ताज़ा खबर
 

Surya Grahan 2020: शुरू हो चुका है साल का अंतिम सूर्य ग्रहण, जानिए इस ग्रहण में कौन-सी सावधानियां बरतने की है मान्यता

Surya Grahan (Solar Eclipse) December 2020: ज्योतिष शास्त्र के विद्वानों के अनुसार साल 2020 का आखिरी सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर, सोमवार को शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होकर रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा।

Surya grahan, Surya grahan 2020, Surya grahan 2020 timingsSolar Eclipse 2020 Live: सूर्य ग्रहण का नजारा कुछ ऐसा होता है।

ज्योतिष शास्त्र के विद्वानों के अनुसार साल 2020 का आखिरी सूर्य ग्रहण आज 14 दिसंबर, सोमवार को शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होकर रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा। इस सूर्य ग्रहण की कुल अवधि करीब 5 घंटे की रहेगी।

बताया जा रहा है कि यह सूर्य ग्रहण उस समय लगेगा जब भारत में सूर्यास्त होकर शाम हो चुकी होगी इसलिए भारत में रहने वाले लोगों को यह ग्रहण दिख नहीं पाएगा। कहा जा रहा है कि इसकी वजह से यह संभावनाएं भी बन सकती हैं कि यह भारत की परिस्थितियों में बहुत अधिक परिवर्तन लाने वाला साबित नहीं हो पाएगा।

क्यों खास माना जा रहा है यह ग्रहण – साल के अंतिम सूर्य ग्रहण को इसलिए खास माना जा रहा है क्योंकि इस दिन सोमवती अमावस्या है और 16 दिसंबर, बुधवार से खरमास शुरू होने वाला है। इसलिए कहा जा रहा है कि यह संभावनाएं बन सकती हैं कि इस सूर्य ग्रहण का बहुत अधिक नकारात्मक प्रभाव न पड़े। लेकिन साथ में यह भी ध्यान रखना जरूरी है कि इस दौरान सावधानियां जरूर बरतें।

कौन-सी सावधानियां बरतनी है जरूरी – सूर्य ग्रहण के दौरान कुछ खास सावधानियां बरतनी जरूरी मानी जाती हैं। खासतौर पर प्रेग्नेंट महिलाओं को खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। ग्रहण के बीच सूई, कील, तलवार और चाकू जैसी नुकीली वस्तुओं का इस्तेमाल न करें। ध्यान रखें कि ऐसे में खाना खाना, बनाना, सब्जी काटना, आसमान के नीचे खड़े होना और दीपक जलाकर पूजा आदि करना मना होता है।

ग्रहण के दौरान क्या करना माना जाता है शुभ – सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य देव के मंत्रों का जाप करें। संभव हो तो भगवान विष्णु की उपासना करें। आप चाहें तो आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ भी कर सकते हैं। पीले रंग के वस्त्र पहनें। ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद मंदिर धोकर स्वयं स्नान कर पूजा करें।

Live Blog

Highlights

    02:16 (IST)15 Dec 2020
    कितनी देर का होगा सूर्य ग्रहण

    भारतीय समय के मुताबिक, 14 दिसंबर की रात में सूर्य ग्रहण लगेगा, इसलिए दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे भारत में कहीं भी दिखाई नहीं देगा। ज्योतिषियों के मुताबिक, सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर की शाम 7:03 बजे से शुरू होकर रात 12:23 बजे तक यानी तकरीबन 5 घंटे 20 मिनट तक चलेगा।

    21:32 (IST)14 Dec 2020
    कैसे बन रहा है पंचग्रही योग

    14 दिसंबर को लगने जा रहे सूर्य ग्रहण के दौरान वृश्चिक राशि में 5 ग्रह मौजूद रहेंगे, इसे पंचग्रही योग कहा जा रहा है।

    21:04 (IST)14 Dec 2020
    Sutak Kaal: सूतक काल कब तक चलेगा

    साल के आखिरी सूर्य ग्रहण के सूतक काल का समय 14 दिसंबर, सोमवार यानी आज शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा। ज्योतिष शास्त्र के विद्वानों की मानें तो इस सूर्य ग्रहण के सूतक काल की कुल अवधि लगभग 5 घंटे तक की रहेगी।

