X

ऐसी हस्तरेखा वालों को पढ़ाई से सर्वाधिक लाभ मिलने की है मान्यता

कई बार सूर्य पर्वत से सीधी निकलने वाली रेखा अपने ऊपरी छोर से ही दो भांगों में बंट जाती है। इसे भी पढ़ाई के दृष्टिकोण से लाभदायक नहीं माना जाता है।

हस्तरेखा विज्ञान के मुताबिक हाथ में कुछ ऐसी रेखाएं होती हैं जो बताती हैं कि किस व्यक्ति को पढ़ाई से कितना लाभ मिलने वाला है। यानी कि कौन सा व्यक्ति पढ़ाई-लिखाई के क्षेत्र में काफी उन्नति कर सकता है। आज हम हाथ की इन्हीं रेखाओं के बारे में बात करने जा रहे हैं। हस्तरेखा के अनुसार जिन लोगों की हथेली के सूर्य पर्वत के नीचे एक सीधी रेखा हो, उन्हें पढ़ाई से काफी लाभ मिलने वाला होता है। माना जाता है कि सूर्य पर्वत से नीचे निकलने वाली रेखा जितनी बड़ी और गहरी होगी, उतना ही अधिक लाभ मिलेगा। यहां पर यह बात ध्यान रखने वाली होती है कि यदि सूर्य पर्वत से नीचे की ओर निकलने वाली रेखा आगे चलकर दो भागों में बंट जाती हो तो इससे लाभ नहीं मिलता है।

सूर्य पर्वत से नीचे की ओर निकलने वाली रेखा कई बार तीन भागों में भी बंट जाती है। ऐसा होना भी पढाई-लिखाई के दृष्टिकोण से शुभ नहीं माना जाता। कहते हैं कि ऐसे लोग अपने जीवन में पढ़ाई तो खूब करते हैं। लेकिन इनके सब्जेक्ट्स बार-बार बदलते रहते हैं। हालांकि अंत में इन्हें अपनी पढ़ाई से काफी लाभ मिलता है। और ये लोग अपनी रुचि के हिसाब से करियर में आगे बढ़ते हैं। धीरे-धीरे बड़ी सफलताएं भी हासिल होने लगती हैं।

कई बार सूर्य पर्वत से सीधी निकलने वाली रेखा अपने ऊपरी छोर से ही दो भांगों में बंट जाती है। इसे भी पढ़ाई के दृष्टिकोण से लाभदायक नहीं माना जाता है। कहते हैं कि ये लोग अपने जीवन में पढ़ाई तो खूब करते हैं लेकिन अपना करियर पढ़ाई से हटकर किसी और क्षेत्र में बनाते हैं। इसके अलावा यदि यह रेखा अनामिका अंगुली के ऊपर चढ़ जाए तो ऐसे व्यक्ति को पढ़ाई से कोई लाभ नहीं मिलता। माना जाता है कि ऐसे लोगों का पढ़ाई-लिखाई में बिलकुल भी मन नहीं लगता।

  • Tags: Religion,
  • Outbrain
    Show comments