ताज़ा खबर
 

शास्त्रों में पूजा-पाठ के दौरान धूप देने के बताए गए हैं ये पांच फायदे

कहते हैं कि धूप देने से घर में वास्तु दोष की वजह से आने वाली परेशानियां समाप्त हो जाती हैं।

Author नई दिल्ली | October 2, 2018 3:58 PM
सांकेतिक तस्वीर।

हिंदू धर्म में होने वाले तमाम पूजा-पाठ में धूप दी जाती है। इसे धूप जलाना भी कहा जाता है। आपने अपने आसपास अक्सर यह देखा होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पूजा-पाठ के दौरान धूप क्यों दी जाती है? धूप देने के क्या फायदे बताए गए हैं? यदि नहीं तो आज हम इसी बारे में विस्तार से बात करने वाले हैं। मालूम हो कि शास्त्रों में भी धूप के बारे में उल्लेख किया गया है। तो चलिए जानते हैं कि शास्त्रों के अनुसार धूप देने के कौन से पांच फायदे हैं।

1. शास्त्रों में पूजा-पाठ के दौरान धूप देने को काफी महत्वपूर्ण माना गया है। इसके मुताबिक धूप देने से वातावरण में सकारात्मकता का आगमन होता है। कहते हैं कि इससे घर के माहौल में सकारात्मकता आती है। और परिवार के सदस्य आपस में मिल-जुलकर रहते हैं।

2. धूप जलाने के बारे में यह भी कहा जाता है कि इसके प्रभाव से आपपास के वातावरण में हानिकारक कीटों का नाश होता है। इससे उस स्थान पर रहने वाले लोगों की सेहत काफी अच्छी बनी रहती है। इससे लोगों के बीच खुशियों भरा माहौल होता है।

3. शास्त्रों में धूप जलाने से सौभाग्य आने की बात भी कही गई है। कहते हैं कि धूप देने से व्यक्ति आकस्मिक दुर्घटनाओं से बचकर रहता है। माना जाता है कि इनकी किस्मत इनका साथ देती है। और ये बुरी घटनाओं का शिकार नहीं होते।

4. ऐसा बताया जाता है कि धूप देने से घर का वास्तु दोष भी दूर होता है। कहते हैं कि धूप देने से घर में वास्तु दोष की वजह से आने वाली परेशानियां समाप्त हो जाती हैं।

5. धूप देने के ज्योतिषीय लाभ भी बताए गए हैं। कहते हैं कि धूप देने से व्यक्ति की कुंडली के ज्योतिषीय दोष दूर होते हैं। धूप जलाने से कुंडली में नौ ग्रहों की स्थिति मजबूत रहने की मान्यता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X