ताज़ा खबर
 

पौष अमावस्या कब है? जानिये क्यों इस दिन पितृ तर्पण करने की है मान्यता

Amavasya 2021: अमावस्या के दिन नदी में स्नान करने और दान-दक्षिणा को भी बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है

Paush Amavasya, Paush Amavasya date, Paush Amavasya date 2021, amavasya 2021मान्यता है कि पौष अमावस के दिन पूजा-पाठ, धार्मिक अनुष्ठान, दान-पुण्य, स्नान और मंत्रोच्चारण से लोगों को सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं

Paush Amavasya: हिंदू पंचांग के अनुसार एक वर्ष में कुल मिलाकर 12 अमावस्या आते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जितना महत्वपूर्ण पूर्णिमा होता है, अमावस्या की अहमियत भी उतनी ही होती है। बता दें कि कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि को अमावस्या कहते हैं, जबकि शुक्ल पक्ष की आखिरी रात पूर्णिमा की होती है। पौष माह के कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि को पौष अमावस्या कहते हैं। साल 2021 में पौष अमावस्या 13 जनवरी, दिन बुधवार को पड़ रहा है। आइए जानते हैं इस दिन से जुड़ी खास बातें –

क्यों किया जाता है पितृ तर्पण: ज्योतिष शास्त्र के विद्वानों का मानना है कि अमावस्या का दिन पितरों का होता है, इसलिए इस दिन पितृ दोष के लिए उपाय करना भी बहुत कारगर माना जाता है। कहते हैं कि इस दिन पितरों के लिए उपाय करने से बहुत जल्द पितृ दोष से मुक्ति पाई जा सकती है। अमावस्या तिथि के दिन दक्षिण दिशा की ओर मुख करके दिवंगत पितरों के लिए पितृ तर्पण करें।

स्नान-दान है विशेष: अमावस्या के दिन नदी में स्नान करने और दान-दक्षिणा को भी बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि स्नान-दान करने से व्यक्ति के सभी पाप और नकारात्मक विचार धुल जाते हैं। लोक मान्यता है कि पौष अमावस के दिन पूजा-पाठ, धार्मिक अनुष्ठान, दान-पुण्य, स्नान और मंत्रोच्चारण से लोगों को सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं।

क्या है महत्व: इस दिन व्रत रखने से मान्यता है कि पितृ दोष और कालसर्प दोष से मुक्ति मिल जाती है। साथ ही कहा जाता है कि इस दिन गंगा नदी में डुबकी लाने से भक्तों को मोक्ष की प्राप्ति होती है। ऐसा भी माना जाता है कि जिन लोगों की कुंडली में पितृदोष या संतानहीन योग होता है, उन्हें पौष अमावस्या के दिन उपवास रखने से लाभ हो सकता है।

क्या है शुभ मुहूर्त: 

अमावस्या तिथि प्रारंभ: मंगलवार 12 जनवरी, दोपहर 12 बजकर 22 मिनट से
अमावस्या तिथि की समाप्ति: बुधवार 13 जनवरी, सुबह 10 बजकर 29 मिनट पर

कब-कब हैं 2021 में अमावस्या: 

12 जनवरी 2021, मंगलवार – दर्श अमावस्या
13 जनवरी 2021, बुधवार – पौष अमावस्या
11 फरवरी 2021, गुरुवार – माघ अमावस्या
13 मार्च, 2021, शनिवार – फाल्गुनी अमावस्या
11 अप्रैल 2021, रविवार – दर्श अमावस्या
12 अप्रैल 2021, सोमवार – चैत्र अमावस्या
11 मई 2021, मंगलवार – वैशाख अमावस्या
10 जून 2021, गुरुवार – ज्येष्ठ अमावस्या
9 जुलाई 2021, शुक्रवार – आषाढ़ आमावस्या
8 अगस्त 2021, रविवार – श्रावण अमावस्या
7 सितंबर 2021, मंगलवार – भाद्रपद अमावस्या
6 अक्तूबर 2021, बुधवार – आश्विन अमावस्या
4 नवंबर 2021, गुरुवार – कार्तिक अमावस्या
4 दिसंबर 2021, शनिवार – मार्गशीर्ष अमावस्या

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Chanakya Niti: पैसों के नुकसान के लिए जिम्मेदार होती हैं मनुष्य की ये 3 आदतें
2 Horoscope Today, 10 January 2021: कन्या राशि के जातक निराशा से बचें, वृश्चिक राशि वाले सेहत का रखें ध्यान
3 कब है साल का पहला प्रदोष व्रत? पूजा विधि, मुहूर्त और क्या है इस व्रत का महत्व, जानिए
ये पढ़ा क्या?
X