scorecardresearch

ज्योतिष शास्त्र अनुसार राशि के अनुसार करें देवी मां की पूजा-अर्चना; पूरी हो सकती है हर मनोकामना!

नवरात्रि में नौ दिनों तक विधि विधान से मां दुर्गा की पूजा की जाती है। नवरात्रि का समय बहुत ही शुभ माना जाता है। आइए जानते हैं राशि के अनुसार कैसे करें पूजा-

ज्योतिष शास्त्र अनुसार राशि के अनुसार करें देवी मां की पूजा-अर्चना; पूरी हो सकती है हर मनोकामना!
नवरात्रि में राशि के अनुसार करें पूजा

हिंदू धर्म में नवरात्रि का विशेष महत्व है। इस समय देवी हाथी पर सवार हैं। जो अच्छी बारिश, सुख और समृद्धि का प्रतीक है। सर्वोच्च शक्ति देवी दुर्गा की पूजा सबसे उत्तम मानी जाती है। इस बार नवरात्रि 9 दिनों की है, नवरात्रि 5 अक्टूबर को विजयादशमी को समाप्त होगी। शारदीय नवरात्रि का सबसे अधिक महत्व है। नवरात्रि का व्रत देश-विदेश में बड़ी आस्था के साथ मनाया जाता है। भगवान श्री राम ने विजयादशमी के दिन शारदीय नवरात्रि के दौरान देवी को प्रसन्न करके रावण का वध भी किया था।

शक्ति की देवी दुर्गा देवी की भक्ति के साथ पूजा करने से आज भी भक्तों को शांति और शक्ति मिलती है। शारदीय नवरात्र शुरू होने से पहले भक्तों में उत्सुकता रहती है कि दुर्गा माता किस वाहन से आकर अपने पूरे परिवार के साथ वापस आएंगी। देवी दुर्गा हमेशा अपने भक्तों की रक्षा करती हैं। लेकिन नवरात्रि में राशि अनुसार उपाय करने से भक्तों को दुर्गा की विशेष कृपा प्राप्त होती है। नवरात्रि के इन नौ दिनों में भक्ति भाव से पूजा करना जरूरी है, राशि के अनुसार उपाय करने से भक्तों को दुर्गा की विशेष कृपा प्राप्त होती है। आइए जानते हैं किस राशि के अनुसार पूजा कैसे करें-

मेष राशि

मेष राशि वालों के लिए स्कंदमाता की पूजा विशेष फलदायी होती है। कोई भी मीठा भोजन या दूध से बना हलवा देवी को अर्पित करना चाहिए और सिद्धकुंजिका स्तोत्र के पाठ के साथ लाल फूल भी चढ़ाने चाहिए। यह सब करने से मां स्कंदमाता की कृपा आप पर सदैव बनी रहेगी।

वृषभ राशि

वृष राशि के लोग इस नवरात्रि में सफेद चीजें चढ़ाकर महागौरी की पूजा करें, वृष राशि वालों के लिए यह बेहद शुभ रहेगा। इस नवरात्रि में सप्तश्लोकी दुर्गा का पाठ करने से आपकी आर्थिक स्थिति में काफी सुधार हो सकता है।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के लोगों को दुर्गा का ब्रह्मचारिणी रूप की पूजा करनी चाहिए। इससे घर में सुख-शांति आएगी। ब्रह्मचारिणी को चीनी और पंचामृत का भोग लगाना चाहिए। इससे लोगों पर माता ब्रह्मचारिणी की विशेष कृपा बनी रहेगी।

कर्क राशि

चंद्रमा कर्क राशि का स्वामी है, कर्क राशि की मां शैलपुत्री को दही, चावल और बताशा चढ़ाएं और आशीर्वाद प्राप्त करें। इससे आपको शारीरिक कष्टों से मुक्ति मिलेगी। मां दुर्गा के साथ-साथ भगवान शिव की भी पूजा करनी चाहिए।

सिंह राशि

धन प्राप्ति के लिए सिंह राशि के लोगों को दुर्गा के कुष्मांडा स्वरूप का स्मरण करना चाहिए और उनकी पूजा करनी चाहिए। उन्हें हल्दी चढ़ाएं और कपूर से मां की आरती करें। साथ ही दुर्गा सप्तशती का पाठ करना न भूलें।

कन्या राशि

कन्या राशि वालों के लिए भक्ति भाव से ब्रह्मचारिणी देवी की पूजा करना विशेष फलदायी हो सकता है। इसके लिए देवी को दूध और चावल का हलवा अर्पित करना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

तुला राशि

दुर्गा सप्तशती का पाठ करने के बाद मां महागौरी को लाल वस्त्र अर्पित करें। इससे आपके परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी।

वृश्चिक राशि

इस राशि के जातकों के लिए मां दुर्गा के कालरात्रि स्वरूप की पूजा करना शुभ रहेगा। नवरात्रि में 9 दिनों तक सुबह-शाम देवी की आरती करना न भूलें और जसवद के फूल और गुड़ भी चढ़ाएं।

धनु राशि

दुर्गा सप्तशती का पाठ करें और धन प्राप्ति के लिए नवरात्रि के दौरान देवी को पीली मिठाई और तिल का तेल अर्पित करें।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों की मनोकामना पूरी करने के लिए उन्हें माता कात्यायनी को नारियल और बर्फ का भोग लगाना चाहिए। नवरात्रि में इस उपाय को करना बहुत ही शुभ माना जाता है।

कुंभ राशि

देवी भगवती के कालरात्रि रूप को शीरा अर्पित करने और देवी कवच ​​के जाप से आर्थिक वृद्धि होती है, इसी तरह नवरात्रि में तेल का दीपक जलाने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

मीन राशि

इस राशि के लोगों को नवरात्रि के नौ दिनों तक दुर्गा सप्तशती का पाठ करना चाहिए और मां चंद्रघंटा को केले और पीले फूल चढ़ाएं। इससे आपकी सभी समस्याओं का समाधान हो जाएगा।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 28-09-2022 at 01:58:05 pm
अपडेट