ताज़ा खबर
 

जून में लगने जा रहा है वलयाकार सूर्य ग्रहण, इस दिन सुनहरे कंगन जैसा दिखेगा सूर्य

Solar Eclipse/Surya Grahan June 2020: भारत में देहरादून, सिरसा तथा टिहरी कुछ प्रसिद्ध शहर हैं जहां पर वलयाकार सूर्यग्रहण दिखाई देगा। वहीं नई दिल्ली, चंडीगढ़, मुम्बई, हैदराबाद, कोलकाता, बंगलौर, लखनऊ, चैन्नई, शिमला आदि कुछ प्रसिद्ध शहर हैं जहां पर आंशिक सूर्य ग्रहण का नजारा देखने को मिलेगा।

surya grahan, surya grahan 2020, surya grahan kab lagega, solar eclipse june 2020, solar eclipse 2020, solar eclipse time, surya grahan sutak,21 June Solar Eclipse Effects: ज्योतिष के नजरिए से ये सूर्य ग्रहण काफी संवेदनशील है। मिथुन राशि में ग्रहण लगने जा रहा है।

21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन होता है और इसी दिन सूर्य ग्रहण भी लगने जा रहा है। खास बात ये है कि इस ग्रहण का नजारा भारत के लोग भी देख पाएंगे। ये वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा। जिसमें चंद्रमा की छाया सूर्य के 99 प्रतिशत भाग को ढकेगी। आकाशमंडल में चंद्रमा की छाया सूर्य के केन्द्र के साथ मिलकर सूर्य के चारों तरफ एक वलयाकार आकृति बनाएगी। जिस कारण सूरज एक सुनहरे कंगन की तरह दिखाई देगा।

कहां दिखाई देगा सूर्य ग्रहण: यह सूर्य ग्रहण भारत, नेपाल, पाकिस्तान, सऊदी अरब, यूऐई, एथोपिया और कोंगों में दिखाई देगा। भारत में देहरादून, सिरसा तथा टिहरी कुछ प्रसिद्ध शहर हैं जहां पर वलयाकार सूर्यग्रहण दिखाई देगा। वहीं नई दिल्ली, चंडीगढ़, मुम्बई, हैदराबाद, कोलकाता, बंगलौर, लखनऊ, चैन्नई, शिमला आदि कुछ प्रसिद्ध शहर हैं जहां पर आंशिक सूर्य ग्रहण का नजारा देखने को मिलेगा। वलयाकार सूर्य ग्रहण की लम्बी अवधि 0 मिनट और 38 सेकण्ड की होगी।

सूर्य ग्रहण और सूतक का समय: ग्रहण की शुरुआत 21 जून में सुबह 10:31 AM बजे से होगी औल इसकी समाप्ति दोपहर 02:04 PM पर होगी। ग्रहण अपने पूर्ण प्रभाव में 12:18 PM बजे के करीब रहेगा। ग्रहण काल की कुल अवधि 03 घण्टे 33 मिनट की है। सूर्य ग्रहण का सूतक ग्रहण लगने से ठीक 12 घंटे पहले शुरू हो जाता है तो इस लिहाज से इस ग्रहण का सूतक 20 जून की रात 09:25 बजे से शुरू हो जायेगा और सूतक की समाप्ति ग्रहण काल के खत्म होने के साथ होगी। बच्चों, बृद्धों और अस्वस्थ लोगों के लिये सूतक प्रारम्भ 21 जून की सुबह 05:08 ए एम होगा।

ग्रहण का प्रभाव: ज्योतिष के नजरिए से ये सूर्य ग्रहण काफी संवेदनशील है। मिथुन राशि में ग्रहण लगने जा रहा है। ग्रहण के समय मंगल ग्रह जलीय राशि मीन में स्थित होकर सूर्य, बुध, चंद्रमा और राहु को देखेंगे। जिससे अशुभ स्थिति का निर्माण होगा। इसके साथ ही ग्रहण के समय कुल 6 ग्रह वक्री अवस्था में रहेंगे। ये भी अच्छा संकेत नहीं है। ग्रहों का वक्री होना प्राकृतिक आपदाओं के संकेत दे रहा है। जन धन की हानि होने की संभावना है। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका को जून के अंतिम सप्ताह में भयंकर वर्षा एवं बाढ़ से जूझना पड़ सकता है। ऐसे में महामारी का संकट और भी अधिक बढ़ने के आसार हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 स्वप्न शास्त्र: सपने में भूत-प्रेत या मृत्यु देखना अच्छा या बुरा, जानिए
2 Horoscope 8 June 2020, Today Rashifal: वृषभ राशि वालों को निवेश से मिलेगा लाभ, जानिए बाकियों का हाल
3 Rashifal 8 June 2020 Money Career: आर्थिक मामलों को लेकर सिंह वालों को इन चीजों का रखना होगा आज ध्यान
IPL 2020 LIVE
X