scorecardresearch

Tulsi ka Mahatva: पूजा में क्यों उपयोग की जाती है तुलसी, जानें क्या है धार्मिक महत्व और मान्यता

Tulsi ka Mahatva: तुलसी के पौधे का ज्योतिष शास्त्र में बहुत महत्व बताय गया है। वहीं औषधीय रूप में भी इसका बहुत उपयोग किया जाता है।

Tulsi ka Mahatva: पूजा में क्यों उपयोग की जाती है तुलसी, जानें क्या है धार्मिक महत्व और मान्यता
Tulsi: तुलसी के पौधे का औषधीय रूप में भी बहुत प्रयोग किया जाता है। (फोटो: freepik)

Tulsi ka Mahatva: ज्योषित शास्त्र के अनुसार तुलसी के पौधे का बहुत ही धार्मिक महत्व है। बिना तुलसी दल के पूजा पूरी नहीं होती है। हिंदू धर्म ग्रंथों और पुराणों में भी तुलसी के पौधे का महत्व बताया गया है।

पूजा में क्यों इस्तेमाल होती है तुलसी

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भगवान की पूजा में भोग लगाते समय तुलसी डालने का महत्व बताया गया है। ऐसी भी मान्यता है कि बिना तुलसी दल के भगवान का भोग अधूरा रहता है। वहीं राम भक्त हनुमान को तुलसी का भोग लगाया जाता है। भगवान कृष्ण और विष्णु की पूजा बिना तुलसी दल के पूरी नहीं होती है।

तुलसी का धार्मिक महत्व

हिंदू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार तुलसी के पौधे में धन की देवी मां लक्ष्मी का वास होता है। ऐसी मान्यता है कि प्रतिदिन तुलसी की पूजा करने के घर में समृद्धि आती है और आर्थिक परेशानियां कम हो जाता है। तुलसी के पौधे को बहुत ही पवित्र माना गया है, इसे घर के आंगन में भी लगाने का फल बताया गया है। यह भी मान्यता है कि जब व्यक्ति की मौत हो जाती है, तो गंगा जल में तुलसी मिलाकर उसके मुख में डालते से मृत आत्मा को शांति मिलती है।

तुलसी के फायदे

तुलसी का पौधा चिकित्सकीय रूप से बहुत ही फायदेमंद होता है। डाक्टरों के अनुसार तुलसी में विटामिन सी सहित कई ऐसे तत्व होते हैं, जो शरीर से संक्रमण को दूर करने में काफी सहायक होते हैं। यह हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाती है।

तुलसी पौधे की मान्यता

ऐसी मान्यता है कि नियमित रूप से तुलसी की पूजा करने, जल और दूध चढ़ाने से भगवान विष्णु की विशेष कृपा होती है। कई परेशानियां खत्म हो जाती है। ज्योतिष के अनुसार घर में शांति का वास होने के साथ आर्थिक मजबूती भी आती है। ज्योतिष के अनुसार तुलसी के पौधे को कभी दक्षिण दिशा में नहीं लगाना चाहिए। एकादशी के दिन छोड़कर अन्य दिनों में जल जरूर अर्पित करें।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 11:27:02 am
अपडेट