ताज़ा खबर
 

मिट्टी से बनी इन वस्तुओं का इस्तेमाल करने से घर में आती है सुख-शांति

वास्तुशास्त्र के अनुसार हमें ज्यादा से ज्यादा मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके कई धार्मिक कारण हैं तो कई वैज्ञानिक कारण भी हैं।

इस तस्वीर का इस्तेमाल सांकेतिक तौर पर किया गया है।

हमारे शरीर के बारें में कहा जाता है कि ये पांच तत्वों से मिलकर बना है। इन पांच तत्वों में से एक होती है मिट्टी। जिसे वास्तु शास्त्र में बहुत महत्व दिया गया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार जितना हम प्राकृति चीजों के पास रहते हैं उतना ही हमें ताकत मिलती है। आज हम आपके लिए लाएं हैं हमारे जीवन में मिट्टी के बर्तनों की खास जानकारी। वास्तुशास्त्र के अनुसार हमें ज्यादा से ज्यादा मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके कई धार्मिक कारण हैं तो कई वैज्ञानिक कारण भी हैं। ज्योतिशास्त्र के अनुसार इन मिट्टी के बर्तनों को घर में रखना चाहिए। इन बर्तनों से घर में सुख-समृद्धि और सफलता हमेशा बरकरार रहती है।

मिट्टी के बर्तनों में कई बर्तन हैं जिन्हें आप अपने घर पर रख सकते हैं। मिट्टी के बर्तनों में सबसे पहला नाम आता है मिट्टी के घड़े का। कहा जाता है कि मिट्टी के घड़े के पानी में पानी पीने से शरीर ठीक रहता है। इसे घर में रखने से जीवन पर बुध और चंद्रमा का अच्छा प्रभाव पड़ता है। ज्योतिषी मानते हैं कि इसे घर की उत्तर-पूर्व दिशा में रखना चाहिए। इसके घर में रहने से घर में नकारात्मक ऊर्जा की समाप्ति होती है। इसके घर में रहने से घर में सुख और शांति आती है। कहा जाता है कि अगर किसी के घर में कोई व्यक्ति तनाव से ग्रस्त है तो इस घड़े के पानी से किसी भी पौधे में पानी दें।

मिट्टी से बनी भगवान की मूर्ति को घर में रखने से कई तरह की परेशानियां दूर होती हैं। धन की कोई कमी नहीं आती। साथ ही धन की स्थिरता बनी रहती है। घर में इसे दक्षिण पूर्वी दिशा में मिट्टी का बना पक्षी रखने से घर में सौभाग्य बना रहता है।

मिट्टी से बना दीया। मिट्टी से बना दीये को त्योहारों पर जलाया जाता है। कहा जाता है कि अगर किसी के जीवन में कुछ समस्याएं हैं तो तुलसी के पौधे पर मिट्टी का दीया जलाना भी शुभ माना जाता है।

मिट्टी से ही बनता है कुल्हड़। कुल्हड़(मिट्टी के ग्लास आदि) इसमें चाय या लस्सी पीने का अपना अगल ही मजा है। जानकार बताते हैं कि इनसे मंगल गृह के दुष्प्रभाव के मुक्ति दिलाते हैं। कुल्हड़ से पेय पदार्थ पीना अच्छा माना जाता है। कुल्हड़ में पानी रखकर पीपल के पेड़ के नीचे रखने भी लाभ मिलती है। ज्योतिषी मानते हैं कि कुल्हड़ में रखे पानी को प्यासे पक्षियों को पिलाना शुभ माना जाता है। ज्योतिषियों के मुताबिक अगर किसी के जीवन में कुछ परेशानियां चल रही हैं तो उन्हें शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के नीचे दीया जला दें। ऐसा करने से काफी लाभ मिलता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App