ताज़ा खबर
 

वास्तु के अनुसार ऐसे घर में रहने वाले ज्यादा होते हैं गुस्से का शिकार

घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में पानी की टंकी रखने के लिए मना किया गया है। कहते हैं कि ऐसा होने पर घर में सुख-शांति का वास नहीं होता।

Vastu Shastra, Vastu Shastra home, Vastu Shastra house, Vastu Shastra anger, anger Vastu Shastra, Vastu Shastra angry, angry Vastu Shastra, Vastu Shastra facts, Vastu Shastra tips, religion newsसांकेतिक तस्वीर।

गुस्सा हर किसी को आता है। गुस्सा आना एक स्वभाविक क्रिया है। सामान्य गुस्से को एक स्वस्थ्य मनुष्य की निशानी भी माना गया है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें कुछ ज्यादा ही गुस्सा आता है। ये छोटी-छोटी बातों से चिड़ जाते हैं और गुस्सा कर बैठते हैं। इनके गुस्से की वजह से कई बार रिश्ते खराब हो जाते हैं तो कई बार कुछ और समस्या आन पड़ती है। क्या आप जानते हैं कि अत्यधिक गुस्से के लिए आपका घर भी जिम्मेदार हो सकता है? जी हां, वास्तु शास्त्र में इस बारे में विस्तार से बताया गया है। वास्तु के मुताबिक कुछ ऐसे घर होते हैं जिनमें रहने वालों को गुस्सा ज्यादा आता है। चलिए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि घर का दक्षिण-पश्चिम भाग खुला हुआ नहीं होना चाहिए। इसके मुताबिक यदि दक्षिण-पश्चिम भाग खुला हो तो उस घर में रहने वाले लोगों को गुस्सा ज्यादा आता है। यहां रहने वाले लोग ज्यादा चिड़चिड़े स्वभाव के होते हैं। वास्तु में यह स्पष्ट रूप से कहा गया है कि घर को भूलकर भी गंदा नहीं रखना चाहिए। घर गंदा होने पर लोगों में क्रोध की प्रवृत्ति जागृत हो जाती है। ऐसे घर में खुशियों का वास नहीं होता। घर के सदस्य आपस में लड़ते-झगड़ते रहते हैं।

इसके साथ ही घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में पानी की टंकी रखने के लिए मना किया गया है। कहते हैं कि ऐसा होने पर घर में सुख-शांति का वास नहीं होता। लोगों को गुस्सा ज्यादा आता है। इसके अलावा घर की उत्तर-पश्चिम दिशा में रसोई बनवाने की भी मनाही है। वास्तु के अनुसार इस दिशा में रसोई होने से घर के लोग मुश्किल में पड़ जाते हैं। ऐसे लोग अपने काम में काफी उलझे रहते हैं। और घर की अन्य चीजों पर ध्यान नहीं दे पाते।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Chhath Puja Songs 2018: छठ मइया की पूजा में बजाएं ये मधुर गीत!
2 Chhath Puja 2018 Date: कब है छठ, जानिए किस दिन होगी मुख्य पूजा!
3 Kali Ji Ki Aarti: “अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली” आरती से करें मां काली की पूजा!
ये पढ़ा क्या...
X