ताज़ा खबर
 

जानिए कैसी है 26/11 की ‘फैंटम’

कबीर खान की 'फैंटम' इसी मुद्दे पर आधारित है। फिल्म की शुरुआत ही 26/11 के हमलों से होती है, जिसमें 162 लोगों की जान चली जाती है।

जानिए कैसी है 26/11 की फैंटम मूवी

कबीर खान की ‘फैंटम’ इसी मुद्दे पर आधारित है। फिल्म की शुरुआत ही 26/11 के हमलों से होती है, जिसमें 162 लोगों की जान चली जाती है। बॉलीवुड हंगामा के अनुसार फैंटम फिल्म एक ऐसी कहानी पर आधारित फिल्म हैं, जिसे देखकर लोगों के जेहन में सैफ अली खान और कैटरीना के प्रति रेसपेक्ट का भाव बढ़ेगा।

कहानी में एक व्यक्ति को इंसाफ पाने के लिए किस हद तक जाना पड़ सकता है। फैंटम फिल्म की कहानी है कि डनियाल खान की जो कि एक आर्मी ऑफीसर है, फिल्म में इस भूमिका में नजर आ रहे हैं अभिनेता सैफ अली खान। लेकिन किसी वजह से उन्हें आर्मी की नौकरी से निकाल दिया जाता है।

फिल्म की शुरुआत के करीब 10 मिनट के बाद ही मिशन शुरु हो जाता है। ज्यादा वक्त ही नहीं मिलता कि दर्शक कुछ दिमाग लगा सकें। फिल्म इंटरवल तक थोड़ी स्लो और कंफ्यूजिंग है। लेकिन दूसरे भाग में फिल्म उस लेवल तक पहुंचती है जहां पर कोई और फिल्म को टक्कर नहीं दे सकता।

फिल्म की कहानी में सैफ अली खान और कैटरीना कैफ दोनों ने ही अपने किरदारों में जान डालकर बेहतरीन रूप दिया है। अली खान और कैटरीना कैफ दोनों ने ही बेहतरीन काम किया है। सैफ अली खान के एक्सप्रेशन उनके डायलॉग्स सबकुछ बेहतरीन है। वहीं फिल्म कैटरीना कैफ के डायलॉग भले ही कम हों लेकिन उनके एक्सप्रेशन बहुत ही कमाल के दिखाई दिए।

फैंटम के पहले भाग में फिल्म का मुख्य मुद्दा दिखाया गया है और दर्शकों का ध्यान इधर उधर ना जाए इसलिए एक भी गाना नहीं डाला गया। वहीं दूसरे भाग में दो गाने हैं जो कि काफी इमोशनल और खूबसूरत हैं। बात अगर फिल्म में इमोशन्स की करें तो फैंटम हर किसी के दिल को कनेक्ट करने में सफल होगी। 26/11 हमले के बाद रॉ डनियाल से दुनिया के कोने में छिपे मास्टरमाइंड को मारने के लिए मदद मांगते हैं, जो कि देश में दहशत फैला रहे होते हैं। दनियाल की मदद करती है नवाज मिस्त्री यानी कि कैटरीना कैफ।

कबीर खान ने फैंटम फिल्म की कहानी को बहुत बेहद वास्तविक रूप दिया है। उन्होंने फिल्म को रुपहले पर्दे में स्क्रीन करने के लिए हर तरह की बारीकी को ध्यान में रखा है। फिल्म का दूसरा पार्ट पहले पार्ट से काफी रोचक लगेगा। क्योंकि पहले पार्ट की शुरुआत मिशन से हो जाती है, जिसे कई लोगों को समझने में कनफ्यूजन हो सकता है।
लेकिन बात अगर फिल्म के बैकग्राउंड सीन्स की करें तो सभी लुकेशन्स बेहद खूबसूरत हैं, जो फिल्म देखने के लिए दर्शकों का ध्यान खींचने में कामयाब हो सकते हैं। फिल्म में मुंबई से लेकर सिकागो, अमेरिका जैसे बड़े देशों के बहतरीन लुकेशन्स को दर्शाया गया है। फिल्म देखने लायक है और साथ ही 2015 की बेस्ट थ्रिलर में से एक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App