ताज़ा खबर
 

जीवनसाथी की सेहत का आपकी हस्तरेखा से क्या है कनेक्शन, जानिए

कुछ लोगों की कनिष्ठा अंगुली के नीचे एक टेढ़ी-मेढ़ी रेखा पाई जाती है। और यह रेखा नीचे की ओर जा रही होती है। हस्तरेखा विज्ञान में इसे शुभ नहीं माना गया है।

Palm Lines, Palm Lines facts, Palm Lines health, Palm Lines and health, Palm Lines and partner, Partner Health, Partner Health facts, Partner Health signs, Partner Health and hastrekha, religion newsसांकेतिक तस्वीर।

हस्तरेखा विज्ञान बड़ा ही दिलचस्प है। इसमें हाथ की रेखाओं के आधार पर व्यक्ति के स्वभाव और उसके भविष्य से जुड़ी तमाम बातों के बारे में बताया गया है। क्या आप जानते हैं कि आपकी हस्तरेखा का आपके जीवनसाथी की सेहत से गहरा कनेक्शन है? जी हां, हस्तरेखा विज्ञान में इस बारे में विस्तार से बताया गया है। मालूम हो कि अंगूठे के नीचले हिस्से को शुक्र पर्वत कहा जाता है। कुछ लोगों के शुक्र पर्वत पर छोटी-छोटी रेखाओं का जाल बना होता है। ऐसी मान्यता है कि ऐसा होना शुभ नहीं होता है। हस्तरेखा के मुताबिक ऐसे लोगों के पार्टनर की सेहत अच्छी नहीं रहती। कहते हैं कि ऐसे लोगों का पार्टनर बार-बार बीमार पड़ता रहता है।

आपके पार्टनर की सेहत का संबंध आपकी कनिष्ठा अंगुली से भी बताया गया है। कुछ लोगों की कनिष्ठा अंगुली के नीचे एक टेढ़ी-मेढ़ी रेखा पाई जाती है। और यह रेखा नीचे की ओर जा रही होती है। हस्तरेखा विज्ञान में इसे शुभ नहीं माना गया है। कहते हैं कि जिन लोगों की कनिष्ठा अंगुली पर ऐसी रेखा पाई जाती है, उनके पार्टनर की सेहत अच्छी नहीं रहती। माना जाता है कि ऐसे लोगों का पार्टनर शारीरिक रूप से काफी कमजोर होता है।

बता दें कि हाथ की इन दशाओं को ठीक करने के लिए कुछ उपाय भी बताए गए हैं। कहते हैं कि इन उपायों को करने से पार्टनर की सेहत अच्छी हो सकती है। ऐसा कहा जाता है कि इन लोगों को मंगलवार के दिन गरीब और जरूरतमंद लोगों को भोजन कराना चाहिए। कहते हैं कि भोजन कराने का कार्य यदि बीमार व्यक्ति के द्वारा किया जाए तो ज्यादा अच्छा रहता है। माना जाता है कि इससे उसकी सेहत में सुधार आता है और परिवार में खुशियों का आगमन होता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सड़क पर पड़ी इन पांच चीजों को लांघने से बुरा होने की है मान्यता
2 Devshayani Ekadashi 2018: जानिए देवशयनी एकादशी का महत्व और व्रत कथा
3 Devshayani Ekadashi 2018: जानें क्या है पूजा की सही विधि और समय
ये पढ़ा क्या?
X