ताज़ा खबर
 

आज का पंचांग, 30 अक्तूबर 2020: आज बनेगा अमृत सिद्धि योग, शरद पूर्णिमा जानिये क्या है आज का शुभ मुहूर्त

Sharad Purnima/ Aaj Ka Panchang: आज रात 2 बजकर 57 मिनट से रेवती नक्षत्र लगेगा। आश्विन महीने के शुक्ल पक्ष में शाम 5 बजकर 45 मिनट तक चतुर्दशी तिथि रहेगी। उसके बाद पूर्णिमा शुरू हो जाएगी।

panchang, 30 october panchang, aaj ka panchangकोई भी शुभ कार्य करने से पहले पंचांग देखा जाता है।

Today Panchang 30 October 2020 (आज का पंचांग): हिंदू पंचांग के मुताबिक हर साल आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को शरद पूर्णिमा मनाई जाती है। शरद पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी की उपासना की जाती है। कहते हैं कि इस दिन मां लक्ष्मी की आराधना करनी चाहिए।

साथ ही इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। कहते हैं कि किसी भी पूजा पाठ को करने के दौरान पंचांग और मुहूर्त का खास ख्याल रखना चाहिए। बिना मुहूर्त में किये गये कार्यों का फल नहीं मिलता है। इस साल शरद पूर्णिमा का त्योहार 30 अक्तूबर यानी आज मनाया जाएगा। आइए जानते हैं आज का पंचांग और शुभ मुहूर्त –

बन रहा है अमृत सिद्धि योग – आज के दिन अमृत सिद्धि योग बन रहा है। दोपहर 12 बजकर 16 मिनट से दोपहर 2 बजकर 57 मिनट अमृत सिद्धि योग बना रहेगा। बता दें कि इस योग को बहुत अच्छा माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इस योग में किये गए कार्य निश्चित तौर पर सफल होते हैं। इस योग में नई नौकरी या कोई धार्मिक कार्य करना चाहिए। जैसा कि नाम से प्रतीत होता है, इस योग में किये गए कर्म शुभ फल देने वाले होते हैं।

आज रात 2 बजकर 57 मिनट से रेवती नक्षत्र लगेगा। आश्विन महीने के शुक्ल पक्ष में शाम 5 बजकर 45 मिनट तक चतुर्दशी तिथि रहेगी। उसके बाद पूर्णिमा शुरू हो जाएगी।

आज के शुभ मुहूर्त – आज अभिजित मुहूर्त भी बना रहेगा, सुबह 11 बजकर 42 मिनट से लेकर दोपहर 12 बजकर 27 मिनट तक यह मुहूर्त बन रहेगा। दोपहर 1 बजकर 55 मिनट से 2 बजकर 40 मिनट तक विजय मुहूर्त रहेगा। वहीं, दोपहर 12 बजकर 16 मिनट से 2 बजकर 4 मिनट तक अमृत काल रहेगा। शाम 5 बजकर 36 मिनट से 5 बजकर 50 मिनट तक गोधूलि मुहूर्त का समय है। सायाह्न सन्ध्या का समय शाम 5 बजकर 37 मिनट से 6 बजकर 55 मिनट तक होगा। इसके अलावा, रात 11 बजकर 39 मिनट से 12 बजकर 31 मिनट तक निशिता मुहूर्त लगा रहेगा।

कब रहेगा राहु काल – सुबह 10 बजकर 41 मिनट से लेकर दोपहर 12 बजकर 5 मिनट तक राहु काल का समय है। वहीं, गुलिक काल का 07:52 से 09:16 तक माना जा रहा है। इसके अलावा, सुबह 8 बजकर 42 मिनट से 09 बजकर 27 मिनट तक दुर्मुहूर्त भी लगा रहेगा। इसके अलावा, यमगंड काल दोपहर 2 बजकर 54 मिनट से लेकर शाम 4 बजकर 19 मिनट तक रहेगा।

Next Stories
1 Horoscope Today, 31 October 2020: कन्‍या राशि के लोग आलोचना करने से बचें ,जानें बाकी राशियों का क्‍या रहेगा हाल
2 तरक्की के बारे में विदुर नीति में बताई गई हैं ये 4 बातें, धन प्राप्ति के लिए मानी जाती हैं खास
3 शनि साढ़ेसाती के दुष्प्रभावों से बचने के लिए इन उपायों को माना जाता है मददगार, जानें
ये पढ़ा क्या?
X