ताज़ा खबर
 

हिंदू धर्म में कछुए को माना जाता है शुभ, घर में रखने के हैं ये फायदे

यदि आप अपने घर में नन्हें से बच्चे की किलकारी गूंजते देखना चाहते हैं तो ऐसा कछुआ लाएं जिसके पीठ पर छोटे-छोटे बच्चे बने होते हैं। मान्यता है कि इस कछुए से निसंतान संपत्ति की समस्या दूर होती है।

Author नई दिल्ली | Published on: April 26, 2018 8:39 PM
प्रतीकात्मक चित्र

हिंदू धर्म में कछुए को काफी शुभ माना जाता है। उत्तर के कई मंदिरों में इसकी पूजा भी होती है। ऐसी मान्यता है कि कछुए की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि आती है। इसके अलावा कछुए को घर में रखने की भी बात कही गई है। ऐसी मान्यता है कि कछुए को घर में रखने के अनेकों फायदे हैं। कहा जाता है कि ऐसा करने से धन प्राप्ति के योग बनते हैं। इसके साथ ही व्यवसाय में भी सफलता मिलती है। इसके अलावा कछुए को घर में रखने से परिवार में सकारात्मकता आती है। परिवार के सदस्य आपस में मिल-जुलकर रहते हैं और उनमें विवाद होने की संभावना काफी कम होती है।

इसके अलावा इस बात का भी काफी प्रभाव पड़ता है कि आपने अपने घर पर कौन सा कछुआ रखा हुआ है। अलग-अलग कछुओं का अलग-अलग लाभ बताया गया है। यदि आप अपने घर में मिट्टी का कछुआ रखते हैं तो इसका आपकी सेहत पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसके साथ ही परिवार के लोगों की भी सेहत अच्छी रहती है और आपके घर से बीमारियां  दूर रहती हैं। यदि आप घर पर क्रिस्टल कछुआ रखते हैं तो इससे आर्थिक सम्पन्नता आती है। परिवार के लोगों पर धन प्राप्ति का योग बनता है और जीवन में सफलता हासिल होती है।

यदि आप अपने घर में नन्हें से बच्चे की किलकारी गूंजते देखना चाहते हैं तो ऐसा कछुआ लाएं जिसके पीठ पर छोटे-छोटे बच्चे बने होते हैं। मान्यता है कि इस कछुए से निसंतान संपत्ति की समस्या दूर होती है। यदि आप नौकरी के लिए परेशान हैं तो घर में पीतल का कछुआ रखें। कहते हैं कि पीतल का कछुआ रखने से नौकरी प्राप्ति और प्रमोशन का योग बनता है। इसके अलावा परिवार के बच्चों का पढ़ाई में मन भी खूब लगता है। वहीं, चांदी के कछुए से व्यापार में तरक्की होने की मान्यता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 श्रीराम और सीता की इस खास तस्‍वीर की पूजा से बढ़ता है पति-पत्‍नी में प्‍यार, ऐसी है मान्‍यता
2 Mohini Ekadashi 2018 व्रत विधि और कथा: अमृत पान के लिए देवताओं और राक्षसों में हुआ विवाद, विष्णु जी ने ऐसे निकाला हल
3 मोहिनी एकादशी 2018 पूजा मुहूर्त और विधि: शुभ कार्यों के लिए बन रहा योग, ये है पूजन विधि
जस्‍ट नाउ
X