ताज़ा खबर
 

रात में घर की साफ-सफाई करने के लिए क्यों किया जाता है मना, जानिए

साफ-सफाई करने से घर तो साफ-सुथरा हो जाता है लेकिन शरीर गंदी हो जाती है। यानी कि धूल और अन्य कीटाणु शरीर से चिपक जाते हैं जो सेहत को काफी नुकसान पहुंचाते हैं।

Author नई दिल्ली | November 15, 2018 12:36 PM
सांकेतिक तस्वीर।

साफ-सुथरा घर हर किसी को अच्छा लगता है। प्रत्येक व्यक्ति की यह ख्वाहिश होती है कि वह सदैव साफ-सुथरे घर में ही रहे। लोग अपने घर को साफ-सुथरा रखने के लिए सफाई पर विशेष ध्यान भी देते हैं। लेकिन आपने सुना होगा कि रात के समय घर की साफ-सफाई करने के लिए मना किया जाता है। क्या आप जानते हैं कि लोग ऐसा क्यों कहते हैं? इस मान्यता के पीछे आखिर क्या वजह है? यदि नहीं तो हम आपको इस बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं। ध्यान रहे कि घर में गंदगी का होना स्वास्थ्य के लिहाज से बुरा माना गया है। गंदी जगहों पर रहने से स्वास्थ्य संबंधी कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। कहने का तात्पर्य यह है कि अच्छी सेहत के लिए घर का साफ-सुथरा होना बहुत ही जरूरी है।

साफ-सफाई करने से घर तो साफ-सुथरा हो जाता है लेकिन शरीर गंदी हो जाती है। यानी कि धूल और अन्य कीटाणु शरीर से चिपक जाते हैं जो सेहत को काफी नुकसान पहुंचाते हैं। दिन में घर की साफ-सफाई करने के बाद सामान्य तौर पर लोग स्नान कर लेते हैं। लेकिन रात की सफाई के बाद ऐसा नहीं देखने को मिलता। इससे व्यक्ति के बीमार होने की संभावना काफी बढ़ जाती है। इस वजह से रात में साफ-सफाई करने के लिए मना किया जाता है।

पुराणों में कहा गया है कि माता लक्ष्मी साफी-सुथरी जगहों पर ही निवास करती हैं। ऐसे में घर में गंदगी होने पर परिवार के लोगों को धन की कमी से जूझना पड़ता है। इसीलिए कहा जाता है कि रात होने से पहले ही प्रतिदिन घर की साफ-सफाई कर लेनी चाहिए। ताकि रात के समय में घर में भी माता लक्ष्मी का आगमन हो सके। और परिवार में संपन्नता आए। साथ ही रात के समय घर की सफाई करने से लक्ष्मी जी के दूर जाने की भी बात कही गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App