    20:31 (IST)14 Dec 2020
    Surya Grahan Today Timings: सूर्य ग्रहण का सूतक काल

    साल के आखिरी सूर्य ग्रहण के सूतक काल का समय 14 दिसंबर, सोमवार यानी आज शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा।

    19:59 (IST)14 Dec 2020
    Surya Grahan 2020 in India Date and Time:

    साल के आखिरी सूर्य ग्रहण के सूतक काल का समय 14 दिसंबर, सोमवार यानी आज शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा।

    19:28 (IST)14 Dec 2020
    Surya Grahan 2020: सूतक कब शुरू होगा

    सूतक काल शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा।

    18:40 (IST)14 Dec 2020
    गर्भवती महिलाएं रखें ध्यान..

    सूर्य ग्रहण के दौरान अपनी गतिविधियों को सही रखना बहुत जरूरी होता है। विशेष तौर पर गर्भवती महिलाओं को इस दौरान अपना ख्याल रखना चाहिए। कहते हैं कि इस अवधि में प्रेग्नेंट महिला अगर कोई भी ऐसी गतिविधि करती है जो ग्रहण के दौरान करना मना है तो इसका दुष्परिणाम गर्भ में पल रहे बच्चे को सहना पड़ता है।

    18:01 (IST)14 Dec 2020
    कौन-सी राशियां हो सकती हैं प्रभावित..

    ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक मेष, कर्क, मिथुन, कन्या, तुला और मकर राशि पर गुरु चंडाल योग का सबसे नकारात्मक असर पड़ सकता है।

    17:31 (IST)14 Dec 2020
    नग्न आंखों से देखना मना...

    ग्रहण के दौरान सावधान रहने की सलाह दी जाती है। कहते हैं कि ग्रहण के दौरान सावधानियां न बरती जाएं तो इसका सीधा असर स्वास्थ्य पर पड़ सकता है। इसलिए यह भी कहा जाता है कि ग्रहण को नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिए।

    17:00 (IST)14 Dec 2020
    कहां दिखेगा सूर्य ग्रहण

    यह ग्रहण दक्षिणी अफ्रीका, अधिकांश दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, अटलांटिक और हिंद महासागर और अंटार्टिका में दिखाई देगा।

    16:15 (IST)14 Dec 2020
    जानें ग्रहण की अवधि

    साल के आखिरी सूर्य ग्रहण के सूतक काल का समय 14 दिसंबर, सोमवार यानी आज शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा। ज्योतिष शास्त्र के विद्वानों की मानें तो इस सूर्य ग्रहण के सूतक काल की कुल अवधि लगभग 5 घंटे तक की रहेगी।

    15:49 (IST)14 Dec 2020
    क्या होता है खंडग्रास सूर्य ग्रहण

    जब पृथ्‍वी व सूर्य के बीच चंद्रमा आ जाता है, तब सूर्यग्रहण लगता है। ग्रहण का मानवी जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। ग्रहण के दौरान सूर्य के आंशिक रूप से ढंक जाने पर खंडग्रास लगता है। 

    15:16 (IST)14 Dec 2020
    इन कार्यों को करने से बचें

    र्य ग्रहण के दौरान कुछ खास सावधानियां बरतनी जरूरी मानी जाती हैं। खासतौर पर प्रेग्नेंट महिलाओं को खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। ग्रहण के बीच सूई, कील, तलवार और चाकू जैसी नुकीली वस्तुओं का इस्तेमाल न करें। ध्यान रखें कि ऐसे में खाना खाना, बनाना, सब्जी काटना, आसमान के नीचे खड़े होना और दीपक जलाकर पूजा आदि करना मना होता है।

    14:42 (IST)14 Dec 2020
    यहां देखें सूर्य ग्रहण का लाइव नजारा

    साल के आखिरी सूर्य ग्रहण को देखने की चाह रखने वाले लोग टेलिस्‍कोप की मदद ले सकते हैं. इसके अलावा आप www.virtualtelescope.eu पर भी वर्चुअल टेलिस्‍कोप की मदद से सूर्य ग्रहण को देख सकते हैं. वहीं यूट्यूब चैनल CosmoSapiens, Slooh पर लाइव भी सूर्य ग्रहण देखने का अच्छा विकल्प हो सकता है.

