ताज़ा खबर
 

विदेश यात्रा का आपकी हस्तरेखा से क्या है कनेक्शन, जानिए

यदि जीवन रेखा से निकल रही शाखा सामान्य रूप से वाई का निशान बना रही हो तो इसे अशुभ माना जाता है। हस्तरेखा की मानें तो यह रेखा जीवन शक्ति का ह्रास करने वाली होती है।

Author नई दिल्ली | Updated: January 9, 2019 12:59 PM
प्रतीकात्मक फोटो

हिंदू धर्म में हस्तरेखा शास्त्र का विशेष महत्व है। हस्तरेखा शास्त्र के मुताबिक, व्यक्ति की हथेली की रेखाओं के आधार पर उसके बारे में काफी कुछ जाना जा सकता है। किसी भी व्यक्ति की हथेली पर मुख्य रूप से तीन रेखाएं होती हैं। ये हैं- जीवन रेखा, मस्तिष्क रेखा और हृदय रेखा। हथेली पर स्थित जीवन रेखा का संबंध व्यक्ति की आयु से है। मस्तिष्क रेखा से व्यक्ति की मानसिक स्थिति का पता चलता है। इसके अलावा भाग्य रेखा व्यक्ति के भाग्य को दर्शाती है। आज हम आपको हथेली के अंत में जीवन रेखा और मणिबंध रेखा के बीच बनने वाले अंग्रेजी के ‘Y’ अक्षर की तरह दिखने वाले निशान के बारे में बता रहे हैं। हथेली पर स्थित इस निशान से विदेश यात्रा के योग के बारे में बताया जाता है।

हस्तरेखा के अनुसार, यदि जीवन रेखा से कोई शाखा निकलकर चंद्र पर्वत की ओर जा रही हो और इससे उल्टे वाई का निशान बनता हो तो इसका खास महत्व है। यह निशान दिखने में तो अमूमन सामान्य रेखा की तरह ही लगता है लेकिन व्यक्ति के जीवन पर इसका व्यापक प्रभाव पड़ता है। यदि जीवन रेखा से निकल रही लाइन चंद्र पर्वत पर जाकर रुक रही हो, तो इससे बना वाई का निशान व्यक्ति के लिए अत्यंत शुभ प्रभाव देने वाला माना गया है। कहते हैं कि ऐसे व्यक्ति अपने जीवन में देश के अलावा विदेश यात्रा भी करते हैं। ये लोग आमतौर पर अपना व्यापार करते हैं। साथ ही इनके बिजनेस के ब्रांच विदेशों में भी होते हैं। ये आर्थिक रूप से संपन्न और खुशहाल जीवन जीते हैं।

यदि जीवन रेखा से निकल रही शाखा सामान्य रूप से वाई का निशान बना रही हो तो इसे अशुभ माना जाता है। हस्तरेखा की मानें तो यह रेखा जीवन शक्ति का ह्रास करने वाली होती है। जिस भी उम्र में यह रेखा जीवनरेखा को काट रही होती है, उस उम्र से व्यक्ति के जीवन की शक्ति कमजोर होने लगती है। इस स्थिति में व्यक्ति का स्वास्थ्य काफी खराब हो जाता है। वह व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से काफी कमजोरी महसूस करने लगता है। ऐसे में इस रेखा को लेकर सावधान हो जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 नींबू-लौंग के इस उपाय से शनि की साढ़ेसाती और ढैया दूर होने की है मान्यता
2 उत्तर में किचन होने से व्यापार में लाभ मिलने की है मान्यता, जानिए अन्य दिशाओं के प्रभाव
3 राशि के हिसाब से जानिए 2019 में कौन सा नंबर है आपके लिए लकी