ताज़ा खबर
 

Chanakya Niti: चंद्रगुप्त मौर्य के शिक्षक चाणक्य की इन नीतियों से जानें सफलता का राज

Chanakya Niti in Hindi: चाणक्य की नीति कहती है कि सफल वही है जिसे ये मालूम रहता है कि समय कैसा चल रहा है। यदि सुख के दिन हैं तो अच्छे कार्य करते रहें और यदि दुख के दिन हैं तो अच्छे कामों के साथ धैर्य बनाए रखना चाहिए।

chanakya niti in hindi, chanakya niti for successful life, how to get success according chankaya, chanakya life quotesव्यक्ति को अपनी आय और व्यय का पता होना चाहिए। जो लोग आय से अधिक खर्च करते हैं, वे हमेशा परेशानियों से घिरे रहते हैं।

Chanakya Niti in Hindi, चाणक्य नीति: आचार्य चाणक्य को एक महान राजनीतिज्ञ, कुटनीज्ञ के अलावा एक महान शिक्षक का भी दर्जा प्राप्त है। क्योंकि उन्होंने अपनी नीतियों के बल पर एक साधारण से बालक को मगध का चक्रवर्ती सम्राट बना दिया। नंदवंश के विनाश के बाद चन्द्रगुप्त मौर्य मगध की गद्दी पर आसीन हुए। चाणक्य ने अपने शिष्य चंद्रगुप्त को लेकर जैसी कल्पना की थी वह उनकी उस कल्पना पर शत-प्रतिशत खरे उतरे। चाणक्य को अपना गुरु मानकर और उनकी दिशा पर चलकर चंद्रगुप्त भारत के एक महान सम्राट बन गए। टीचर्स डे के मौके पर जानिए चाणक्य की वो महान नीतियां जिसे अपनाकर आप भी अपने जीवन को सफल बना सकते हैं…

– चाणक्य की नीति कहती है कि सफल वही है जिसे ये मालूम रहता है कि समय कैसा चल रहा है। यदि सुख के दिन हैं तो अच्छे कार्य करते रहें और यदि दुख के दिन हैं तो अच्छे कामों के साथ धैर्य बनाए रखना चाहिए।

– चाणक्य अनुसार व्यक्ति को हमेशा अपनी ताकत की पहचान होनी चाहिए। हमें मालूम होना चाहिए कि हम क्या कर सकते हैं। यदि शक्ति से अधिक काम हम करने की कोशिश करेंगे तो असफल होना तय है।

– इस बात का हमें मालूम होना चाहिए कि हमारे सच्चे मित्र कौन हैं और कौन शत्रु हैं। हमें मित्रों के वेश में छिपे शत्रु की पहचान होनी चाहिए। साथ ही, इस बात का भी ध्यान रखें कि सच्चे मित्र कौन हैं, क्योंकि सच्चे मित्रों की सहायता से आपको सफलता मिल सकती है।

– हम जहां काम कर रहे हैं उस जगह के बारे में हमें पूरी जानकारी होनी चाहिए। साथ ही इस बात पर भी गौर करना चाहिए कि हमारा प्रबंधक, कंपनी, संस्थान या बॉस हमसे क्या चाहता है। हमें वो काम करना चाहिये जिससे संस्थान को लाभ मिलता हो।

– व्यक्ति को इस बात की भी जानकारी होनी चाहिए कि जहां वह काम कर रहा है वो जगह कैसी है, वहां के हालात कैसे हैं। कार्यस्थल पर काम करने वाले लोग कैसे हैं। इस बात का ध्यान रखना जरुरी है।

– व्यक्ति को अपनी आय और व्यय का पता होना चाहिए। जो लोग आय से अधिक खर्च करते हैं, वे हमेशा परेशानियों से घिरे रहते हैं। अगर धन संबंधी सुख पाना चाहते हैं तो कभी आय से अधिक व्यय नहीं करना चाहिए।

– हमेशा दूसरों की गलतियों से सीखना चाहिए क्योंकि उसे अपने ऊपर प्रयोग करने से आपकी आयु ही कम पड़ जायेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Pitru Paksha Start Date 2019: पितृ पक्ष 14 सितंबर से शुरु, यहां जानें श्राद्ध की महत्वपूर्ण तिथियां और महत्व
2 Finance Horoscope Today, September 4, 2019: वृश्चिक राशि वालों को आज बिजनेस में मिलेगा लाभ, जानें बाकी राशि वालों के लिए कैसा रहेगा दिन
3 Surya Shashti Vrat 2019, Katha, Puja Vidhi: आज है सूर्य षष्ठी व्रत, जानिए इस व्रत का विधि और महत्व