ताज़ा खबर
 

57 साल बाद लगा है ऐसा सूर्य ग्रहण, देश पर बड़े संकट की ओर है इशारा

Surya Grahan Effects: ये सूर्य ग्रहण धनु राशि और मूल नक्षत्र में बना है। इसलिए व्यक्तिगत रूप से धनु राशि और मूल नक्षत्र में जन्मे लोगों पर इस ग्रहण का खास प्रभाव पड़ने वाला है। ज्योतिषियों की मानें तो इस ग्रहण का दुनिया के कई हिस्सों में विनाशकारी प्रभाव पड़ सकता है।

solar eclipse effects, solar eclipse 2020, surya grahan 2019, surya grahan effects on rashi, surya grahan effects on people, surya grahan, solar eclipse, solar eclipse 2019, solar eclipse timing, solar eclipse 2019 date and time, surya grahan 2019, surya grahan 2019 date, surya grahan 2019 timings, solar eclipse 2019 india, solar eclipse 2019 date and time in india, surya grahan 2019 date and time, surya grahan date and time, surya grahan 2019 date and time in india, surya grahan 2019 timings in india, surya grahan in december, surya grahan in december 2019, surya grahan in december 2019 date and time, surya grahan in december timing, solar eclipse december 2019, solar eclipse decemeber 2019 date and time, solar eclipse kab ka hai, surya grahan kab hai, surya grahan kab se padega, surya grahan kab se lagegaसूर्य ग्रहण के प्रभाव के चलते राजनीति के धुरधंरों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लग चुका है। ज्योतिषियों के अनुसार इस ग्रहण का प्रभाव लंबे समय तक रहेगा। ऐसा कहा जा रहा है कि करीब 57 साल बाद ऐसा बड़ा और विशेष सूर्यग्रहण एक बार फिर से लगा है। इससे पहले वर्ष 1962 में सूर्य को ऐसा ग्रहण लगा था। उस दौरान 7 ग्रह एक साथ थे। तो वहीं 26 दिसंबर के सूर्य ग्रहण में 6 ग्रह (सूर्य, चन्द्रमा, शनि, बुध, बृहस्पति, केतु) एक साथ हैं।

ग्रहण का प्रभाव: ये सूर्य ग्रहण धनु राशि और मूल नक्षत्र में बना है। इसलिए व्यक्तिगत रूप से धनु राशि और मूल नक्षत्र में जन्मे लोगों पर इस ग्रहण का खास प्रभाव पड़ने वाला है। ज्योतिषियों की मानें तो इस ग्रहण का दुनिया के कई हिस्सों में विनाशकारी प्रभाव पड़ सकता है। राजनीति में कई उथल पुथल देखने को मिलेंगे। महंगाई बढ़ने के आसार रहेंगे। अपराधों में वृद्धि हो सकती है। ये देश की आंतरिक व्यवस्था को पूरी तरह से प्रभावित करता नजर आ रहा है। सूर्य ग्रहण के कारण देश के कुछ राज्यों में कानून व्यवस्था को चुनौती भी मिल सकती है। सूर्य ग्रहण के प्रभाव के चलते राजनीति के धुरधंरों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए राजनीति के लिहाज से इस ग्रहण को ठीक नहीं माना जा रहा है।

राशियों पर इसका प्रभाव: कर्क, तुला, मीन, कुंभ राशि के जातकों के लिए ग्रहण शुभ फल प्रदान करने वाला बनेगा। तो वहीं वृषभ, कन्या, धनु और मकर राशि वालों की ये मुश्किलें बढ़ाने का काम करेगा। हालांकि मेष, मिथुन, वृश्चिक, सिंह राशि के जातकों के लिए यह मिलाजुले परिणाम देगा। सूर्यग्रहण के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए ग्रहण के खत्म होने के बाद स्नान कर दान पुण्य जरूर करें।

सूर्यग्रहण 2020 (Solar Eclipse/Surya Grahan 2020): नये साल में पहला सूर्य ग्रहण 21 जून को लगेगा। जिसे भारत समेत अमेरिका, पूर्वी यूरोप, दक्षिणी यूरोप और अफ्रीका में देखा जा सकेगा। दूसरा सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर को लगेगा। ये सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। इसे प्रशांत महासागर के क्षेत्रों में देखा जा सकेगा। इस तरह 2020 में कुल दो सूर्य ग्रहण लगेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 साल 2020 में कब कब हैं सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण, यहां देखिए पूरी लिस्ट
2 3 घंटे के संकट के बाद खत्म हुआ सूर्य ग्रहण, इन राशियों पर रहेगा असर
3 सूर्य ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचने के लिए जानिए राशि अनुसार क्या उपाय करने की दी जाती है सलाह
IPL 2020 LIVE
X