scorecardresearch

शुक्र गोचर से इन जातकों के जीवन में रोमांस के साथ धन-दौलत में हो सकती है बढ़ोतरी!

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, शुक्र एक स्त्रीलिंग ग्रह है, जो कि जातकों सुंदरता, कोमलता और मधुरता प्रदान करने के लिए जाना जाता है।

venus transit in march, shukra gochar march
शुक्र ग्रह करने जा रहे हैं राशि परिवर्तन- (जनसत्ता)

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्र ग्रह को बेहद शुभ ग्रह का दर्जा दिया गया है। ज्योतिष के अनुसार माना जाता है कि व्यक्ति को भौतिक शारीरिक और वैवाहिक सुख शुक्र ग्रह के प्रभाव से ही प्राप्त होते हैं। इसीलिए ज्योतिष में शुक्र ग्रह को भौतिक सुख सुविधाओं के साथ जीवन में वैवाहिक सुख, भोग विलास की वस्तु और शोहरत, सुंदरता, रोमांस आदि का कारक भी माना गया है।

शुक्र ग्रह जहां तुला और वृषभ राशि का स्वामी ग्रह है, वहीं मीन राशि, शुक्र ग्रह की उच्च राशि मानी गई है। जबकि कन्या राशि को इस ग्रह की नीच राशि कही जाती है। शुक्र गोचर की बात करें तो करीब 23 दिनों में शुक्र अपना राशि परिवर्तन करता है। ऐसे में एक राशि से दूसरे राशि में जाने के लिए शुक्र 23 दिनों का समय लेता है।

इस बार मई माह में 23 मई को की शाम 8:39 बजे मेष राशि में शुक्र प्रवेश कर चुका है। ऐसे में 18 जून, 2022 की सुबह 8:28 बजे तक यानी कि वृषभ राशि में गोचर करने तक शुक्र मेष राशि में विराजमान रहेगा। इस दौरान सभी 12 राशियों पर शुक्र का प्रभाव देखने को मिलेगा। कुछ जातकों पर शुभ तो कुछ एक पर अशुभ प्रभाव भी देखने को मिल सकते हैं। फिलहाल आइए जानते हैं किन राशियों के लिए यह गोचर शुभ होने वाला है।

मेष राशि: शुक्र गोचर मेष राशि में ही हुआ है, फलस्वरूप इस राशि के जातकों को इसका शुभ परिणाम मिलता हुआ दिखाई दे रहा है। इस दौरान जातकों को अपना लक्ष्य पूरा करने में शुक्र मदद करेंगे। यदि आप रचनात्मक क्षेत्र, फ़िल्म, मीडिया या थिएटर आदि से जुड़े हैं तो इस दौरान आपको इन क्षेत्रों से जुड़ा उद्यम शुरू करने का अवसर प्राप्त हो सकता है। इसके साथ ही जातकों के निजी जीवन में रोमांस देखने को मिल सकता है साथ ही विपरीत लिंग के लोगों के बीच आपकी लोकप्रियता भी बढ़ सकती है। वैवाहिक जीवन अच्छा रहना वाला है, साथ ही जीवनसाथी के साथ संबंधों में मधुरता देखी जा सकती है। जो जातक प्रेम संबंध में हैं, उनके लिए भी यह समय अनुकूल सिद्ध हो सकता है।

मिथुन राशि: शुक्र इस गोचर काल के दौरान शुक्र मिथुन राशि के ग्यारहवें भाव यानी कि आय और लाभ के भाव में गोचर करेगा। ग्यारहवें भाव में शुक्र की स्थिति मिथुन राशि के जातकों के लिए आर्थिक रूप से लाभकारी सिद्ध हो सकती है। इस दौरान जातकों को कई माध्यमों से कमाई करने का अवसर मिल सकता है। साथ ही व्यवसायी जातकों को अच्छा लाभ मिलने का संकेत है। इसके अलावा यह समय कमाई के लिहाज से बेहद उत्तम है।

सिंह राशि: शुक्र इस गोचर काल के दौरान शुक्र सिंह राशि के नौवें भाव यानी कि धर्म और भाग्य के भाव में गोचर करेगा। पेशेवर रूप से देखा जाए तो सिंह राशि के जातकों को अपनी योग्यता साबित करने के लिए कई अवसर मिल सकते हैं। साथ ही इस दौरान आप कई तरह से उपलब्धियां हासिल करेंगे। नौकरी खोज रहे जातकों के लिए यह समय अनुकूल सिद्ध हो सकता है। आपको नौकरी के कई अवसर प्राप्त हो सकते हैं। निजी जीवन में घर का माहौल काफ़ी शांत और सुखद रहने वाला है। जीवनसाथी के साथ प्यार बढ़ेगा, पिता के साथ संबंध मजबूत होंगे। उनकी तरफ़ से धन या किसी संपत्ति के रूप में सहयोग मिल सकता है।

पढें Religion (Religion News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट