ताज़ा खबर
 

आज का पंचांग, 22 अगस्त 2020: गणेश चतुर्थी पर कितने बन रहे हैं शुभ योग, जानिये राहुकाल का समय

Ganesh Chaturthi 2020, Aaj ka Panchang: आज यानी 22 अगस्त को सुबह 9 बजकर 9 मिनट से लेकर 10 बजकर 46 मिनट तक राहुकाल का समय है

ganesh chaturthi panchang, ganesh chauth panchang, panchang 2020, panchang todayगणेश चतुर्थी पर इस बार रवि योग, सिद्धिदायक योग, साध्य योग, शुभ और गजकेसरी योग बन रहे हैं

Today Panchang 21 August 2020 (आज का पंचांग): देश में भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को गणेश चतुर्थी मनाया जाता है। साल 2020 में ये त्योहार इस शनिवार यानी 22 अगस्त को मनाया जाएगा। हिन्दू धर्म में यह मान्यता है कि भगवान श्री गणेश प्रथम पूजनीय हैं, इसलिए पूरे देश में इस दिन हर्षोल्लास और चहल-पहल का माहौल रहता है। भगवान गणेश को विघ्नहर्ता कहा जाता है। कहते हैं कि गणेश चतुर्थी पर जो भी व्यक्ति भगवान गणेश की सच्चे मन से आराधना करता है, गणेश जी उस व्यक्ति के जीवन में आने वाले सभी विघ्नों को दूर कर देते हैं। गणपति को बुद्धि, विवेक और धन-धान्य का स्वामी भी माना जाता है। गणेश चतुर्थी के दिन गणेश भगवान के बाल रूप का पूजन किया जाता है। आइए जानते हैं इस दिन के शुभ मुहूर्त व अन्य जानकारी –

तिथि व नक्षत्र कौन से हैं: इस दिन शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि होगी जो कि शाम 7 बजकर 57 मिनट तक रहेगी। उसके उपरांत पंचमी शुरू हो जाएगी। नक्षत्र की बात करें तो शाम 7 बजकर 11 मिनट तक हस्त नक्षत्र के योग हैं और उसके बाद 23 अगस्त शाम 5 बजे तक चित्रा नक्षत्र है। सुबह 5 बजकर 54 मिनट पर सूर्योदय व शाम 06:53 पर सूर्यास्त होगा।

ये बन रहे हैं शुभ योग: गणेश चतुर्थी पर इस बार रवि योग, सिद्धिदायक योग, साध्य योग, शुभ और गजकेसरी योग बन रहे हैं। शास्त्रों के अनुसार इन शुभ योगों के कारण घर में धन-संपत्ति बढ़ सकती हैं। बता दें कि रवि योग कई अशुभ योगों के प्रभाव को कमजोर करता है। वहीं, जब चंद्रमा और गुरू एक दूसरे से केंद्र में होते हैं तो गजकेसरी योग बनता है।

इस समय होगा अभिजित काल: आज सुबह 11  बजकर 58 मिनट से दोपहर 12 बजकर 50 मिनट तक अभिजित मुहूर्त रहेगा। अमृत काल का समय दोपहर पौने 2 से सवा तीन तक रहेगा। वहीं, सुबह 05:54 से 07:11 रवि योग रहने वाला है। विजय मुहूर्त दोपहर 02:34 पी एम से 03:25 पी एम तक रहेगा। शाम 6 बजकर 40 मिनट से 7 बजकर 4 मिनट तक गोधूलि मुहूर्त का समय है। सायाह्न सन्ध्या का समय शाम 6:53 से 7:59 होगा। इसके अलावा, रात 12 से 12 बजकर 46 मिनट तक निशिता मुहूर्त लगा रहेगा।

अशुभ समय भी जान लीजिए: आज यानी 22 अगस्त को सुबह 9 बजकर 9 मिनट से लेकर 10 बजकर 46 मिनट तक राहुकाल का समय है। वहीं, गुलिक काल का समय सुबह 5:54 से 7:31 तक माना जा रहा है। इसके अलावा, सुबह 5:54 से 7:38 तक दुर्मुहूर्त भी लगा रहेगा। इसके अलावा, यमगंड काल दोपहर 2 बजे से 3 बजकर 38 मिनट तक रहेगा। बता दें कि सुबह ही 09:28 से शाम 07:57 तक भद्रा का समय है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Horoscope Today, 22 August 2020: गणेश चतुर्थी का दिन किन राशि वालों के लिए होगा शुभ, यहां जानिये अपना राशिफल
2 चौरचन के दिन की जाती है श्रापित चंद्र की पूजा, जानिये महत्त्व, कथा और शुभ मुहूर्त
3 Chankya Niti: इन 4 उपायों को करने से घर में आती हैं लक्ष्मी, जानिये क्या कहती है चाणक्य नीति
IPL 2020 LIVE
X