि क्या-क्या बदला है और क्या-क्या ठीक करना है? उन्नीस का एक रास्ता मेट्रो से भी होकर जाता है।
उन्नीस के रास्ते को लेकर एनडीटीवी में ‘बिग फाइट’ मची है। एक विचारक कहता है कि राहुल की साख बढ़ी तो है, लेकिन…। दूसरा कहता है कि बढ़ी तो है, लेकिन अभी इतनी नहीं कि उन्नीस में टक्कर दे सकें। एक विदुषी कहती हंै कि गुजरात में राहुल ने फाइट तो दी, लेकिन भाजपा पूरी ताकत से चुनाव लड़ती है और कांग्रेस के पास संगठन ही नहीं है। नो मैच। नो मुकाबला!
शिमला शपथ समारोह! यह भी मोदी का शो है। शिमला के पुराने कॉफी हाउस में मोदी कॉफी पीते दिखते हैं। यह मोदी का कॉफी शो है!
कैमरों में छाए रहना कोई मोदी से सीखे। कवरेज में एकदम दुरुस्त उपस्थिति! मीडिया में दिखना ही असली चीज है।
सेना के हवाले से चैनल खबर देते रहे: सर्जिकल स्ट्राइक नंबर दो: भारत ने बदला लिया। भारत ने बदला लिया। एक चैनल कहता है: यह था ‘आपरेशन विघ्नहर्ता’! सीमा के पार पैंतालीस मिनट तक सर्जिकल स्ट्राइक की। चार पाक सैनिकों को मारा। भारतीय सैनिकों की हत्या का बदला लिया! इस सर्जिकल पर कोई विवाद नहीं होता। चैनल दिखाते हैं: ये देखिए एक्शन का ‘रिपे्रजेंटेटिव वीडियो’। ये रिपे्रजेंटिव वीडियो क्या होता है सरजी?
इतने में एक हिंदी चैनल मेजर माहूरकर के माता-पिता के मुंह में माइक ठंूस कर पूछता है: आपके बेटे की हत्या का बदला ले लिया गया है, आपको कैसा लग रहा है? माता कहती है कि दोनों ओर बातचीत हो, शांति रहे तो अच्छा, वे भी तो किसी के बेटे होते हैं… पिता भी यही कहता है। बहादुर रिपोर्टर अपना-सा मुंह लेकर रह जाता है। वह ‘पीस टु कैमरा’ तक नहीं कर पाता!
पाकिस्तानी जेल में कैद जाधव से मिलने जाती उसकी मां और पत्नी की मुलाकात पर तीन दिन तक चैनलों में हाय-हाय होती रही। पाकिस्तान की बदतमीजी और बदसलूकी प्रसारित होती रही। मुलाकात के बीच शीशे की दीवार। जूते, मंगलसूत्र, कंगन और बिंदंी तक को हटवाया गया। दो निरीह औरतों से ऐसा दुर्व्यवहार! देशभक्त एंकर क्रोधित होकर पाकिस्तान की धुलाई करने लगे। एक चैनल ने पाकिस्तान को ‘चप्पलचोर’ कह कर लताड़ा। दूसरे ने ‘जूताचोर’ लिख कर हिसाब चुकता किया। जाधव की मां और पत्नी के साथ पाकिस्तान द्वारा की गई बदसलूकी पर सबसे बेहतरीन ‘फाइट’ इंडिया टुडे में ही दिखी!
क्या ही दो टूक फाइट थी: एक ओर पाकिस्तान के तारिक पीरजादा अपनी फटी आवाज में हिंदुस्तानियों को खरी-खोटी सुनाते, तो दूसरी ओर गरीब नवाज फाउंडेशन के मौलाना अंसार रजा उनको वो जली कटी सुनाते कि तारिक ‘शटअप शटअप’ करते रह जाते। रजा ने पाकिस्तान को लताड़ते हुए कहा कि तुम लोग तो ऐसे डरपोक हो कि दो हिंदुस्तानी औरतों के जूतों से डर गए। और पीरजादा से कहा कि कल तू एक चैनल से जूते खाके गया था, आज यहां से जूते खाके जाएगा!
तीन तलाक विधेयक को लोकसभा ने बड़े बहुमत से पास करके सबको चकित कर दिया। कुछ किंतु परंतु के बाद कांग्रेस ने भी समर्थन किया। बहस के जवाब में मीनाक्षी लेखी ने मोदी का सदंर्भ देते हुए कहा कि जब तक मोदी जैसा भाई है, तब तक मुसलिम महिलाओं को परेशान होने की जरूरत नहीं।
यह था मोदी-टच! मोदी की पोजीशनिंग!
कई चैनलों में मुसलिम महिलाओं ने खुश होकर कहा: आज हम आजाद हुर्इं। हमारे सिर से तीन तलाक की तलवार हटी। जो किसी ने न किया, वह मोदी ने किया!
श्रेय मोदी!

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App