    13:59 (IST)14 Dec 2020
    ये 6 राशि के लोग रहें सतर्क

    ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, मेष, कर्क, मिथुन, कन्या, तुला और मकर राशि पर गुरु चंडाल योग का सबसे बुरा असर पड़ सकता है. 

    13:28 (IST)14 Dec 2020
    वृश्चिक राशि वाले रखें खास ख्याल

    इस ग्रहण काल के दौरान इस राशि वालों को बहुत सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि ग्रहण इसी राशि में लगेगा. ग्रहण के प्रभाव से इनके मान-सम्मान में कमी आ सकती है और इन लोगों को मानसिक पीड़ा भी उठानी पड़ सकती है. वृश्चिक राशि वालों को इस दौरान सूर्य की आराधना करनी चाहिए

    12:51 (IST)14 Dec 2020
    इन पर अधिक प्रभाव डालता है सूर्य ग्रहण

    सूर्य ग्रहण का प्रभाव देश और दुनिया पर बहुत अधिक पड़ता है। कहते हैं कि सूर्य ग्रह सत्ता, सत्ताधारी और घर के मुखिया को सबसे अधिक प्रभावित करता है।

    12:16 (IST)14 Dec 2020
    ग्रहण में इन कार्यों को करने से कम होता नकारात्मक प्रभाव

    सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य देव के मंत्रों का जाप करें। संभव हो तो भगवान विष्णु की उपासना करें। आप चाहें तो आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ भी कर सकते हैं। पीले रंग के वस्त्र पहनें। ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद मंदिर धोकर स्वयं स्नान कर पूजा करें।

    11:40 (IST)14 Dec 2020
    नहीं होगी किसी चीज की मनाही

    14 दिसंबर को संध्याकाल में लगने वाला ये सूर्य ग्रहण भारत में नजर नहीं आएगा. ऐसे में ग्रहण के दौरान किसी भी तरह के कार्यों पर पाबंदी नहीं होगी.

    11:00 (IST)14 Dec 2020
    जानें सूर्य ग्रहण के प्रकार

    जब चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह से ढक लेता है और सूर्य की किरणें धरती तक नहीं पहुंच पाती, इस घटना को पूर्ण सूर्य ग्रहण कहा जाता है. जब चंद्रमा सूर्य को आंशिक रुप से ढक लेता है तो इस घटना को आंशिक सूर्य ग्रहण कहा जाता है. वहीं जब चंद्रमा सूर्य का मध्य भाग ढक लेता है और सूर्य एक रिंग की तरह नजर आने लगता है तो इस खगोलीय घटना को वलयाकार सूर्य ग्रहण कहते हैं.

    10:39 (IST)14 Dec 2020
    जानिये सूर्य ग्रहण की अवधि

    साल के अंतिम सूर्य ग्रहण का सूतक काल का समय 14 दिसंबर, सोमवार को  शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होगा और रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा। विद्वानों की मानें तो इस ग्रहण के सूतक काल की कुल अवधि करीब 5 घंटे की रहेगी।

    कहते हैं कि सूर्य ग्रहण के सूतक काल का समय बहुत अधिक प्रभावशाली होता है और इस दौरान बहुत अधिक सावधानियां बरतने की जरूरत होती है वरना ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव परेशानियां उत्पन्न कर सकता है। ऐसी मान्यता भी हैं कि सावधानियां न बरतने पर कई जीवन में कई समस्याएं आ सकती हैं।

    10:06 (IST)14 Dec 2020
    ग्रहण के दौरान करें ये काम

    सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य देव के मंत्रों का जाप करें। संभव हो तो भगवान विष्णु की उपासना करें। आप चाहें तो आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ भी कर सकते हैं। पीले रंग के वस्त्र पहनें। ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद मंदिर धोकर स्वयं स्नान कर पूजा करें।

    09:36 (IST)14 Dec 2020
    कब लगता है सूर्य ग्रहण

    वैज्ञानिकों की मानें तो सूर्य ग्रहण तब लगता है जब चंद्रमा पृथ्वी और सूर्य के बीच में आ जाता है। बता दें कि विज्ञान ग्रहण को बहुत अधिक महत्वपूर्ण नहीं मानता है, जबकि ज्योतिष शास्त्र में सूर्य ग्रहण को बहुत प्रभावशाली और परिवर्तनकारी माना जाता है।

