ताज़ा खबर
 

Vastu Tips : सेहतमंद होने के लिए वास्तु शास्त्र के इन उपायों को माना जाता है कारगर, जानिये

Vastu Tips for Health : वास्तु शास्त्र के उपायों को अपनाकर वास्तु दोष दूर किया जा सकता है और परिवार के सदस्यों को सेहतमंद करने की कोशिश की जा सकती है।

vastu tips for health, vastu tips for wellness, vastu shastra for healthपरिवार के सदस्यों की सेहत को घर का वास्तु प्रभावित करता है।

Vastu Tips for Health/ Vastu Shastra: वास्तु शास्त्र जहां एक ओर नकारात्मकता दूर भगाने की बात करता है वहीं दूसरी ओर इस शास्त्र में ऐसे उपाय भी बताए गए हैं जिनसे घर से बीमारियां दूर भगाई जा सकती हैं। कहते हैं कि परिवार के सदस्यों की सेहत को घर का वास्तु प्रभावित करता है। जब घर के सदस्यों का स्वास्थ्य बिगड़ने लगे तो यह जरूर देखना चाहिए कि इसकी वजह वास्तु दोष है या नहीं। मान्यता है कि वास्तु शास्त्र के उपायों को अपनाकर वास्तु दोष दूर किया जा सकता है और परिवार के सदस्यों को सेहतमंद करने की कोशिश की जा सकती है।

लाल रंग है प्रभावशाली – जो व्यक्ति बीमार रहता है यह बहुत जरूरी है कि उसके आसपास लाल रंग हो। क्योंकि लाल रंग को ऊर्जा का कारक माना जाता है। बीमार व्यक्ति कमजोरी महसूस करने लगता है। ऐसे में लाल रंग उसे ऊर्जा और शक्ति प्रदान करता है। इससे धीरे-धीरे उसका स्वास्थ्य सुधरने लगता है। आप चाहें तो उसे लाल रंग का रुमाल दे सकते हैं या उसके कमरे की दीवार पर लाल रंग करवा सकते हैं।

घर में न लगने दें जाले – माना जाता है कि जाले कष्टों का प्रतीक होते हैं। जिन लोगों के घरों में जाले लगे रहते हैं उनके घर के सदस्यों को शारीरिक कष्ट सहना पड़ता है। इसलिए वास्तु शास्त्र के उपायों में यह उपाय बहुत खास है कि समय-समय पर अपने घर के कोनों की सफाई करते रहें और वहां जाले न लगने दें क्योंकि यह आपके परिवार के लोगों को बीमार कर सकता है।

पितरों की तस्वीरों को संभालें – अगर घर में लम्बे समय से कोई व्यक्ति बीमार है तो आप अपने घर में लगी पितरों की तस्वीरों की ओर ध्यान जरूर दें। पितरों की तस्वीर टूटने, उसमें दरार आने, उस पर धूल-मिट्टी लगने और उन पर सूखे फूलों की माला चढ़े रहने से घर के सदस्यों का स्वास्थ्य बिगड़ता है। अगर आपके घर में कोई बीमार है तो इस पर ध्यान जरूर दें।

करें हनुमान जी की उपासना – अगर आप या आपके परिवार का कोई सदस्य बहुत बीमार रहता है तो उन्हें हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए। कहते हैं कि जिस प्रकार हनुमान चालीसा में लिखा है – ‘नासै रोग हरे सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत बीरा’ ठीक उसी प्रकार हनुमान जी की आराधना करने से व्यक्ति के सभी रोग नष्ट हो जाते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सामुद्रिक शास्त्र के मुताबिक आपकी मुस्कान बताती है आपके दिल का हाल, जानिये छुपे हैं कौन-से राज
2 बहुत शुभ माने जाते हैं ये 4 सपने, नोटों से तिजोरी भरने की है मान्यता, जानिये क्या कहता है स्वप्न शास्त्र
3 ये 9 लोग होते हैं विश्वासघाती, इनके बारे में जानिये क्या कहती है विदुर नीति
यह पढ़ा क्या?
X