ताज़ा खबर
 

Baisakh Month 2020: वैशाख मास प्रारंभ, जानिए अक्षय तृतीया, बैसाखी, पुथन्डू, गंगा सप्तमी, सीता नवमी समेत सभी प्रमुख त्योहारों की डेट

वैशाख महीने में अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2020), बैसाखी (Baisakhi), भगवान परशुराम की जयंती, वरुथिनी एकादशी, वैसाख अमावस्या (Vaisakh Amavasya), सीता नवमी (Sita Navami), मोहिनी एकादशी, वैसाख पूर्णिमा, पुथन्डू (Puthandu), अंबेडकर जयंती, सोलर नववर्ष (Solar Navvarsh), गंगा सप्तमी के साथ कई बड़े त्योहार पड़ने वाले हैं।

हिंदी कैलेंडर अनुसार साल का दूसरा महीना होता है वैशाख।

Vaisakh Mahina 2020, वैशाख महीना कैलेंडर 2020: 09 अप्रैल से हिंदी पंचांग अनुसार साल का दूसरा महीना वैसाख शुरू हो गया है। ये महीना काफी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि इस दौरान कई मुख्य त्योहार आते हैं। इस महीने में अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2020), बैसाखी (Baisakhi), भगवान परशुराम की जयंती, वरुथिनी एकादशी, वैसाख अमावस्या (Vaisakh Amavasya), सीता नवमी (Sita Navami), मोहिनी एकादशी, वैसाख पूर्णिमा, पुथन्डू (Puthandu), अंबेडकर जयंती, सोलर नववर्ष (Solar Navvarsh), गंगा सप्तमी के साथ कई बड़े त्योहार पड़ने वाले हैं।

वैसाख मास के व्रत और त्योहार (Vaishakh Mahina/Month 2020):

वैसाखी (Vaisakhi)- 13 अप्रैल को वैसाखी के साथ सोलर नववर्ष, मेष संक्रांति पर्व भी मनाया जायेगा। इस दिन सूर्य मेष राशि में प्रवेश कर जाता है। वैसाखी पर्व को फसलों की कटाई से जोड़कर देखा जाता है।

पहेला वैसाख, पुथन्डू, विषु कानी (Poila Baisakh, Puthandu, Vishu Kani)- 14 अप्रैल को बंगाली नववर्ष का आरंभ होगा। जिसे पोहेला बोइशाख के नाम से जाना जाता है। तमिल नववर्ष को पुथन्डू तो मलयालम नववर्ष को विषु कानी के नाम से जाना जाता है।

वरुथिनी एकादशी (Varuthini Ekadashi)- वैसाख मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को यह पर्व मनाया जाता है। इस दिन व्रत रखकर भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। 18 अप्रैल को ये एकादशी है।

वैसाख अमावस्या (Vaisakh Amavasya)- इस दिन स्नान दान और पितरों के तर्पण का कार्य किया जाता है। यह अमावस्या इस बार 22 अप्रैल को है।

परशुराम जयन्ती (Parshuram Jayanti)- इस दिन भगवान विष्णु के छठे अवतार भगवान परशुराम का जन्म हुआ था। ये जयन्ती इस बार 25 अप्रैल को मनाई जायेगी।

अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya)- 26 अप्रैल को है। माना जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु के अवतार नर नारायण ने अवतार लिया था। इस दिन किसी भी तरह का शुभ कार्य बिना मुहूर्त देखे किया जा सकता है।

शंकराचार्य जयन्ती (Shankaracharya Jayanti), सूरदास जयन्ती, रामानुज जयन्ती- 28 अप्रैल को मनाई जायेगी।

गंगा सप्तमी (Ganga Saptami)- गंगा सप्तमी का दिन देवी गंगा को समर्पित है। इस दिन को गंगा पूजन तथा गंगा जयन्ती के रूप में भी जाना जाता है, क्योंकि इस दिन देवी गंगा का पुनर्जन्म हुआ था।

मां बगलामुखी जयंती (Maa Baglamukhi Jayanti)- 1 मई को मनाई जायेगी।

सीता नवमी (Sita Navami)- ये 2 मई को है। मान्यता है कि इस दिन माता सीता धरती मां की कोख से प्रकट हुई थीं।

मोहिनी एकादशी (Mohini Ekadashi)- 3 मई को पड़ रही है। इस दिन भगवान विष्णु के लिए व्रत रखा जाता है।

नरसिंह जन्यती (Narasimha Jayanti)- 6 मई को मनाई जायेगी। भगवान नरसिम्हा विष्णु जी के चौथे अवतार माने जाते हैं।

वैसाख पूर्णिमा (Vaishakh Purnima)- 7 मई को वैसाख पूर्णिमा है इस दिन भगवान बुद्ध की भी जंयती मनाई जाती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Shani Vakri 2020 Effects: शनि की उल्टी चाल से बढ़ेंगे कष्ट, ये 5 राशियां हैं शनि साढ़े साती और ढैय्या की चपेट में
2 Career/Job Horoscope, 09 April 2020: सिंह वालों को मिलेगा बॉस का साथ, धनु जातकों के बॉस से बिगड़ सकते हैं संबंध
3 लव राशिफल 09 अप्रैल 2020: मिथुन वालों के लिए प्रेम विवाह के बन रहे योग, जानिए बाकी राशि वालों के लिए कैसा रहेगा दिन