धन हानि से बचने के लिए अपनाएं तिजोरी से जुड़े ये Vastu Tips, जानें क्या है मान्यता

वास्तु शास्त्र के अनुसार तिजोरी रखने की सही दिशा दक्षिण है। दक्षिण दिशा में तिजोरी रखने से धन-धान्य में बरकत होती है।

Vastu Tips, Vastu Shastra, Religion News
कभी भी पर्स या फिर तिजोरी को खाली नहीं रखना चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार हर चीज को रखने की अपनी एक सही दिशा और स्थान होता है। अगर दिशा के विपरित कोई चीज रखी जाए तो इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वास्तु शास्त्र की मानें तो हर चीज से सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा निकलती है, जो किसी-न-किसी तरह व्यक्ति की जिंदगी को प्रभावित करती है। इस शास्त्र में तिजोरी से जुड़े हुए भी कुछ नियम बता गए हैं, जिसके अनुरूप कार्य करने पर व्यक्ति को कभी भी धन की हानि नहीं होती।

हालांकि अगर इन नियमों का सही तरह से पालन न किया जाए तो मनुष्य को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार तिजोरी रखने की सही दिशा दक्षिण है। जानकारों के मुताबिक तिजोरी को इस दिशा में इस तरह से रखना चाहिए कि उसका द्वार उत्तर दिशा की तरफ खुले। ज्योतिष शास्त्र में उत्तर दिशा को धन के स्वामी कुबेर की दिशा बताया गया है।

अगर घर में रखी तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा की तरफ खुलता है तो व्यक्ति के धन-धान्य में बरकत होती है। हालांकि अगर तिजोरी का मुंह उल्टी दिशा यानी दक्षिण की तरफ खुले तो इससे धन की हानि होती है और घर में आर्थिक संकट पैदा हो जाता है।

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि तिजोरी के साथ ही कभी भी पर्स, अलमारी और बक्सा आदि को खाली नहीं रखना चाहिए। क्योंकि इन चीजों को खाली रखना दरिद्रता की निशानी माना जाता है। इसके साथ ही कभी भी तिजोरी या फिर पर्स को गंदे हाथों से नहीं खोलना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती है, जिसके कारण व्यक्ति को धन की हानि हो सकती है।

तिजोरी में बिछाकर रखें लाल कपड़ा: तिजोरी को माता लक्ष्मी का स्थान माना गया है, इसलिए जब भी आप तिजोरी को खोलें तो हमेशा जूते-चप्पल उतारकर ही खोलें। साथ ही हमेशा तिजोरी में लाल कपड़ा बिछाकर रखें, इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

तिजोरी के पास कभी न रखें झाड़ू: वास्तु शास्त्र में तिजोरी के पास झाड़ू रखने की मनाही है। इसलिए साफ-सफाई करने के बाद भूलकर भी तिजोरी के पास झाड़ू न रखें क्योंकि इसके कारण आपको परिवार पर आर्थिक संकट आ सकता है।

पढें Religion समाचार (Religion News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट