ताज़ा खबर
 

रुद्राक्ष पहनने से तनाव और हाई ब्लड प्रेशर कम होने के साथ मां लक्ष्मी की भी बनती है कृपा, ऐसी है मान्यता

Astro Tips For Rudraksha: दिल के रोगियों के लिए रुद्राक्ष धारण करना लाभकारी माना जाता है। मान्यता है कि रुद्राक्ष धारण करने से व्यक्ति पर महालक्ष्मी की कृपा होती है।

Rudraksha, Rudraksha benefits, Rudraksha mala benefits, Rudraksha dikshaRudraksh Mala: रुद्राक्ष अपने पैसे से खरीदकर ही पहनें। किसी दूसरे के पैसे से खरीदा गया रुद्राक्ष आपको लाभ नहीं देगा।

Rudraksha Mala: कई लोगों को आपने रुद्राक्ष धारण किए हुए देखा होगा। रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के आंसुओं से हुई मानी जाती है। दुनिया में 1 से लेकर 21 मुखी तर रुद्राक्ष उपलब्ध है। ऐसा माना जाता है रुद्राक्ष पहनने से शरीर की शक्ति बढ़ती है। रुद्राक्ष को हर कोई धारण नहीं कर सकता इसे पहनने के कुछ नियम है। इसलिए इसे धारण करने से पहले किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले लेनी चाहिए कि ये आपको सूट करेगा या नहीं। यहां जानिए रुद्राक्ष पहनने के लाभ और नियम…

रुद्राक्ष पहनने के लाभ:
-दिल के रोगियों के लिए रुद्राक्ष धारण करना लाभकारी माना जाता है।
-मान्यता है कि रुद्राक्ष धारण करने से व्यक्ति पर महालक्ष्मी की कृपा होती है।
-माना जाता है रुद्रााक्ष धारण करने से व्यक्ति को सभी पापों से मुक्ति मिल जाती है।
-इसे पहनने से ऊर्जा और शक्ति प्राप्त होती है।
-रुद्राक्ष तनाव और हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है।
-रुद्राक्ष त्वचा रोगों को ठीक करने में मदद करता है।
-इसे पहनने से नकारात्मक ऊर्जा दूर रहती है।
-रुद्राक्ष कुंडली में क्रूर ग्रहों के बुरे प्रभाव को कम करने में मदद करता है।

रुद्राक्ष धारण करने के नियम:
-रुद्राक्ष आप कलाई, गले और हृदय पर धारण कर सकते हैं।
-इसे गले में धारण करना सर्वोत्तम माना गया है। कलाई में 12, गले में 36 और ह्रदय पर 108 दाने रुद्राक्ष के धारण करने चाहिए।
-हृदय तक लाल धागे में एक दाना भी रुद्राक्ष का धारण कर सकते हैं।
-सोमवार या शिवरात्री के दिन रुद्राक्ष धारण करना सबसे अच्छा माना गया है।
-रुद्राक्ष धारण करने से पहले उसे भगवान शिव को समर्पित करना चाहिए। फिर शिव की विधि विधान पूजा करें।
-रुद्राक्ष धारण करने वाले को सात्विक रहना चाहिए।

इन बातों का रखें ध्यान:
-रुद्राक्ष अपने पैसे से खरीदकर ही पहनें। किसी दूसरे के पैसे से खरीदा गया रुद्राक्ष आपको लाभ नहीं देगा।
-रुद्राक्ष पहनने से पहले किसी अनुभवी ज्योतिषी से इसे अभिमंत्रित जरूर करा लें।
-रुद्राक्ष को गंदे हाथों से कभी भी स्पर्श न करें वरना यह अपवित्र हो सकता है।
-रुद्राक्ष धारण करने के बाद मांस और मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए।
-रुद्राक्ष पहनने से पहले उसे हमेशा तेल से साफ करें।
-जिस मुखी रुद्राक्ष की आपको जरूरत है उसे ही धारण करें।
-रुद्राक्ष धारण करने वालों को नियमित रूप से भगवान शिव की प्रार्थना करनी चाहिए।

Next Stories
1 Shani Sade Sati: तीन राशियों पर चल रही है शनि साढ़े साती, जानिए कब मिलेगी इससे मुक्ति
2 Horoscope Today, 20 March 2021: मेष, वृषभ, कर्क, कन्या समेत सभी राशियों का आज का राशिफल यहां देखें
3 भोजपुरी स्टार खेसारी लाल यादव ने होली के इन भक्ति गानों से जीता सबका दिल, आप भी देखें वीडियो
आज का राशिफल
X