ताज़ा खबर
 

इस शनिवार को है अमावस्या, शनि देव को खुश करने के लिए करें ये उपाय

ज्योतिषियों का कहना है कि जिन लोगों पर शनि की साढे़ साती चल रही है, उन लोगों को शनि भगवान की पूजा करनी चाहिए।

शनि देव (सांकेतिक फोटो)

हमारे शास्त्रों में कई दिनों को बहुत महत्वपूर्ण बताया गया है। इन्हीं महत्वपूर्ण दिनों में से एक है शनिवार की अमावस्या। इस शनिवार यानि 24 जून को अमावस्या है। शनिवार के दिन अमावस्या होने के कारण इस अमावस्या को शनिश्चरी अमावस्या का नाम दिया गया है। यह दिन उन लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, जिन पर शनि की साढ़े साती चल रही है या कुंडली में शनि दोष है। ज्योतिषियों का कहना है कि इस दिन शनि देव की पूजा-पाठ करके शनि दोष को दूर किया जा सकता है।

ज्योतिषियों का कहना है कि जिन लोगों पर शनि की साढे़ साती चल रही है, उन लोगों को शनि भगवान की पूजा करनी चाहिए। अमावस्या की रात आठ काजल की डिब्बी और आठ बादाम को काले कपड़े में बांधकर रख दें। ऐसा करने से शनि की ढैय्या खत्म हो जाती है।

शनिवार को भगवान शनि के मंदिर में जाकर उड़द दाल से बनी खिचड़ी या तिल से बने पकवानों का दान करना काफी शुभ माना जाता है। दान करते समय शनि के बीज मंत्र का जाप करना न भूलें। जिन लोगों की कुंडली में शनि दोष चल रहा है उन लोगों को शनिवार के दिन पीपल के पेड़ पर सात तरह के अनाज को चढ़ाने की सलाह दी जाती है साथ ही सरसों के तेल का दीपक जलाना भी काफी शुभ माना जाता है।

शनिवार के दिन शनि मंत्रों का जाप करना भी शुभ माना जाता है। इस दिन आप शनि स्तोत्र, शनि अष्टक और शनि स्तवराज का पाठ भी कर सकते हैं। इसका पाठ करने से भी शनि देव खुश होते हैं साथ ही पाठ करने वाले के मन को शांति मिलती है।

इस शनिवार को अमावस्या होने के साथ वृद्घि योग, आर्द्रा नक्षत्र और नाग करण भी हैं, जिनके कारण इस दिन की अहमियत और भी बढ़ जाती है। इस दिन शनि देव की साधना करना आपके लिए बहुत लाभदायक साबित हो सकती है। इस दिन साधना करने से आपके रूके हुए कार्य पूरे हो सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App