ताज़ा खबर
 

अक्षय तृतीया पर पितृ-दोष निवारण के लिए किए जाते हैं ये उपाय, जानिए क्यों

हर साल अक्षय तृतीया का पर्व वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। इस बार अक्षय तृतीया 07 मई 2019 को सरवार्थसिद्धि योग में रहेगा। जो बहुत ही दुर्लभ और शुभ संयोग है।

Akshaya Tritiya 2019: अक्षय तृतीया पर पितृ-दोष निवारण के लिए किए जाते हैं ये उपाय, जानिए क्यों

पितृ-दोष निवारण के लिए अक्षय तृतीया बेहद खास मुहूर्त होता है। ज्योतिष के अनुसार पितृ दोष और पितृ ऋण से पीड़ित कुंडली शापित कुंडली होती है। माना जाता है कि पितृ दोष से व्यक्ति को सांसारिक जीवन और आध्यात्मिक उन्नति में अनेक बाधाएं आती हैं। ज्योतिष के जानकारों का मानना है कि यदि जन्म कुंडली में सूर्य पर शनि और राहु-केतु की दृष्टि है तो ऐसे में पितृ दोष उत्पन्न होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दोष के निवारण के लिए अक्षय तृतीया सबसे शुभ अवसर होता है। आगे जानते हैं अक्षय तृतीया पर पितृ दोष निवारण के लिए कौन-कौन से उपाय किए जाते हैं और क्यों?

अक्षय तृतीया एक बहुत ही महत्वपूर्ण पर्व है। इसे अबूझ और स्वयंसिद्ध मुहूर्त की मान्यता प्राप्त है। हर साल अक्षय तृतीया का पर्व वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। इस बार अक्षय तृतीया 07 मई 2019 को सरवार्थसिद्धि योग में रहेगा। जो बहुत ही दुर्लभ और शुभ संयोग है। अक्षय तृतीया के दिन सम्पन्न के गई साधनाएं और दान अक्षय रहकर शीघ्र फलदायी होते हैं। कहते हैं कि यह शुभ संयोग पितृ दोष निवारण के लिए बहुत ही शुभ होता है।

जिन जातकों की जन्म कुंडली में पितृ दोष है वे अक्षय तृतीया के दिन सुबह उठकर किसी स्वच्छ स्थान या मंदिर में लगे पीपल के ऊपर अपने पितृ गणों के निमित्त घर की बनी मिठाई और एक मटके में शुद्ध जल रखें। फिर पीपल के वृक्ष के नीचे धूप-दीप जलाकर अपने पितृ की संतुष्टि के लिए प्रार्थना करें। इसके बाद बिना पीछे देखे सीधे अपने घर लौट आएं। माना जाता है कि अक्षय तृतीया के अवसर पर ऐसा करने से पितृ-दोष से जल्द ही छुटकारा मिल जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Ramadan 2019: जानिए, समुद्र के बीच में स्थित हाजी अली की दरगाह क्यों नहीं डूबता
2 Ramadan 2019: जानिए, अजमेर शरीफ की दरगाह पर क्यों चढ़ाते हैं चादर, ये है इसका महत्व
3 Akshaya Tritiya 2019 Puja Vidhi, Vrat Katha: ये है अक्षय तृतीया की पूजा-विधि, जानिए व्रत-कथा