ताज़ा खबर
 

पति-पत्नी के झगड़ों को बढ़ाता है मंगल दोष, वास्तु के ये उपाय कर सकते हैं मदद

पति-पत्नी की समझदारी पर ही निर्भर करता है कि वो किस हद तक जाकर अपने रिश्ते के लिए मेहनत कर पाते हैं।

वास्तु के ये टिप्स अपनाकर प्यार बढ़ायें पति-पत्नी।

पति-पत्नी का रिश्ता ऐसा रिश्ता होता है जिसमें एक ऐसा धागा होता है जो बहुत नाजुक होता है। इस रिश्ते के साथ कई ओर रिश्ते भी जुड़े होते हैं। इसलिए इसमें सावधानी बरतना जरुरी हो जाता है। वहां एक दोस्त की तरह लड़ना-झगड़ना, प्रेम करना, बच्चे की तरह जिद्द करना सब इसी रिश्ते में समा जाते हैं। तो आम बात है कि कई बार यहां लड़ाई-झगड़ा हो जाना और रिश्तों में खटास आना आम बात है। लेकिन ये आम बात तब आम नहीं रह जाती है जब इसमें दूरियां आने लग जाए। इस रिश्ते को कई सावधानियां अपनानी होती हैं और ये पति-पत्नी की समझदारी पर ही निर्भर करता है कि वो किस हद तक जाकर अपने रिश्ते के लिए मेहनत कर पाते हैं। लेकिन जब सभी तरह की कोशिश कर ली जाए और किसी तरह की सफलता हासिल ना हो तो जरुरी होता है कुछ ऐसे उपाय अपनाना जो आपके रिश्तों को टूटने से बचा सकते हैं।

HOT DEALS
  • I Kall Black 4G K3 with Waterproof Bluetooth Speaker 8GB
    ₹ 4099 MRP ₹ 5999 -32%
    ₹0 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 9597 MRP ₹ 10999 -13%
    ₹480 Cashback

क्लेश बढ़ने का कारण – कुंडली में अग्नि तत्व की मात्रा ज्यादा होने पर। शुक्र या बृहस्पति के कमजोर होने पर। मजबूत मंगल दोष होने पर। अष्टम भाव में पाप ग्रह होने पर। बेडरूम का रंग ठीक नहीं होने पर। ईशान कोण में गड़बड़ी होने पर। मूलांक 1, 4, 5 या 8 होने पर।
उपाय-
1. घर में जंगली या हिंसक पशु-पक्षियों के चित्र ना लगाएं।
2. बेडरूम में हथियार, नुकीली चीजें या खाने की वस्तुएं ना रखें।
3. बेडरूम में देवी-देवताओं के चित्र ना लगाएं।
4. घर में झाडू और चाकू को छिपाकर रखें।
5. पति-पत्नी का चित्र दक्षिणी दीवार पर ना लगाएं।
6. पति को शुक्र के वैदिक मंत्र का जाप करना चाहिए और पत्नी को बृहस्पति के मंत्र का जाप करना चाहिए।
7. बेडरूम में गुलाबी, धानी या सफेद रंग का प्रयोग करें। बहते हुए जल का चित्र लगाना उत्तम होगा।
8. पति-पत्नी का चित्र पूर्व या उत्तर की दीवार पर लगाएं।
9. घर के बीच में तुलसी का पौधा लगाएं।
10. घर में शिव-पार्वती की संयुक्त पूजा करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App