ताज़ा खबर
 

जानिए चूड़ियों के रंग का पति की लंबी उम्र से क्या है कनेक्शन

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मेष राशि की पत्नियों को लाल या फिर सफेद रंग की चूड़ी पहननी चाहिए। वृषभ राशि की पत्नियां गोल्डन या भूरे रंग की चूड़ी पहनें।

Author नई दिल्ली | June 19, 2018 8:23 PM
सांकेतिक तस्वीर।

प्रत्येक पत्नी की यह ख्वाहिश होती है कि उसका पति दीर्घ आयु हो। वह इसके लिए तमाम सारे उपाय भी करती है। लेकिन क्या आपको पता है कि आपकी चूड़ियों के रंग से भी आपके पति की आयु निर्धारित होने की मान्यता है। जी हां, वास्तु शास्त्र में इसका विस्तार से उल्लेख किया गया है कि पत्नी के द्वारा किस रंग की चूड़ियां पहनी जानी चाहिए। इसके साथ ही ज्योतिष शास्त्र में भी इसका जिक्र मिलता है कि राशि के अनुसार पत्नी की चूड़ियों का रंग क्या होना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि सही रंग की चूड़ियां पहनने से पति दीर्घ आयु होता है और घर में बरकत आती है। आज हम इसी बारे में विस्तार से बात करने वाले हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मेष राशि की पत्नियों को लाल या फिर सफेद रंग की चूड़ी पहननी चाहिए। वृषभ राशि की पत्नियां गोल्डन या भूरे रंग की चूड़ी पहनें। मिथुन राशि की मैरून या गुलाबी रंग की और कर्क राशि की पीला या नारंगी रंग की चूड़ियां पहनें। वहीं, सिंह राशि की पत्नियां हरा और फिरोजी और कन्या राशि की बैंगनी या मल्टीपल कलर की चूड़ियां पहन सकती हैं। तुला की फिरोजी, नीला और वृश्चिक राशि की हल्का नीला, काला और धनु की गुलाबी, पीला और मकर के नारंगी, मैरून और कुंभ की सफेद, गोल्डन और मीन की भूरा, लाल रंग की चूड़ियां पहनें।

HOT DEALS
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 25000 MRP ₹ 26000 -4%
    ₹0 Cashback
  • Honor 8 32GB Pearl White
    ₹ 14210 MRP ₹ 30000 -53%
    ₹1500 Cashback

बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में प्रत्येक राशि की कुंडली के सातवें घर को पति का हिस्सा माना गया है। ऐसे में पति के लिए शुभ रंग की चूड़ियों को पहनने से उनकी उम्र लंबी होने की मान्यता है। ऐसा कहा जाता है कि सही रंग की चूड़ियां पहनने से परिवार के बिजनेस में भी तरक्की होती है। एक अन्य मान्यता के अनुसार पत्नी द्वारा अपने दोनों हाथों में दो-दो सोने की चूड़ियां पहनने से पति के साथ रिश्ता अच्छा बना रहता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App