ताज़ा खबर
 

Andhadhun Movie Review: सस्पेंस और थ्रिलर से भरपूर है आयुष्मान, राधिका और तब्बू की ‘अंधाधुन’

Andhadhun Movie Review: राम राघवन की पिछली फिल्में 'दृश्यम', 'कहानी' और 'स्पेशल' 26 आज भी लोगों के बीच काफी पॉपुलर हैं। ऐसे में ट्रेड पंडित कयास लगा रहे हैं कि फिल्म 'अंधाधुन' भी दर्शकों को पसंद आएगी।

Andhadhun Box Office Collection day 16: फिल्म में आयुष्मान खुराना, तब्बू और राधिका आप्टे मुख्य भूमिका में हैं।

Andhadhun Movie Review: आयुष्मान खुराना, राधिका आप्टे और तब्बू स्टारर फिल्म ‘अंधाधुन’ बॉक्सऑफिस पर रिलीज हो चुकी हैं। फिल्म को श्रीराम राघवन ने डायरेक्ट किया है। इसके पहले वे ‘जॉनी गद्दार’, ‘कहानी’ और ‘बदलापुर’ जैसी फिल्मों को डायरेक्ट कर लोगों का दिल जीत चुके हैं। ‘अंधाधुन’ की कहानी एक मर्डर मिस्ट्री पर आधारित है। फिल्म की कहानी अंत तक सस्पेंस बरकरार रखती है यही कारण है कि फिल्म आपको अपनी सीट न छोड़ने के लिए मजबूर करती है। फिल्म में आयुष्मान खुराना ने एक अंधे म्यूजीशियन का रोल अदा किया है।

‘अंधे होने के नुकसान तो सभी को पता है लेकिन फायदे मैं बताता हूं’  –  फिल्म एक अंधे शख़्स के बारे में है जो पियानो बजाता है। एक दिन उसकी मुलाकात राधिका आप्टे से हो जाती है। दोनों को यह साथ पसंद आता है तो वह एक-दूसरे के संग समय बिताने लगते हैं। आयुष्मान और राधिका की लाइफ में सबकुछ ठीक रहा होता है तभी एक दिन उनकी जिंदगी में तब्बू की एंट्री होती है। तब्बू की एंट्री के बाद से ही आयुष्मान की जिंदगी में भूचाल आ जाता है। दरअसल जिस वक्त आयुष्मान तब्बू के घर पर पियानो बजाने पहुंचते हैं तभी वहां पर मर्डर हो जाता है। अंधाधुन की कहानी में इसी मर्डर मिस्ट्री को सॉल्व किया जाता है। क्या श्रीराम राघवन के निर्देशन में बनी फिल्म ‘अंधाधुन’ में किसने किया है मर्डर? अंधे शख्स का रोल अदा कर रहे आयुष्मान खुराना का क्या कोई ताल्लुक है इस मर्डर से? इन तमाम सवालों के जवाब जानने के लिए आपको सिनेमाघरों का रुख करना पड़ेगा।   फिल्म में हर पल सस्पेंस की परिस्थिति बनी रहती है और फिल्म का सस्पेंस इतने जबरदस्त तरीके से क्रिएट किया गया है कि स्क्रीन से नज़रें हटाना मुश्किल हो जाता है। तब्बू ने इस फिल्म के साथ जबरदस्त वापसी की है और हैदर के बाद उन्होंने एक और यादगार रोल कर वापसी की है।

वे अपने किरदार में इस स्तर पर घुस गई हैं कि उन्हें पर्दे पर देखने में डर लगने लगता है वहीं राधिका आप्टे हमेशा की तरह सहज रही हैं और आयुष्मान के साथ उनकी जोड़ी अच्छी लगती है। वही लीड केरेक्टर आयुष्मान खुराना की बात करे तो उन्होंने अपने करियर की बेस्ट परफॉर्मेंस दी है। आयुष्मान आखिरी बार साल 2017 में रिलीज हुई फिल्म ‘शुभ मंगलम’ में देखे गए थे। अंधे पियानिस्ट के किरदार में आयुष्मान पहले सामान्य लगते हैं लेकिन जैसे जैसे फिल्म आगे बढ़ती है, आयुष्मान की एक्टिंग सर चढ़ कर बोलने लगती है। फिल्म का डायरेक्शन और स्क्रीनप्ले कसा हुआ है। श्रीराम राघवन पिछले कई सालों से शानदार थ्रिलर फिल्में बॉलीवुड को दे रहे हैं। सैफ अली खान और उर्मिला मातोंडकर स्टारर उनकी फिल्म एक हसीना थी को दर्शकों का खास साथ नही ंमिला था, हालांकि उनकी फिल्म बदलापुर बॉक्स ऑफिस पर  सफल साबित हुई थी और अगर ये फिल्म भी माउथ पब्लिसिटी पाने में कामयाब होती है  तो बॉक्सऑफिस पर फिल्म कई रिकॉर्ड भी तोड़ सकती है।  फिल्म को मिलते हैं पांच में से साढ़े चार स्टार्स ।

https://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App