    09:08 (IST)14 Dec 2020
    कितने देर का होगा ग्रहण

    करीब पांच घंटे तक के लिए लगने वाला खंडग्रास सूर्य ग्रहण भारतीय समय के अनुसार शाम 7.04 बजे से आरंभ होगा जो कि मध्य रात्रि 12.23 तक रहेगा। 

    21:27 (IST)13 Dec 2020
    किन देशों में दिख सकता है ग्रहण

    साल का आखिरी सूर्य ग्रहण दक्षिणी अफ्रीका, अधिकांश दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, अटलांटिक, हिंद महासागर और अंटार्कटिका में पूर्ण रूप से नजर आएगा।

    20:39 (IST)13 Dec 2020
    गर्भवती महिलाएं रहें सावधान...

    कहते हैं कि इस अवधि में प्रेग्नेंट महिला अगर कोई भी ऐसी गतिविधि करती है जो ग्रहण के दौरान करना मना है तो इसका दुष्परिणाम गर्भ में पल रहे बच्चे को सहना पड़ता है।

    20:05 (IST)13 Dec 2020
    किसे प्रभावित कर सकता है सूर्य ग्रहण...

    सूर्य ग्रहण का प्रभाव देश और दुनिया पर बहुत अधिक पड़ता है। कहते हैं कि सूर्य ग्रह सत्ता, सत्ताधारी और घर के मुखिया को सबसे अधिक प्रभावित करता है।

    19:17 (IST)13 Dec 2020
    एक खगोलीय घटना...

    वैज्ञानिकों के मुताबिक ग्रहण एक सामान्य खगोलीय घटना है, लेकिन ज्योतिष शास्त्र के विद्वानों का मानना है कि सूर्य ग्रहण बहुत अधिक प्रभावशाली और परिवर्तनकारी होता है।

    17:59 (IST)13 Dec 2020
    ग्रहण की सावधानियां...

    कहते हैं कि सूर्य ग्रहण के सूतक काल का समय बहुत अधिक प्रभावशाली होता है और इस दौरान बहुत अधिक सावधानियां बरतने की जरूरत होती है वरना ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव परेशानियां उत्पन्न कर सकता है। ऐसी मान्यता भी हैं कि सावधानियां न बरतने पर कई जीवन में कई समस्याएं आ सकती हैं।

    17:13 (IST)13 Dec 2020
    राशियों पर क्या पड़ेगा प्रभाव

    विद्वानों का मानना है कि सूर्य ग्रहण का प्रभाव सभी राशियों के जातकों पर अलग-अलग पड़ता है। सूर्य ग्रहण के प्रभाव को जानने के लिए इस दिन राशिफल देखा जाता है। बताया जाता है कि राशिफल के माध्यम से सूर्य ग्रहण के प्रभाव को समझा जा सकता है।

    16:42 (IST)13 Dec 2020
    गर्भवती महिलाएं रखें खास ख्याल

    सूर्य ग्रहण की समयावधि में गर्भवती महिलाओं को विशेष ध्यान रखना चाहिए। कहा जाता है कि ग्रहण का सबसे ज्यादा असर गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ता है।

    15:21 (IST)13 Dec 2020
    सूतक के समय क्यों बरतें सावधानी

    कहते हैं कि सूर्य ग्रहण के सूतक काल का समय बहुत अधिक प्रभावशाली होता है और इस दौरान बहुत अधिक सावधानियां बरतने की जरूरत होती है वरना ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव परेशानियां उत्पन्न कर सकता है। ऐसी मान्यता भी हैं कि सावधानियां न बरतने पर कई जीवन में कई समस्याएं आ सकती हैं।

    14:34 (IST)13 Dec 2020
    इन 6 राशि के जातकों को रहना होगा सतर्क

    ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, मेष, कर्क, मिथुन, कन्या, तुला और मकर राशि पर गुरु चंडाल योग का सबसे बुरा असर पड़ सकता है. 

    13:56 (IST)13 Dec 2020
    गुरु चंडाल योग है खतरनाक

    सूर्य ग्रहण के दौरान इस बार गुरु चंडाल योग बनेगा. राहु और गुरु के एक ही स्थान पर बैठने से गुरु चंडाल योग (Guru chandal yog) बनता है.

