ताज़ा खबर
 

वास्तु के अनुसार ऐसे खरीदें घर या बिजनेस की जमीन, आएगी घर में सुख-समृद्धि

जिस जमीन पर हरियाली हो वो जगह शुभ मानी जाती है, वहीं आस-पास शमशान या कब्रिस्तान वाली जमीन लेने से हमेशा बचें।

जिस जमीन की खुदाई से निकलें सांप वो नहीं होती शुभ।

वास्तु शास्त्र के अनुसार माना जाता है कि घर में हर वस्तु के रखने का एक विशेष और शुभ स्थान होता है जिसके कारण घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। इसी मान्यता के आधार पर घर में कई ऐसी वस्तुएं भी रखते हैं जिसके कारण घर और परिवार में सुख-शांति बनी रहे। घर बनने के बाद हम वास्तु के उपाय अपनाते हैं और वो भी लाभ नहीं देते हैं तो इसका कारण आपके घर का नक्शा या प्लॉट का नक्शा हो सकता है। वास्तु शास्त्र में घर की सजावट को लेकर खास सावधानी बरतने के लिए कहा जाता है।

– यदि प्लाट के उतर-पूर्व मे कोई पानी का स्थान हो तो ये स्थान शुभ माना जाता है लेकिन दक्षिण-पश्चिम दिशा में यदि पानी का कोई स्रोत है तो उस जमीन को कभी ना खरीदें।
– वास्तु के अनुसार माना जाता है कि जब घर या बिजनेस के लिए जमीन देखने जाएं तो वहां सबसे पहले देखें कि किस रंग की मिट्टी है। जमीन की मिट्टी यदि लाल, सफेद, धूसर, हल्की पीली हो तो वो प्लॉट लाभकारी हो सकता है। यदि मिट्टी में दुर्गंध आती हो, मिट्टी का रंग काला और हरा हो तो वो जमीन शुभ नहीं मानी जाती है।
– दो बड़े प्लॉट की बीच स्थित एक अपेक्षाकृत छोटा प्लॉट आर्थिक समृद्धि के लिए बिल्कुल भी शुभ नहीं होता है।
– जमीन खोदने पर यदि सोने-चांदी के सिक्के या कीमती वस्तुएं प्राप्त होती हैं तो वो जमीन आर्थिक समृद्धि का संकेत देती है, यहां बिजनेस स्थापित करना लाभदायक सिद्ध हो सकता है।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • I Kall Black 4G K3 with Waterproof Bluetooth Speaker 8GB
    ₹ 4099 MRP ₹ 5999 -32%
    ₹0 Cashback

– माना जाता है जिस प्लॉट पर खुदाई करने से चीटी, सांप, दीमक आदि निकल रहे हैं तो उस जमीन पर घर ना बनाना ही लाभदायक माना जाता है।
– खुदाई करते समय जमीन से मानव खोपड़ी, हड्डियां आदि निकलती हैं तो इस जगह पर जादू-टोना हुए होने की संभावना होती है।
– इसके साथ जिस जगह पर हरियाली हो वो जगह शुभ मानी जाती है, वहीं आस-पास शमशान या कब्रिस्तान वाली जमीन लेने से हमेशा बचें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App