ताज़ा खबर
 

Bengali New Year 2018 Songs: ये हैं बंगाली न्यू ईयर के कुछ खास गीत, आप भी सुनिए और लुत्फ उठाइए

Bengali New Year Songs: बंगाली लोगों के लिए नए साल का बड़ा ही महत्व है। खासतौर पर शादी-ब्याह के मद्देनजर बैसाख के इस पूरे महीने को शुभ माना जाता है। पोइला बैसाख के दिन बंगाली लोग अपने और अपने परिवार के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं।

बंगाली लोगों के लिए नए साल का बड़ा महत्व है।

Bengali New Year Songs: 15 अप्रैल, रविवार का दिन पश्चिम बंगाल के अलावा आस-पास के पहाड़ी राज्यों व पड़ोसी देश बांग्लादेश में भी नव वर्ष के तौर पर बड़े उल्लास से मनाया जाता है। इस त्योहार का बंगाल के लोगों को बेसब्री से इंतजार रहता है। पश्चिम बंगाल और असम में इस दिन सरकारी छुट्टी होती है। बंगाली लोग इस दिन से नए काम की शुरुआत करना शुभ मानते हैं। इस दिन जहां महिलाएं ट्रेडिशनल साड़ी में नजर आती हैं तो पुरुष कुरता-पैजामा पहनते हैं।

लोग रंग-बिरंगे कपड़े पहनकर, हाथों में नव वर्ष के बैनर लेकर जुलूस के लिए निकालते हैं तो कुछ लोग अपने अलग अंदाज में इस दिन को सेलिब्रेट करते हैं। लोकनृत्य और लोक संगीत इस दिन को और भी खास बना देते हैं। नव वर्ष के मौके पर बंगाली न्यू इयर के कुछ गीत इस प्रकार हैं। आप भी सुनिए और लुत्फ उठाइए-

बंगाली नव वर्ष को पोइला बैसाख या नोबो बोर्शो के नाम से भी जाना जाता है। यह दिन बंगाली लोगों के लिए किसी त्योहार से कम नहीं होता। इस त्योहार को लेकर खास तैयारियां की जाती हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹3750 Cashback
  • Honor 8 32GB Pearl White
    ₹ 12999 MRP ₹ 30999 -58%
    ₹1500 Cashback

वहीं बंगाली लोगों के लिए नए साल का बड़ा ही महत्व है। खासतौर पर शादी-ब्याह के मद्देनजर बैसाख के इस पूरे महीने को शुभ माना जाता है। पोइला बैसाख के दिन बंगाली लोग अपने और अपने परिवार के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं।

बंगाली नए साल का बांग्लादेश में अपना ऐतिहासिक महत्व भी है। 1965 में जब छायानट ने यह दिन मनाया था। तब के पाकिस्तान ने बंगाली सांस्कृतिक पर रोक लगाने के लिए और रविंद्रनाथ टैगोर के गीतों पर प्रतिबंध लगाने की कोशिश की थी।

तब से पूर्वी पाकिस्तान में इस दिन को बंगाली संस्कृति के प्रतीक के रूप में मनाया जाता रहा। 1972 से इस त्योहार को राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाया जाने लगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App