ताज़ा खबर
 

शमी के पेड़ की पूजा करने से शनि-दोष दूर होने की है मान्यता, जानिए क्या कहता है ज्योतिष शास्त्र

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक शमी के पेड़ की पूजा करने से घर में शनि देव का प्रकोप कम होता है। साथ ही शमी के पेड़ की लकड़ी यज्ञ में आहुति के लिए भी बहुत पवित्र मानी गई है।

Author नई दिल्ली | June 26, 2019 6:43 PM
सांकेतिक तस्वीर।

हिन्दू धर्म शास्त्रों में पेड़-पौधों में भी ईश्वर के वास की बात कही गई है। मान्यताओं के अनुसार कुछ पेड़ ऐसे हैं जो धार्मिक दृष्टिकोण से बेहद खास होते हैं। शमी के पेड़ को इसी में शामिल किया गया है। माना जाता है कि शमी के पेड़ को घर में लगाने से देवी-देवताओं की कृपा बनी रहती है। साथ ही घर में सुख-समृद्धि भी आती है। वहीं ज्योतिष शास्त्र में शमी के पेड़ का संबंध शनि ग्रह से माना गया है। ज्योतिष शास्त्र के जानकार कहते हैं कि शनि-दोष से छुटकारा पाने के लिए शमी के पेड़ की पूजा करनी चाहिए। आगे जानते हैं कि इस बारे में ज्योतिष शास्त्र क्या कहता है।

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक शमी के पेड़ की पूजा करने से घर में शनि देव का प्रकोप कम होता है। साथ ही शमी के पेड़ की लकड़ी यज्ञ में आहुति के लिए भी बहुत पवित्र मानी गई है। शनि दोष से पीड़ित व्यक्तियों के लिए शनिवार के दिन इस पेड़ की लकड़ी से हवन करने की सलाह ज्योतिषियों द्वारा दी जाती है। इसके अलावा ज्योतिष शास्त्र में कहा कहा गया है कि शनिवार के दिन शाम के समय शमी पेड़ के नीचे दीपक जलाने से शीघ्र ही शनि दोष दूर होता है। वहीं जो जातक जातक शनि की साढ़ेसाती और ढैया से पीड़ित हैं उन्हें भी शमी पेड़ की पूजा करने की सलाह दी जाती है।

साथ ही साथ शमी का वृक्ष घर के ईशान कोण (पूरब और उत्तर) में लगाना लाभकारी माना गया है। ज्योतिष के जानने वाले ऐसा कहते हैं कि इस दिशा में शमी का पेड़ लगाने से शनि का अशुभ प्रभाव कम होता है। इसके अलावा ज्योतिषी यह भी बताते हैं कि अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि दोष के कारण दुर्घटना के योग हैं तो उसमें भी शनि पेड़ की पूजा बहुत लाभकारी साबित होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App