    13:20 (IST)13 Dec 2020
    साल 2021 में कब होगा सूर्य ग्रहण

    अगले वर्ष 2021 में दो सूर्य ग्रहण पड़ेंगे। पहला 10 जून व दूसरा 4 दिसंबर 2021 को होगा। 

    12:50 (IST)13 Dec 2020
    ग्रहण का प्रभाव इन जगहों पर पड़ेगा

    ग्रहण का असर प्रशांत महासागर, हिंद महासागर, दक्षिणी अफ्रीका, दक्षिणी अमेरिका, अटलांटिक और अंटार्कटिका में पड़ेगा। 

    12:11 (IST)13 Dec 2020
    क्या होगी ग्रहण की समयावधि

    करीब पांच घंटे तक के लिए लगने वाला खंडग्रास सूर्य ग्रहण भारतीय समय के अनुसार शाम 7.04 बजे से आरंभ होगा जो कि मध्य रात्रि 12.23 तक रहेगा। 

    11:35 (IST)13 Dec 2020
    गुरु चंडाल योग ग्रहण को बना रहा खतरनाक

    सूर्य ग्रहण के दौरान एक खतरनाक योग का भी निर्माण हो रहा है. इस योग को गुरु चंडाल योग कहते हैं. यह योग जन्म कुंडली में तब बनाता है जब गुरु के साथ राहु एक ही स्थान में बैठ जाए. वहीं जब दोनों ग्रह कुंडली के अलग-अलग भाव में बैठकर एक-दूसरे को पूर्ण दृष्टि से देखें तो भी गुरु चंडाल योग का निर्माण होता है. इस समय गुरु शनि के साथ मकर राशि और राहु वृष राशि में विराजमान है.

    11:04 (IST)13 Dec 2020
    भगवान की मूर्तियों को न छूएं

    ग्रहण काल में भगवान की मूर्तियों को न तो छूना चाहिए और न ही पूजा पाठ करना चाहिए। ग्रहण का सूतक काल लगते ही कई मंदिर के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं।

    10:39 (IST)13 Dec 2020
    क्यों कहा जाता है खंडग्रास ग्रहण

    ग्रहण काल में सूर्य आंशिक रूप से ढका हुआ रहेगा। इस कारण इसे खंडग्रास सूर्यग्रहण माना जाएगा। 

    10:14 (IST)13 Dec 2020
    कल लगेगा खंडग्रास ग्रहण

    इस साल का आखिरी सूर्यग्रहण सोमवार, 14 दिसंबर को लग रहा है। यह ग्रहण खंडग्रास होगा। अपने देश भारत में यह सूर्यग्रहण नहीं दिखेगा। 

    09:45 (IST)13 Dec 2020
    भारत में इसलिए नहीं होगा प्रभावी

    सोमवार को लगने वाला ग्रहण साल का आखिरी सूर्य ग्रहण है। जानकारों की मानें तो यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। क्योंकि यह ग्रहण तब लगेगा जब भारत में सूर्यास्त हो चुका होगा। इसलिए यह उन क्षेत्रों में दिखेगा जहां इस दौरान सूर्योदय रहेगा। 

    09:14 (IST)13 Dec 2020
    क्यों प्रभावशाली माना जाता है ग्रहण

    बताया जाता है कि सूर्य ग्रहण का प्रभाव देश और दुनिया पर बहुत अधिक पड़ता है। कहते हैं कि सूर्य ग्रह सत्ता, सत्ताधारी और घर के मुखिया को सबसे अधिक प्रभावित करता है। इसलिए सूर्य ग्रहण को बहुत प्रभावशाली माना जाता है। विद्वानों का मानना है कि सूर्य ग्रहण का प्रभाव सभी राशियों के जातकों पर अलग-अलग पड़ता है। 

    08:56 (IST)13 Dec 2020
    सोमवती अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण

    साल के अंतिम सूर्य ग्रहण को इसलिए खास माना जा रहा है क्योंकि इस दिन सोमवती अमावस्या है 

    Next Stories
    1 Horoscope Today, 13 December 2020: वृष राशि के लोगों को हो सकती है धन की प्राप्ति, मिथुन राशि के जातक बढ़ाएं सामाजिक मेलजोल
    2 क्या होता है खर मास? जानें
    3 अमावस्या के दिन इन उपायों को करने से पितृ दोष से मुक्ति मिलने की है मान्यता, जानिए
    ये पढ़ा क्या?
    X