ताज़ा खबर
 

Dabangg 3 Movie Review, Rating: ड्रामा, इमोशन, एक्शन और सलमान से भरपूर Dabangg 3

Dabangg 3 Movie Review, Rating

Dabangg 3 Movie Review: फिल्म में सलमान खान

Dabangg 3 Movie Review, Rating: जैसा कि अकसर होता है दबंग- श्रृंखला की पिछली दो फिल्मों की तरह इसमें भी शुरू से आखिर तक सलमान खान ही मौजूद है। कह सकते हैं कि `दबंग 3’ पूरी तरह से सलमान सलमान सलमान है। नाचते हुए सलमान, गाते हुए सलमान, प्रेम करते सलमान, शर्टलेस सलमान, पूरे कपड़े में सलमान, खलनायक की धुलाई करते सलमान, यानी एक्शन में सलमान। किस्म-किस्म के अंदाज में सलमान।

फिल्म की अगर कोई कहानी है तो वो भी मोटे तौर पर सलमान ही हैं। यानी लगभग हर फ्रेम में सलमान खान ही हैं। अगर आप सलमान के दीवाने हैं तो इसे देखते हुए कहेंगे, वाह सलमान, आह सलमान, हाय सलमान। और कहते हुए हॉल में सीटी मारेंगे। अगर सलमान के दीवाने नहीं हैं तो कहेंगे- `पौन तीन घंटे की इस फिल्म में तो सलमान के अलावा कुछ है ही नहीं भाई। ‘

हालांकि ये दबंग श्रृंखला की ये फिल्म सिक्वेल नहीं है बल्कि प्रीक्वेल है। यानी इसमें चुलबुल पांडे (सलमान खान) के शुरुआती जीवन की कहानी है। वहीं से इसकी शुरुआत होती है। तब चुलबुल की रज्जो (सोनाक्षी सिन्हा) से शादी भी नही हुई थी। तब चुलबुल एकदम चुलबुल था और इश्क करने वाला एक नौजवान था। उसे प्रेम था खुशी (सई मांजरेकर) से जो बेहद मासूम थी। पर जैसा कि जीवन में होता है, और जीवन से ज्यादा हिंदी फिल्मों में होता है, इश्क करने वाले कुछ लोगों की नजरों में खटकने भी लगते हैं।

तो चुलबुल और सई के इश्क पर भी बाली की काली साया पड़ गई। बाली जो एक खूंखार शख्स था। वो चुलबुल की जिंदगी पर ग्रहण की तरह लग गया। क्या किया उसने चुलबुल के साथ और चुलबुल ने आगे चलकर उसके..उसके यानी बाली के साथ क्या किया और उससे चुन चुन कर बदला लिया – यही `दबंग 3’ का किस्सा है। ये फिल्म भी उत्तर प्रदेश में आधारित है।
फिल्म कुछ लोकप्रिय गानों से भरी है। खासकर `मुन्ना बदनाम हुआ’ वाले बोल वाला गाना लोगों की जुबान पर पहले से ही चढ़ गया है। इसमें सलमान के साथ फिल्म के निर्देशक प्रभुदेवा भी नाचते हुए दिखते हैं। प्रभुदेवा मुख्य रूप से डांसर और डांस कोरियोग्राफर ही रहे हैं इसलिए लगे हाथ, जब भी किसी फिल्म में निर्देशक होते है, अपने पैर भी आजमा लेते हैं। फिल्म में सोनाक्षी सिन्हा की भूमिका बहुत छोटी है लेकिन सई का रोल लंबा है। सई के व्यक्तित्व में एक आकर्षण और ताजगी है।

आगे उनका क्या होगा ये कहना कठिन है क्योंकि सलमान की कुछ हीरोइनें फिल्म दुनिया में जमी रहती है, और कुछ गायब हो जाती हैं। बहरहाल, इस फिल्म में तो सई का सितारा बुलंद है। और जहां तक फिल्म के खलनायक किच्चा सुदीप का सवाल है अपने काम में वे उस क्रूर शख्स की तरह लगे हैं जो फिल्म में चरित्र की मांग थी। फिल्म में सलमान का एक डायलॉग है- `हम क्लास और मास दोनों के लिए काम करते हैं’। मास यानी आम जनता की बात सही है लेकिन जहां तक क्लास यानी भद्र या शिष्ट जनों वाली बात है ये डॉयलाग फिट नहीं बैठता।
दबंग-3 (2 1/2*)
निर्देशक- प्रभुदेवा
कलाकार- सलमान खान, सई मांजरेकर , सोनाक्षी सिन्हा, अरबाज खान, किच्चा सुदीप

Next Stories
1 Mardaani 2 Movie Review, Rating: हिंसक प्रतिशोध की गाथा है रानी की ‘मर्दानी 2’
2 Pati Patni Aur Woh Movie Review, Rating: टूटते भरोसे और नाजायज संबंधों की कहानी है ‘पति पत्नी और वो..’
3 Panipat Movie Review: एक पराजय गाथा में लिपटी शौर्य कथा है अर्जुन कपूर की Panipat
ये पढ़ा क्या?
X