ताज़ा खबर
 

जानिए, ज्योतिष शास्त्र में मोटापा से निजात पाने के लिए क्या बताए गए हैं उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के शरीर में जो मोटापा का कारक ग्रह होता है, वह है बृहस्पति। बृहस्पति मोटापा या शरीर में चर्बी का मालिक होता है।

सांकेतिक तस्वीर।

ज्योतिष शास्त्र में मोटापा को ग्रह से जोड़कर देखा गया है। ज्योतिष के जानकार ऐसा मानते हैं कि अधिक मोटापे के लिए बृहस्पति ग्रह जिम्मेवार है। ज्योतिष के मुताबिक दो तरह के मोटे लोग होते हैं। एक मोटे होते हैं जो खाने की वजह से मोटे हो जाते हैं। साथ ही एक मोटे ऐसे होते हैं जिनके मोटापे की प्रवृत्ति होती है, इन दोनों में बड़ा फर्क है। जो खाने की वजाह से मोटे होते हैं उनकी कुंडली में जो लोभ वाला ग्रह है, जो लोभी बनाता है और भोजन की तरफ धकेलता है वह थोड़ा सा गड़बड़ होता है। और दूसरे वो होते हैं जिनकी प्रवृत्ति होती है मोटापे की। आगे जानते हैं कि ऐसे में मोटापे से निजात पाने के लिए ज्योतिष शास्त्र में क्या उपाय बताए गए हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के शरीर में जो मोटापा का कारक ग्रह होता है, वह है बृहस्पति। बृहस्पति मोटापा या शरीर में चर्बी का मालिक होता है। इसलिए जब बृहस्पति प्रधान कुंडली हो तो ऐसे में मोटापा होने की संभावना अधिक होती है। साथ ही बृहस्पति यदि खाने वाले भाव को प्रभावित करने लगे या खाने वाले भाव से भी उसका संबंध हो तो व्यक्ति पेटु हो जाता है। इसके अलावा बृहस्पति यदि खाने वाले भाव को प्रभावित नहीं कर रहा है। लेकिन यदि कुंडली के केंद्र स्थानों में है तो ऐसी दशा में मोटापे की प्रवृत्ति होती है। मोटे तौर पर बृहस्पति ही वो ग्रह है जो व्यक्ति को मोटा बनाता है। मोटापे के लिए दूसरा महत्वपूर्ण ग्रह बुध है। इससे निजात पाने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कुछ उपाय बताए गए है। माना जाता है कि इन उपाय को करने से मोटापे के लिए जिम्मेवार ग्रह बृहस्पति और बुध शांत होता है। ज्योतिष के मुताबिक रोज सुबह और शाम 108 बार ॐ शं शनैश्चराय नमः।। इस मंत्र का जाप करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि मोटापा को कम करने के लिए शनि ग्रह की अहम भूमिका होती है। दूसरा काम ये करना चाहिए कि शनिवार की शाम पीपल के वृक्ष के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए। साथ ही पीपल के वृक्ष की एक बार परिक्रमा भी करनी चाहिए।

Next Stories
1 किसी भी मंदिर में जाते हैं तो प्रवेश के इन नियमों का रखें ध्यान
2 Amalaki Ekadashi 2019: यदि करते हैं आमलकी एकादशी तो व्रत और पारण में रखें इन बातों का खास ख्याल
3 Amalaki Ekadashi 2019: मोक्ष प्राप्ति के लिए किया जाता है आमलकी एकादशी का व्रत, जानिए पूजा-विधि और व्रत-कथा
ये पढ़ा क्या?
X