ताज़ा खबर
 

जानिए, शास्त्रों में कबूतर को दाना खिलाने के क्या बताए गए हैं लाभ

कबूतर माता लक्ष्मी के भक्त होते हैं। घर में कबूतरों का वास होने पर घर में लक्ष्मी की वृद्धि होती है। साथ ही सुख-शांति में भी वृद्धि होती है।

कबूतरों को दाना खिलाते लोग।

शास्त्रों में कबूतर को दाना खिलाने के कई लाभ बताए गए हैं। हिन्दू धर्म को मनाने वाले आज भी अपने घर या आसपास कबूतरों को दाना खिलाते हैं। कबूतरों को दाना कब खिलना चाहिए या कहां खिलाना लाभदायक होता है, यह बात आज भी बहुत कम लोग जानते हैं। क्या आपने कभी सोचा की आखिर लोग कबूतरों को दाना क्यों खिलाते हैं? साथ ही कबूतरों को दाना खिलाने के क्या लाभ हैं? यदि नहीं तो अभी जान लीजिए।

कहते हैं कि कबूतरों को दाना खिलाने से पुण्य की प्राप्ति होती है। सभी परिंदे बहुत ही चंचल और मासूम होते हैं। लेकिन कबूतर चंचल कम और मासूम ज्यादा होते हैं। कबूतरों को दाना खिलाना लोगों को बहुत ही अच्छा लगता है। हमारे शास्त्रों में कबूतरों को शांति का प्रतीक माना गया है। साथ ही कबूतर अपने जीवनसाथी के लिए बहुत ही ईमानदार होते हैं। ऐसा कहा जाता है कि कबूतरों को दाना खिलाने के लिए अपने छत का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। कबूतर को दाना डालना एक पुण्य का काम है, लेकिन इसमें कुछ सावधानी रखनी चाहिए।

आपने शायद कभी सुना भी होगा कि घर के छत पर कबूतरों को दाना न डालकर आंगन में डालना चाहिए। क्योंकि इसमें बुध और राहु की युति होती है। ज्योतिष के अनुसार जिस व्यक्ति की कुंडली में बुध और राहु का मेल होता है तो जातक की स्थिति खराब हो जाती है। इतना ही नहीं यहां तक की इंसान की हालत पागलों वाली हो जाती है। जिससे व्यक्ति उल्टी-सीधी हरकतें करने लगता है। व्यक्ति इतना पागल हो जाता है कि इस अवस्था में कोई भी बड़ा अपराध कर बैठता है। कबूतर माता लक्ष्मी के भक्त होते हैं। घर में कबूतरों का वास होने पर घर में लक्ष्मी की वृद्धि होती है। साथ ही सुख-शांति में भी वृद्धि होती है।

अगर किसी कारण से समय पर कबूतरों को दाना नहीं डाला जाता है तो दाने के लिए ये अपने आप शोर करने लगते हैं। ऐसे में यदि आप कबूतरों को दना डालते हैं तो आपने घर में लक्ष्मी की वृद्धि होती है। ज्योतिष में कबूतर को बुध ग्रह से जोड़कर देखा गया है। साथ ही छत को राहु से जोड़ा गया है। ऐसे में लोग जब अपने छत पर दाना डालते हैं तो कबूतर छत पर दाना खाने के लिए आते हैं। इससे बुध और राहु का मेल हो जाता है। लेकिन कबूतर छत पर दाना खाने के क्रम में बीट भी करते हैं। ऐसे में छत का गंदा होने का सीधा संबंध राहु से है। जब राहु खराब हो जाएगा तो उसका बुरा परिणाम मिलेगा। इसलिए कबूतर को दाना खिलाते समय इन बातों का ध्यान रखने की सलाह दी जाती है ताकि राहु खराब न हो।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ज्योतिष के अनुसार बालों से जानिए कैसा होगा भाग्य
2 जानिए, क्यों नहीं की जाती है सृष्टि के रचनाकार ब्रह्मा की पूजा
3 जानिए, हनुमान जी की पूजा में महिलाओं द्वारा कौन सी चीजें नहीं चढ़ाने की है मान्यता
कोरोना टीकाकरण
X