ताज़ा खबर
 

Vivah Muhurat 2020: फरवरी में सबसे ज्यादा हैं विवाह के मुहूर्त, जानिए पूरे साल कितने दिन बजेंगी शहनाई

Hindu Marriage Muhurat 2020 (विवाह मुहूर्त 2020): इस साल शादी ब्याह के कई शुभ मुहूर्त पड़ेंगे। जिसमें सबसे ज्यादा मुहूर्त फरवरी में और उसके बाद मई में हैं। यहां देखिए जनवरी से लेकर दिसंबर तक विवाह के सभी शुभ मुहूर्त नक्षत्र समेत...

शादी ब्याह के दिसंबर तक के सभी मुहूर्त यहां देखें।

Wedding Dates 2020 (Shadi Muhurat 2020): हिंदू धर्म में कोई भी शुभ कार्य शुभ मुहूर्त को देखकर ही किया जाता है। शादी ब्याह का सीजन शुरू हो चुका है। शास्त्रों के अनुसार शादी को बेहद ही पवित्र और मांगलिक कार्य माना गया है। जिसे केवल शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि और शुभ नक्षत्र में ही किया जाता है। इस साल शादी ब्याह के कई शुभ मुहूर्त पड़ेंगे। जिसमें सबसे ज्यादा मुहूर्त फरवरी में और उसके बाद मई में हैं। यहां देखिए जनवरी से लेकर दिसंबर तक विवाह के सभी शुभ मुहूर्त नक्षत्र समेत…

शादी के शुभ मुहूर्त (Vivah Muhurat 2020):

26 जनवरी, रविवार, माघ शु. द्वितीया, धनिष्ठा नक्षत्र
29 जनवरी, बुधवार, माघ शु. चतुर्थी, उ.भाद्रपद नक्षत्र
30 जनवरी, गुरु, माघ शु. पंचमी, उ.भाद्रपद, रेवती नक्षत्र
31 जनवरी, शुक्र, माघ शु. षष्ठी, रेवती, अश्विनी नक्षत्र
1 फरवरी, शनि, माघ शु. सप्तमी, अश्विनी नक्षत्र
3 फरवरी, सोम, माघ शु. नवमी, रोहिणी नक्षत्र
4 फरवरी, मंगल, माघ शु. दशमी, रोहिणी नक्षत्र
9 फरवरी, रवि, माघ पूर्णिमा, मघा नक्षत्र
10 फरवरी, सोम, फाल्गुन कृ. प्रतिपदा, मघा नक्षत्र
11 फरवरी, मंगल, फाल्गुन कृ. तृतीया, उ.फाल्गुन नक्षत्र
14 फरवरी, शुक्र, फाल्गुन कृ. षष्ठी, स्वाति नक्षत्र
15 फरवरी, शनि, फाल्गुन कृ. सप्तमी, अनुराधा नक्षत्र
16 फरवरी, रवि, फाल्गुन कृ. अष्टमी, अनुराधा नक्षत्र
25 फरवरी, मंगल, फाल्गुन शु. द्वितीया, उ.भाद्रपद नक्षत्र
26 फरवरी, बुध, फाल्गुन शु. तृतीया उ.भाद्रपद, रेवती नक्षत्र
27 फरवरी, गुरु, फाल्गुन शु. चतुर्थी, रेवती नक्षत्र
28 फरवरी, शुक्र, फाल्गुन शु. पंचमी, अश्विनी नक्षत्र
10 मार्च, मंगल, चैत्र कृ. प्रतिपदा, हस्त नक्षत्र
11 मार्च, बुध, चैत्र कृ. द्वितीया, हस्त नक्षत्र
16 अप्रैल, गुरु, वैशाख कृ. नवमी, धनिष्ठा नक्षत्र
17 अप्रैल, शुक्र, वैशाख कृ. दशमी, उ.भाद्रपद नक्षत्र
25 अप्रैल, शनि, वैशाख शु. द्वितीया, रोहिणी नक्षत्र
26 अप्रैल, रवि, वैशाख शु. तृतीया, रोहिणी नक्षत्र
1 मई, शुक्र, वैशाख शु. अष्टमी, मघा नक्षत्र
2 मई, शनि, वैशाख शु. नवमी, मघा नक्षत्र
4 मई, सोम, वैशाख शु. एकादशी उ.फाल्गुनी, हस्त नक्षत्र
5 मई, मंगल, वैशाख शु. त्रयोदशी, हस्त नक्षत्र
6 मई, बुध, वैशाख शु. चतुर्दशी, चित्रा नक्षत्र
15 मई, शुक्र, ज्येष्ठ कृ. अष्टमी, धनिष्ठा नक्षत्र
17 मई, रवि, ज्येष्ठ कृ. दशमी, उ.भाद्रपद नक्षत्र
18 मई, सोम, ज्येष्ठ कृ. एकादशी उ.भाद्रपद, रेवती नक्षत्र
19 मई, मंगल, ज्येष्ठ कृ. द्वादशी, रेवती नक्षत्र
23 मई, शनि, ज्येष्ठ शु. प्रतिपदा, रोहिणी नक्षत्र
11 जून, गुरु, आषाढ़ कृ. षष्ठी, धनिष्ठा नक्षत्र
15 जून, सोम, आषाढ़ कृ. दशमी, रेवती नक्षत्र
17 जून, बुध, आषाढ़ कृ. एकादशी, अश्विनी नक्षत्र

27 जून, शनि, आषाढ़ शु. सप्तमी, उ.फाल्गुनी नक्षत्र
29 जून, सोम, आषाढ़ शु. नवमी, चित्रा नक्षत्र
30 जून, मंगल, आषाढ़ शु. दशमी, चित्रा नक्षत्र
27 नवंबर, शुक्र, कार्तिक शु. द्वादशी, अश्विनी नक्षत्र
29 नवंबर, रवि, कार्तिक शु. चतुर्दशी, रोहिणी नक्षत्र
30 नवंबर, सोम, कार्तिक पूर्णिमा, रोहिणी नक्षत्र
1 दिसंबर, मंगल, मार्गशीर्ष कृ. प्रतिपदा, रोहिणी नक्षत्र
7 दिसंबर, सोम, मार्गशीर्ष कृ. सप्तमी, मघा नक्षत्र
9 दिसंबर, बुध, मार्गशीर्ष कृ. नवमी, हस्त नक्षत्र
10 दिसंबर, गुरु, मार्गशीर्ष कृ. दशमी, चित्रा नक्षत्र
11 दिसंबर, शुक्र, मार्गशीर्ष कृ. एकादशी, चित्रा नक्षत्र

Next Stories
1 Mauni Amavasya 2020: मौनी अमावस्या आज, जानिए पितृ दोष से मुक्ति के कौन-कौन से उपाय किये जाते हैं
2 गुरुवार व्रत कब और कैसे करें शुरू, जानिए इसकी व्रत कथा, आरती और उद्यापन की विधि
3 Khesari Lal Yadav Gana: खेसारी लाल यादव के पॉपुलर शिव भक्ति गीत देखें यहां
यह पढ़ा क्या?
X