ताज़ा खबर
 

कमांडो 2 मूवी रिव्यू: कहानी में दम नहीं है लेकिन शानदार है विद्युत जामवाल की परफॉर्मेंस

Commando 2 Review: इस बात में बिल्कुल भी दो राय नहीं है कि विद्युत जामवाल कमाल के एक्शन हीरो हैं। उनकी परफेक्टली टोन्ड बॉडी उनके किरदार में और जान डाल देती है।
कमांडो 2 फिल्म के ट्रेलर के कुछ सीन।

इस बात में बिल्कुल भी दो राय नहीं है कि विद्युत जामवाल कमाल के एक्शन हीरो हैं। उनकी परफेक्टली टोन्ड बॉडी उनके किरदार में और जान डाल देती है। लेकिन जिस तरह की जान विद्युत जामवाल में है, वैसी फिल्म में नहीं दिखती। फिल्म के हीरो (विद्युत जामवाल) वैंप (ईशा गुप्ता) और साथ में कुछ ऐसे किरदार हैं जो अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे हैं।

विद्युत ने इस फिल्म में बतौर कैप्टन करणवीर सिंह वापसी की है। यह कैप्टर गरीब और पीड़ित वर्ग की मदद करता है। कैप्टन को इंटरनेशनल मनी लॉन्ड्रिंग पर लगाम लगाने की जिम्मेदारी दी जाती है। एक तरफ जहां निडर विद्युत जामवाल को पर्दे पर बुराई के खिलाफ लड़ते देखकर अच्छा लगता है। वहीं दूसरी तरफ कुछ चीजी डायलॉग फिल्म का वजन बढ़ाते हैं।

विलेन्स पुलिस वालों को बॉम्बास्टिक धमकियां दे रहे हैं। इन्हें देखकर लगता है जैसे कि ये किस रियलिटी पर बैठे हैं। यह बात सभी जानते हैं कि हिंदी फिल्म के आखिर में हीरो कहानी खत्म करता है। तो ऐसे में अदा शर्मा का शर्मा का रोल थोड़ा बेमतलब सा लगता है। उनके किरदार का काम केवल हीरो को समझदार दिखाना था। साथ ही फिल्म में थोड़े हल्के-फुल्के मोमेंट्स डालना था। ईशा गुप्ता के वार्डरोब पर अच्छा काम किया गया है।

फिल्म का प्रोडक्शन विपुल अमृतुल शाह, धवल जयंतीलाल गाडा ने की है। रिलायंस एंटरटेनमेंट के बैनर तले बन रही इस फिल्म में अदा शर्मा और ईशा गुप्ता दोनों नजर आएंगी। फ्रेंडी दारूवाला और अदिल भी फिल्म में अहम रोल निभाते नजर आएंगे।यह फिल्म साल 2013 में आई फिल्म कमांडो का सीक्वल है। 2013 में आई इस फिल्म को दिलिप घोष ने डायरेक्ट किया था। यह फिल्म विद्युत जामवाल के लिए एक अच्छी डेब्यू साबित हुई थी। इस फिल्म ने विद्युत को पहचान दिलाई थी। इससे पहले विद्युत केवल साउथ इंडियन फिल्मों में नजर आए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    sach
    Mar 7, 2017 at 6:11 am
    कहानी में दम इसलिए नहीं है... क्योंकि फिल्म में फ़कीर बाबा की बात जुा नहीं थी....
    (0)(0)
    Reply