ताज़ा खबर
 

Mathura: गोवर्धन का पांच दिवसीय मुड़िया पूनों मेला शुरू, इस बार श्रद्धालु हेलीकॉप्टर से भी लगा सकेंगे परिक्रमा

गोवर्धन के मुड़िया पूनों मेले की शुरुआत हो चुकी है। इस मेले में गिरिराज जी के भक्त सप्तकोसीय परिक्रमा करते हैं।

Author मथुरा | July 13, 2019 9:14 AM
प्रतीकात्मतक फोटो फोटो सोर्स- जनसत्ता

 

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में गुरु पूर्णिमा के अवसर पर लगने वाले ‘मुड़िया पूनों’ मेले में गोवर्धन के गिरिराज पर्वत की परिक्रमा हेतु वृद्ध, अशक्त एवं बीमार श्रद्धालुओं के लिए उत्तर प्रदेश पर्यटन विकास निगम ने ‘हवाई परिक्रमा सेवा’ प्रारम्भ की है। मथुरा के जिला पर्यटन अधिकारी धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया, ‘गोवर्धन के मुड़िया पूनों मेला आज प्रारम्भ हो गया है। इस मेले में गिरिराज जी के भक्त सप्तकोसीय परिक्रमा करते हैं। लेकिन बहुत से भक्तजन ऐसे भी होते हैं जो भारी शरीर अथवा बीमारी आदि कारणों के चलते पैदल 21-22 किमी की परिक्रमा करने में असमर्थ होते हैं। ऐसे लोगों को ‘हवाई परिक्रमा’ की सुविधा मुहैया कराने की व्यवस्था की गई है।’

सुरक्षा के किए गए इंतजामः मथुरा जनपद में प्रतिवर्ष आषाढ़ पूर्णिमा के अवसर पर लगने वाला पांच दिवसीय मेला (जिसे अक्सर गुरु पूर्णिमा एवं स्थानीय स्तर पर मुड़िया पूनों मेला कहा जाता है) शुक्रवार (12 जुलाई) से प्रारंभ हो गया। इससे पहले ही यहां श्रद्धालुओं का आगमन शुरु हो गया था। तैयारियों की समीक्षा के बाद जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया, ‘‘यह मेला इस बार 12 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है जो आषाढ़ पूर्णिमा की रात 16 जुलाई तक चलेगा। इस अवसर पर देश-विदेश से 80 लाख से अधिक परिक्रमार्थियों के यहां आने का अनुमान है। इसीलिए मेले को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए आठ सुपर जोन, 21 जोन व 60 सेक्टरों में विभाजित कर चाक-चैबंद व्यवस्था की गई है।’’

की गई पार्किंग व्यवस्थाः अधिकारी ने बताया, ‘‘मेले के दौरान सड़क पर जाम न लगे, इस विषय पर सबसे अधिक ध्यान दिया गया है। चूंकि दिल्ली और एनसीआर से आने वाले श्रद्धालु निजी वाहनों का इस्तेमाल करते हैं, इसे ध्यान में रखते हुए गोवर्धन पहुंचने वाले हर मार्ग पर गोवर्धन से तीन किमी पूर्व ही 42 स्थानों पर वाहन पार्किंग की व्यवस्था की गई है। दिल्ली से सड़क मार्ग से आने वाले श्रद्धालु कोसीकलां से नंदगाव, बरसाना होते हुए गोवर्धन पहुंच सकेंगे। भरतपुर से आने वाले सौंख और डीग से गोवर्धन पहुंच सकेंगे जबकि अलीगढ़, हाथरस, आगरा से आने वाले श्रद्धालु गोवर्धन चैराहा होकर ही गोवर्धन पहुंच सकेंगे।’’उन्होंने बताया, ‘‘इसके साथ ही पूरे परिक्रमा मार्ग में सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इनके अलावा सुरक्षा के लिए मेले के चप्पे-चप्पे पर ढाई हजार से अधिक पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे। हर सुपर जोन पर एक पुलिस अधीक्षक को जिम्मेदारी दी गई है।’’

National Hindi News 13 July 2019 LIVE Updates: दिन भर की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अतिरिक्त ट्रेनें की जाएंगाी संचालितः रेलवे के जन संपर्क अधिकारी के अनुसार उत्तर मध्य रेलवे भी मेले में दस अतिरिक्त ट्रेनें अतिरिक्त कोचों के साथ संचालित की जाएंगी, जो मथुरा-कासगंज, मथुरा-अलवर रेलखण्डों पर चलेंगी। इनके अलावा झांसी-आगरा व झांसी-ग्वालियर पैसेंजर को मथुरा तक चलाया जाएगा। गोवर्धन के लिए भी अतिरिक्त ट्रेन चलाई जाएगी। अन्य पैसेंजर ट्रेनों में कोच बढ़ाए जाएंगे। गोवर्धन के उप जिलाधिकारी नगेंद्र सिंह ने बताया, ‘‘गोवर्धन में श्रद्धालु परिक्रमा के दौरान दानघाटी और मुकुट मुखारबिंद मंदिर के दर्शन सुबह साढ़े चार से रात साढ़े ग्यारह बजे तक कर सकेंगे एवं जतीपुरा मुखारबिंद मंदिर के दर्शन सुबह छह बजे से रात आठ बजे तक खुले रहेंगे।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App